सीएए के मुद्दे पर दुष्प्रचार करने में जुटीं विपक्षी पार्टियां: योगी

  • सरकार की लाभकारी योजनाओं के बारे में जनता को दी जानकारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में भाजपा की गोरखपुर क्षेत्र की रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, सीएए के मुद्दे पर दुष्प्रचार के जरिए कांग्रेस और विपक्ष देश का चीरहरण कर रहे हैं। कांगे्रस के लिए यह मौका 1947 के बंटवारे के पापों का परिमार्जन करने का था लेकिन वह यह मौका भी चूक गई। उसका और विपक्ष का रवैया अत्यंत गैरजिम्मेदाराना है जिसे देश का कोई भी नागरिक स्वीकार नहीं करेगा।
मुख्यमंत्री ने नागरिकों से प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड लिख सीएए, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म करने, तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाने और राममंदिर निर्माण के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए उन्हें धन्यवाद देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने एनडीए सरकार के पहले पांच साल देश के गरीब, शोषित, वंचितों के लिए समर्पित किए। हर गरीब के सिर पर छत, हर रसोई में गैस, हर घर तक बिजली और हर गरीब को पांच लाख रूपए के इलाज की आयुष्मान योजना का लाभ सहित गरीबों के लिए चलाई गईं तमाम कल्याणकारी योजनाएं प्रधानमंत्री के पहले कार्यकाल की उपलब्धियां हैं। जनता ने उनके काम को समर्थन देते हुए दूसरा कार्यकाल दिया तो प्रधानमंत्री ने सदियों से दबी भावनाओं को सम्मान देने का काम किया। धारा 370 की समाप्ति, तीन तलाक के खिलाफ कानून, राममंदिर इन्हीं भावनाओं को सम्मान देने की प्रक्रिया है। सीएए इसकी चौथी कड़ी है। उन्होंने जनता से वर्तमान परिदृश्य को मूकदर्शक बनकर न देखने का आह्वान करते हुए द्रौपदी के चीरहरण के समय विदुर के संवाद की कथा सुनाई और कहा कि तिहाई पाप, अपराध करने वालों, तिहाई पाप उसमें सहयोग करने वालों का होता है तो तिहाई पाप अपराध को मूकदर्शक बनकर देखने वालों का भी होता है। लेकिन इतनी ठंड होने के बावजूद रैली में उपस्थित जनता ने साबित कर दिया है कि वो अब मूकदर्शक नहीं बने रहना चाहती है।

उन्होंने कहा कि, सीएए के मुद्दे पर दुष्प्रचार के जरिए कांग्रेस और विपक्ष देश का चीरहरण कर रहे हैं। कांगे्रस के लिए यह मौका 1947 के बंटवारे के पापों का परिमार्जन करने का था लेकिन वह यह मौका भी चूक गई।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.