सीएए पर मीटिंग से पहले विपक्षी एकता में फूट

ममता, माया के बाद ‘आप’ और शिवसेना ने भी मीटिंग में भाग लेने से किया इनकार
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विपक्षी पार्टियों को एक मंच पर लाने की यूपीए की कवायद फेल होती दिख रही है। यहां आज सीएए और एनआरसी को लेकर होने वाली मीटिंग से पूर्व ही विपक्षी दलों की एकता में फूट पडऩे लगी है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मीटिंग में शामिल नहीं होने की बात कही है। वहीं, आम आदमी पार्टी और शिवसेना ने भी इस बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। जिसकी वजह से कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है।
कांग्रेस के नेतृत्व में बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, द्रविड़ मुनेत्र कडग़म, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, लेफ्ट, राष्ट्रीय जनता दल, समाजवादी पार्टी समेत कई पार्टियां शामिल होंगी। पार्लियामेंट एनेक्सी में दोपहर बाद ये मीटिंग होगी। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह के अलावा राहुल गांधी भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में समान विचारधारा वाली विपक्षी पार्टियों को सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा के लिए बुलाया गया है। बैठक में नागरिकता कानून को लागू होने से रोकने के लिए रणनीति पर भी विचार किया जाएगा। इसके अलावा विपक्ष मोदी सरकार को संसद के आगामी बजट सत्र के दौरान घेरने की कोशिशों पर भी बात करेगा। विपक्षी दलों की इस बैठक के बाद कांग्रेस इस जनसंपर्क अभियान की पूरी रूपरेखा भी पेश कर सकती है।

ममता ने कांग्रेस पर लगाये गंभीर आरोप
नई दिल्ली (4पीएम न्यूज नेटवर्क)। ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और वाम दल गंदी राजनीति कर रहे हैं। इसलिए अब वह अपने दम पर सीएए और एनआरसी का विरोध करेंगी। शायद इसीलिए वाम दलों की तरफ से सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर बुलाये गये देशव्यापी बंद का पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने विरोध किया था। माना जा रहा है कि वाम दलों के इस रवैये से ममता बनर्जी नाराज हो गई हैं। उन्होंने वाम दलों, कांग्रेस और अन्य दलों से दूरी बना ली है। हालांकि, कांग्रेस नेता जयराम रमेश का कहना है कि बनर्जी को विपक्ष की बैठक में आने का न्यौता दिया गया था, लेकिन आना, नहीं आना उन पर निर्भर करता है।

बसपा प्रमुख मीटिंग में नहीं भेजेंगी प्रतिनिधि
नई दिल्ली(4पीएम न्यूज नेटवर्क)। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्विटर के माध्यम से स्पष्ट संदेश दिया है कि कांग्रेस भरोसेमंद पार्टी नहीं है। क्योंकि कांग्रेस ने राजस्थान सरकार में बाहर से समर्थन मिलने के बाद भी बसपा के नेताओं को तोडक़र अपनी पार्टी में मिला लिया था। इसलिए कांग्रेस के साथ बसपा के मदभेद बहुत अधिक बढ़ गये हैं। परिणामस्वरूप बसपा सीएए और एनआरसी को लेकर आयोजित बैठक में अपना प्रतिनिधि नहीं भेजेगी। इसी प्रकार आम आदमी पार्टी (आप)ने भी अपने ऑफिशियल अकाउंट से विपक्ष की सीएए और एनआरसी को लेकर आयोजित मीटिंग में शामिल नहीं होने की बात कही है। ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने हैं। इसलिए आप ने ये फैसला लिया है।

योगी सरकार ने केंद्र को भेजी 40 हजार शरणार्थियों की लिस्ट
सीएए पर अमल करने की दिशा में उठाया ठोस कदम
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सबसे पहले अमल करना शुरू कर दिया है। सरकार की तरफ से पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आकर रह रहे शरणार्थियों की लिस्ट केंद्र सरकार को भेज दी गई है। इस लिस्ट में 19 जिलों के करीब 40 हजार शरणार्थियों की सूचना है। इनमें आगरा, रायबरेली, गोरखपुर, अलीगढ़, रामपुर, मुजफ्फरनगर, हापुड़, मथुरा, कानपुर, प्रतापगढ़, वाराणसी, अमेठी, झांसी, बहराइच, लखीमपुर खीरी, लखनऊ, मेरठ और पीलीभीत शामिल हैं।
जानकारी के अनुसार इस लिस्ट में पीलीभीत, लखीमपुर खीरी और मेरठ में सबसे ज़्यादा शरणार्थी होने की बात सामने आई है। इस मामले में पीलीभीत के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव का कहना है कि पीलीभीत में 35 हजार से अधिक लोगों को चिन्हित किया गया है। जिन्हें नागरिकता दी जानी है। हमने सर्वे कराया है।
बता दें पिछले दिनों प्रमुख सचिव गृह ने जिलाधिकारियों को शरणार्थियों के संदर्भ में रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए थे। इसी के परिणामस्वरूप शरणार्थियों की रिपोर्ट तैयार की गई है।

आगरा एक्सप्रेस-वे पर पलटी वॉल्वो बस, दो की मौत, अठारह घायल
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
आगरा। घने कोहरे की वजह से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आज सुबह एक वॉल्वो बस पलट गई। फतेहाबाद थाना क्षेत्र में हुई इस दुर्घटना में दो यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 18 अन्य घायल हो गए हैं। हादसे की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में एडमिट कराया है। इसके साथ ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारी राहत और बचाव कार्य में जुट गये हैं।
यूपी परिवहन निगम के एमडी राजशेखर ने वॉल्वो बस पलटने और हादसे में दो लोगों की मौत होने की घटना का त्वरित संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही अधिकारियों की एक टीम को मौके पर भेजकर हालातों का जायजा लेकर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा एआरएम, आरएम को अस्पताल में घायलों से मुलाकात कर हरसंभव मदद दिए जाने के आदेश दिए हैं। राजशेखर के मुताबिक हादसा सुबह साढ़ सात बजे हुआ। उन्होंने बताया कि एक ट्रक का टायर बस्र्ट होने के बाद वह एक्सप्रेस-वे पर खड़ा था। घने कोहरे की वजह से बस के ड्राइवर को वह नहीं दिखा। अचानक ट्रक को देखकर ड्राइवर ने बस मोड़ी तो वह खाई में जा गिरी।

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने गरीबों और जरूरतमंदों को बांटे कंबल
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ (4पीएम न्यूज नेटवर्क)। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने आज इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया लखनऊ में एडम फ्री मॉल का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने गरीबों और जरूरतमंदों को कंबल बांटे। वहीं मौलाना खालिद रसीद फरंगी महली ने जिलाधिकारी का स्वागत किया।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.