मंडप में होगा विवाह पंजीकरण, बिन बुलाए पहुंचेंगे सरकारी मेहमान

  • ट्रिपल पी के तहत बनी सरकार की टीम करेगी पंजीकरण
  • सभी औपचारिकताएं पूरी कर नव दंपति को दिया जाएगा प्रमाणपत्र
  • अधिकतर लोगों द्वारा पंजीकरण नहीं कराने पर सरकार ने उठाया कदम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अब शादी के मंडप में ही विवाह पंजीकरण हो सकेगा। सरकार ने इसकी कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत ट्रिपल पी की टीम तैयार की गई है। यह शादी समारोह में बिन बुलाए मेहमान की तरह पहुंचेगी और मौके पर ही पंजीकरण करेगी। प्रदेश के सभी शहरों में ये टीमें काम करेंगी।
उत्तर प्रदेश में विवाह पंजीकरण के लिए केंद्र सरकार ने महिला कल्याण विभाग द्वारा अगस्त 2017 से नियम लागू किया है। इसीक्रम में प्रदेश सरकार ने भी सभी धर्मों के लोगों के लिए राज्य विवाह पंजीकरण अनिवार्य किया है। इसका मूल उद्देश्य बाल विवाह रोकने, पति की मृत्यु पर पत्नी को उत्तराधिकार का दावा मजबूत बनाने, पति से महिलाओं को भरण पोषण का अधिकार और बहुविवाह पर अंकुश लगाने का है। अगस्त 2017 से लागू विवाह पंजीकरण को लेकर अब सरकार ने गंभीरता दिखाई है। वैसे तो ऑनलाइन विवाह पंजीकरण कराने की सुविधा है लेकिन अधिकतर लोग शादी के बाद पंजीकरण नहीं करा रहे हैं। निबंधन राज्यमंत्री रविंद्र जायसवाल ने बताया कि विदेश यात्रा से लेकर कई जगह पर शादी का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य हो गया है इसलिए अब ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि शादी स्थल पर तुरंत पंजीकरण कर दिया जाए। इसके लिए एक टीम समारोह में पहुंचेगी और विवाह के पंजीकरण की सभी औपचारिकताएं पूरी कराएगी। इसके बाद नव दंपती को विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी करेगी। यह काम पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में किया जाएगा।

यहां भी कर सकते हैं आवेदन

उत्तर प्रदेश में विवाह का रजिस्ट्रेशन हिंदू विवाह अधिनियम 1955 या विशेष विवाह अधिनियम 1954 के तहत होता है। इसके लिए उप्र सरकार की आधिकारिक वेबसाइट द्बद्दह्म्ह्यह्वश्च.द्दश1.द्बठ्ठ पर पंजीकरण कराया जा सकता है। शादी का पंजीकरण होने के बाद यूपी विवाह पंजीकरण विभाग द्वारा शादी का प्रमाण पत्र निर्गत किया जाता है। यह प्रमाण पत्र ही आपकी शादी के लिए वैध माना जाएगा।

जरूरी दस्तावेज

ड्ड आवेदक को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में आवेदन भरना होगा।
ड्ड दूल्हे की आयु 21 और दुल्हन की उम्र 18 साल से कम नहीं होनी चाहिये।
ड्ड पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, आयु प्रमाण पत्र आदि।
ड्ड पता के लिए राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट या पैन कार्ड की कॉपी।
ड्ड विवाह पंजीकरण के लिए दो गवाह भी देने होंगे।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.