गांजे का कारोबार रोकने पर की गयी थी अधिवक्ता शिशिर की हत्या

तो क्या नशा, सेक्स और सट््टे का बाजार बन गया है लखनऊ

नाका और चारबाग में खुलेआम चल रहा नशा और देह व्यापार
लखनऊ में धड़ल्ले से चल रहे सट््टे का स्ट्रिंग हुआ उजागर तो छोटे पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करके दबा दिया गया मामला
पुलिस अपराधियों को पकडऩे की जगह अवैध वसूली में जुटी भाजपा सांसद तक ने कहा वसूली में जुटी है पुलिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुस्कुराइए कि आप लखनऊ में हैं, यह लाइन अब पुरानी लगने लगी है। लखनऊ के हालातों को देखते हुए कुछ दिनों में कहा जाएगा कि मुस्कुराइए कि आप नशे, सेक्स और सट्टे के बाजार में हैं। हालात इतने बदतर हो गए है कि नशे के कारोबार का विरोध करने पर कल एक अधिवक्ता शिशिर त्रिपाठी की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। भाजपा सांसद कौशल किशोर तक ने लखनऊ पुलिस की वसूली पर सवाल उठाए हैं तो विपक्ष ने कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर सवाल खड़ा किया है।
लखनऊ के नाका और चारबाग इलाके में पिछले कई महीनों से देह व्यापार और नशे के कारोबार ने पैर पसार लिए हैं। पुलिस कर्मियों के संरक्षण में इस कारोबार को चलाने वालों के हौसले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। चारबाग रेलवे स्टेशन के पास सबकी आंखों के सामने यह कारोबार चलता रहता है मगर पुलिस को यह दिखाई नहीं पड़ता है। हकीकत यह है कि पुलिस को इस अवैध कारोबार से रोज लाखों रुपये की कमाई होती है।
बीत सप्ताह नवभारत टाइम्स ने लखनऊ में हो रहे सट्टे का स्टिंग ऑपरेशन किया था जिससे यह साबित हो गया था कि लखनऊ में सट्टा बाजार से लाखों रुपये रोज पुलिस के पास जाते हैं। पोल खुलने के बाद कुछ छोटे पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया जबकि हकीकत यह है कि यहां से लाखों रुपया बहुत ऊपर तक पहुंचता है। जाहिर है ऐसी स्थिति में नशा, सेक्स और सट्टा बाजार संचालकों को कोई खौफ नहीं है। हैरानी की बात यह है कि इस मामले पर न तो पुलिस के आला अधिकारी न ही नौकरशाही कोई ठोस कार्रवाई करती नजर आ रही है।

पुलिस के नकारात्मक रवैये के चलते लखनऊ में अपराध निरंकुश हो चुके हैं। हत्या और लूट का सिलसिला बदस्तूर जारी है।
कौशल किशोर, भाजपा सांसद

लखनऊ में अधिवक्ता शिशिर त्रिपाठी की हत्या कर दी गई। क्या प्रदेश अपराधियों के हाथ में है? भाजपा सरकार कानून व्यवस्था के बारे में पूरी तरह फेल है।
प्रियंका गांधी, कांग्रेस महासचिव

 

पुलिस की गोली से हुईं मौतें: अखिलेश
कानपुर में सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन में मारे गए लोगों के परिजनों से की मुलाकात
प्रदेश सरकार पर साधा निशाना, सपा प्रमुख से मिलने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
कानपुर। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज कानपुर पहुंचे। यहां उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान सभी लोगों की मौतें पुलिस की गोली से हुई हैं। सीएम ने पुलिस से गोली चलवाई थी। सरकार पीडि़तों को मुआवजा दे।
सपा प्रमुख ने मृतक रईस के परिजनों से मुलाकात की। इसके बाद वे अन्य दोनों मृतकों के परिजनों से मिलें। अखिलेश के दौरे को लेकर कानपुर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। वहीं बाबूपुरवा में अखिलेश से मिलने के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी। गौरतलब है कि 20 दिसंबर को जुमे की नमाज के बाद बाबूपुरवा में हिंसा हुई थी, जिसमें तीन लोगों (मोहम्मद सैफ, आफताब आलम और रईस खान) की मौत हो गई थी जबकि 10 लोग घायल हो गए थे। मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम जांच कर रही है।

सीएए के खिलाफ अब विपक्ष ने शुरू की गांधी यात्रा
मुंबई से चलकर तीस जनवरी को पहुंचेगी दिल्ली
यात्रा के जरिए कई मुद्दों पर सरकार को घेरेगा विपक्ष
4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विपक्ष का विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब विपक्ष ने इसके विरोध में मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया से गांधी यात्रा की शुरूआत की है।
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में विपक्ष ‘गांधी यात्रा’ निकाल रहा है। इस यात्रा में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा और पृथ्वीराज चौहान जैसे कई नेता शामिल हुए हैं। इस यात्रा को संबोधित करते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा है कि हम एक बार फिर से महात्मा गांधी की हत्या नहीं होने देंगे। सीएए और एनआरसी के विरोध में हो रही इस गांधी यात्रा को मुम्बई के गेटवे ऑफ इंडिया से हरी झंडी दिखाई गई। यह यात्रा 21 दिन की होगी। तीस जनवरी को ये यात्रा दिल्ली के राजघाट पर समाप्त होगी। इस यात्रा के जरिए किसान के मुद्दों को उठाया जाएगा। साथ ही अर्थव्यवस्था पर भी सवाल उठाए जाएंगे।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.