नागरिकता संशोधन कानून: विरोध की धार को कुंद करने अब मैदान में उतरेंगे भाजपा के दिग्गज

  • प्रदेश में रैलियां कर लोगों को करेंगे जागरूक
  • कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने की कवायद शुरू
  • लखनऊ से गोरखपुर तक पहुंचेंगे पार्टी के शीर्ष नेता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विपक्ष के विरोध की धार को कुंद करने के लिए अब भाजपा के दिग्गज नेता पूरे प्रदेश में रैलियां कर लोगों को जागरूक करेंगे। राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में पार्टी के शीर्ष नेता रैलियां करेंगे। इसके लिए कार्यकर्ताओं को भी सक्रिय करने की कवायद तेज कर दी गई है।
नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विपक्ष के विरोध की पोल खोलने के लिए भाजपा के शीर्ष नेता उत्तर प्रदेश में रैलियां करने जा रहे हैं। इसकी तैयारियां तेज कर दी गई हैं। पार्टी नेतृत्व ने क्षेत्रीय अध्यक्षों के साथ ही प्रभारियों की बैठकें लेकर कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने का निर्देश दिया है। प्रदेश के छह क्षेत्रों में प्रस्तावित दिग्गज नेताओं की रैली को सफल बनाने के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह लखनऊ में, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा आगरा में जबकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मेरठ में रैली करेंगे। इसके साथ गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रैली करेंगे। इन रैलियों के इसी महीने होने की संभावना है। पार्टी के पदाधिकारियों का मानना है कि जिलों की पद यात्राओं में जिस तरह जनसैलाब उमड़ा है। उससे रैलियों का ऐतिहासिक होना तय है।

चलाया जा रहा है अभियान

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके जरिए सीएए का विरोध कर रहे विपक्षी दलों की साजिश के बारे में लोगों को जानकारी दी जा रही है। नागरिकता कानून को लेकर सरकार पीछे नहीं हटेगी। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भाजपा अब शरणार्थियों की बस्तियों में अभियान चला रही है। इसके तहत मेरठ जिले के हस्तिनापुर में बंगाली बस्ती से अभियान की शुरुआत कर दी गई है।

पहले भी पार्टी ने किया था जनजागरण

इसके पहले भाजपा ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के लिए जन समर्थन जुटाने के लिए प्रदेश में सात से 14 जनवरी तक जनजागरण अभियान चलाया था। इसके तहत पार्टी ने 52 लाख परिवारों से संपर्क साधने का दावा किया है। इस दौरान चले पदयात्रा व गोष्ठी के अभियान में पार्टी पदाधिकारी, सांसद, विधायक व जनप्रतिनिधि जनता के बीच में पहुंचे। साथ ही पार्टी के मोर्चे व प्रकोष्ठों ने भी सामाजिक संपर्क के तहत विभिन्न वर्गों व श्रेणियों में सीएए पर चर्चा की और सहमति प्राप्त की।

केंद्र को भेजी गई शरणार्थियों की सूची

योगी सरकार की ओर से शरणार्थियों की लिस्ट केंद्र सरकार को भेज दी गई है। इस लिस्ट में 19 जिलों के शरणार्थियों की सूचना है। इनमें आगरा, रायबरेली, गोरखपुर, अलीगढ़, रामपुर, मुजफ्फरनगर, हापुड़, मथुरा, कानपुर, प्रतापगढ़, वाराणसी, अमेठी, झांसी, बहराइच, लखीमपुर खीरी, लखनऊ, मेरठ और पीलीभीत शामिल हैं।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.