जल्द शुरू होगा चक गंजरिया कैंसर संस्थान मरीजों को मिलेगी राहत

  • कई चरणों में शुरू होंगी सेवाएं, 101 एकड़ क्षेत्र में फैला है संस्थान
  • एक हजार होंगे बेड, नई तकनीकी से होगा मरीजों का इलाज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जल्द ही कैंसर मरीजों को इलाज में बड़ी राहत मिलेगी। सरकार ने फरवरी से सुपर स्पेशियलिटी इंस्टीट्यूट शुरू करने का निर्देश जारी किया है। यह भी दावा किया गया है कि ऑर्गन बेस्ड कैंसर ट्रीटमेंट में यह उत्तर भारत का इकलौता संस्थान होगा।
चक गंजरिया स्थित कैंसर संस्थान के संचालन पर शासन ने नयी रणनीति बनाई है। इसे जल्द शुरू किया जाना है। इसके लिए 20 फरवरी की तारीख तय की गई है। निदेशक डॉ. शालीन कुमार ने बताया कि संस्थान की सुविधाएं चरणबद्ध तरीके से शुरू की जाएंगी। पहले चरण में ओपीडी, डे केयर सर्विस, रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी, पैथोलॉजी, रेडियोलॉजी, फार्मेसी और इमरजेंसी की सेवाओं का संचालन किया जाएगा। इसके बाद स्टाफ और डॉक्टर की नियुक्ति के साथ ही सेवाओं का दायरा बढ़ाया जाएगा। संस्थान के उद्घाटन के लिए मुख्यमंत्री और चिकित्सा शिक्षा मंत्री से समय मांगा गया है। गौरतलब है कि कैंसर संस्थान का परिसर 101 एकड़ में है। इसकी लागत एक हजार करोड़ तय की गई है। कुल एक हजार बेड होंगे। प्रथम चरण में 35 एकड़ पर भवनों का निर्माण हो रहा है। इसमें 500 बेड की इनडोर बिल्डिंग समेत 11 भवनों का निर्माण अंतिम दौर में है। वहीं, द्वितीय चरण में शेष भूमि पर विभागों का विस्तार किया जाएगा।

लीनेक-सीटी स्कैन मशीनों से लैस संस्थान में 64 स्लाइस की सीटी स्कैन मशीन लग चुकी हंै। वहीं, रेडियोथेरेपी की लीनेक मशीन भी इंस्टॉल हो गई है। साथ ही चार एक्स-रे मोबाइल यूनिट हैं। इसमें एक मोबाइल मशीन ओपीडी, एक ओटी, एक इमरजेंसी व एक रेडियोलॉजी में होगी। मोबाइल मशीन से मरीज का बेड साइड एक्स-रे हो सकेगा।

तीन ऑपरेशन थियेटर

शुरुआत में डे केयर और इनडोर दोनों मिलाकर 56 बेड होंगे। यहां मरीजों की कीमोथेरेपी होगी। सर्जरी व रेडियोथेरेपी के मरीजों के भी बेड होंगे। तीन ऑपरेशन थियेटर भी शुरू होंगे। शुरुआत में मेजर ऑपरेशन नहीं होंगे।

250 रुपये होगा पंजीकरण शुल्क

कैंसर संस्थान में पीजीआई की दर पर इलाज मिलेगा। मरीजों का पंजीकरण शुल्क 250 रुपये होगा। यह एक वर्ष तक वैध रहेगा। पैथोलॉजी, रेडियोलॉजी, इनडोर व ऑपरेशन की दरें भी समान होंगी।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.