शहरों की खूबसूरती में चार चांद लगाने की तैयारी, पर्यावरण संरक्षण पर भी फोकस

  • सडक़ों के किनारे लगाए जाएंगे खूबसूरत फूलों वाले पौधे
  • पर्यावरण को दुरुस्त करने वाले पेड़ भी लगाए जाएंगे
  • वन विभाग संभालेगा कमान, ग्रामीण क्षेत्रों पर भी नजर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार तमाम शहरों की खूबसूरती में चार चांद लगाने की तैयारी कर रही है। इसके तहत सडक़ों के किनारे न केवल खूबसूरत फूलों के पेड़ लगाए जाएंगे बल्कि पर्यावरण को संरक्षित करने वाले पौधों का भी रोपण किया जाएगा। वहीं ग्रामीण इलाकों में ऐसे पेड़ लगाने की योजना है जिनसे लकड़ी मिल सके। इसकी कमान वन विभाग संभालेगा।
वन विभाग पौधारोपण अभियान में अब ऐसा प्रबंधन कर रहा है जिससे प्रदेश के तमाम शहरों की खूबसूरती बढ़ सके और हरियाली दिखाई दे। पौधारोपण के जरिये इन शहरों को हरा-भरा बनाया जाएगा। योजना के मुताबिक गुलमोहर, अमलतास, जकरंडा, मौलश्री, कचनार, बोगनबेलिया जैसे सुंदर फूलों के पौधों का रोपण सडक़ों के किनारे किया जाएगा। इसके अलावा पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर पीपल, बरगद, पाकड़, अशोक, इमली, नीम, शीशम के पौधे भी लगाए जाएंगे। पौधों को लगाने का चयन इस प्रकार किया जा रहा है ताकि जब इन पेड़ों पर फूल आएं तो राहगीरों को दूर से ही दिखाई दें। वहीं, ग्रामीण इलाकों में ऐसे पौधे लगेंगे जिससे किसानों की न सिर्फ आमदनी बढ़े बल्कि उन्हें चारा व जलाने की लकड़ी मिल सके। इसके लिए सहजन, अगस्त, बबूल व खैर जैसे पौधे चिह्नित किए गए हैं। इन पौधों की पत्तियां पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। इसका प्रयोग पशुओं के चारे में किया जा सकेगा। इसके अलावा आमदनी बढ़ाने के लिए पापलर, यूकेलिप्टस, सागौन, शीशम, बबूल, कदम्ब, के पौधों का चयन किया गया है। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के प्रमुख सचिव सुधीर गर्ग ने बताया कि इस बार शहरों में एक सडक़ पर एक ही प्रजाति के पौधे लगाए जाएंगे। इससे न सिर्फ खूबसूरती बढ़ेगी बल्कि पौधों का प्रबंधन भी बेहतर ढंग से किया जा सकेगा। इसके लिए विभाग के अफसरों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

ये बनेंगे मॉडल

18 शहरों को मॉडल बनाने का निर्णय लिया गया है। इनमें लखनऊ, कानपुर, आगरा, अलीगढ़, आजमगढ़, प्रयागराज, गोरखपुर, चित्रकूट, झांसी, गोण्डा, अयोध्या, बरेली, बस्ती, मीरजापुर, मुरादाबाद, मेरठ, वाराणसी व सहारनपुर शामिल हैं।

लगाए जाएंगे फलदार पौधे

फलदार पौधे शहरों के बाहर लगाए जाएंगे। सार्वजनिक स्थानों पर जहां यह पौधे लगे होते हैं वहां फल आने पर इनमें बच्चे पत्थर मारते हैं, इससे राहगीरों को चोट लग सकती है। ऐसे में इन पौधों को शहर के बाहर लगाने की योजना है। इसके तहत वन विभाग आम, अमरूद, आंवला, बेल, बेर, कटहल, जामुन आदि के पौधे लगाएगा।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.