वेद मंत्रों के बीच रखी गई विश्वनाथ कारिडोर निर्माण की पहली ईंट

  • मंदिर विस्तारीकरण व सुंदरीकरण परियोजना का दूसरा चरण शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
वाराणसी। सूर्यदेव के उत्तरायण होने के साथ श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण-सुंदरीकरण परियोजना के दूसरे चरण का शुभारंभ हो गया। मकर संक्रांति पर बुधवार को शुभ मुहूर्त में अहमदाबाद की निर्माण कंपनी पीएसपी प्रोजेक्ट्स कारिडोर क्षेत्र में इसका शुभारंभ किया। वैदिक ब्राह्मïïणों द्वारा सस्वर मंत्रों के बीच मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह ने अमृतेश्वर महादेव मंदिर के पास पहली ईंट रखी। कारिडोर निर्माण के लिए 18 माह का लक्ष्य रखा गया है।
परियोजना के दूसरे चरण में निर्माण कार्यों के लिए भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ मार्च 2019 को कर चुके हैैं। बीते 27 दिसंबर को निविदा में पीएसपी प्रोजेक्ट्स को न्यूनतम दर के आधार पर कार्य दिया गया था। हालांकि निर्माण के लिए शासन से स्वीकृत बजट 318.67 करोड़ रुपये से 20 करोड़ रुपये अधिक न्यूनतम निविदा आने पर 339 करोड़ की हाल में फिर से स्वीकृति कराई गई। ऐसे में वर्क आर्डर के लिए संशोधित शासनादेश का इंतजार किया जा रहा है। मुहूर्त देखते हुए कंपनी ने पूजन की औपचारिकता पूरी कर ली। मशीनें भी अहमदाबाद से आने लगी हैैं। पहले चरण में 283 भवनों की खरीद लगभग 398 करोड़ रुपये की लागत से की जा चुकी है। कार्यदायी एजेंसी पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता एसके अग्रवाल ने बताया कि दो दिन में संशोधित शासनादेश आ जाएगा। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर से गंगा तट तक 50 हजार वर्ग मीटर में बन रहे कारिडोर का निर्माण चार चरणों में होगा। मंदिर सीईओ विशाल सिंह के अनुसार प्रथम चरण में मंदिर परिसर, दूसरे में गंगा छोर और तीसरे में ललिता घाट, जलासेन और चौथे में मणिकर्णिका का सुंदरीकरण किया जाएगा।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.