गन्ना मूल्य का भुगतान तत्काल कराने की कोशिश में जुटी सरकार: सुरेश राणा

  • कहा, 76,943.02 करोड़ का कराया गया रिकार्ड गन्ना मूल्य भुगतान

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा ने गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर किए जा रहे हंगामे पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने गन्ना मूल्य का रिकार्ड भुगतान किया है। इसके साथ ही प्रदेश में गन्ना एवं चीनी आयुक्त स्तर से गन्ना मूल्य के भुगतान का दैनिक अनुश्रवण किया जा रहा है।
सुरेश राणा के मुताबिक प्रदेश की वर्तमान सरकार द्वारा 76,943.02 करोड़ का रिकार्ड गन्ना मूल्य भुगतान किसानों को कराया जा चुका है। इसमें पेराई सत्र 2018-19 का 30,161 करोड़ रुपये का भुगतान भी शामिल है। साथ ही वर्तमान पेराई सत्र 2019-20 का भी 673.05 करोड़ का गन्ना मूल्य भुगतान भी कृषकों को किया जा चुका है। इसी प्रकार गन्ना आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि बकायेदार चीनी मिलों का सम्पूर्ण गन्ना मूल्य का भुगतान तत्काल कराने के लिए अधिकारियों को दैनिक स्तर पर अनुश्रवण करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही भुगतान में उदासीनता बरतने वाली लापरवाह मिलों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के निर्देश हैं। उन्होंने बताया कि बार-बार निर्देशों के बावजूद गन्ना मूल्य भुगतान में उदासीन रहने वाली चीनी मिलों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर विधिक कार्रवाई करने के साथ ही वसूली प्रमाण-पत्र (आरसी) जारी करने की प्रक्रिया अमल में लाई जा रही है। गन्ना मंत्री ने बताया कि 25 वर्षों में पहली बार प्रदेश में खाण्डसारी इकाइयों के 101 नए लाइसेंस जारी किए गए हैं। सरकार द्वारा गन्ना किसानों के हित में किए गए प्रयासों से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो रहा है और गन्ना किसान खुशहाली और समृद्धि की ओर अग्रसर हैं।

किसानों को फसल का सही दाम दिलाए सरकार: प्रियंका

  • गन्ना की फसल का मूल्य नहीं बढ़ाए जाने पर दी कड़ी प्रतिक्रिया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने गन्ना मूल्य एक रुपया भी नहीं बढ़ाने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए लिखा है कि खाद का मूल्य दो गुना हो गया, बिजली का बिल बढ़ गया, मजदूरी बढ़ गई, किसानों की लागत बढ़ती जा रही है, लेकिन उनकी फसलों का दाम नहीं बढ़ रहा है। कांग्रेस महासचिव ने गन्ना किसानों की हालत पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रदेश के गन्ना किसानों का अभी तक हजारों करोड़ रुपये बकाया है। कुछ ऐसी ही हालत धान के किसानों की भी है। उनकी भी खेती की लागत बढ़ गई है, लेकिन उचित बिक्री मूल्य नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया है कि प्रदेश का किसान संकट में है। उसे उसकी फसल की लागत भी नहीं मिल पा रही है। किसानों के दर्द और संघर्ष को समझते हुए सरकार का कर्तव्य है कि उन्हें फसलों का सही दाम दिलाया जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस दिशा में सार्थक कदम उठाने के लिए कहा है।

योगी सरकार में हुआ गन्ने का रिकार्ड भुगतान: चंद्रमोहन

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि गन्ना किसानों के समयबद्ध भुगतान पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विशेष फोकस है। प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद से अब तक लगभग 76 हजार करोड़ रुपए का भुगतान गन्ना किसानों को हुआ है, जो आजादी के बाद किसी भी राज्य का सबसे बड़ा भुगतान है। इतना तो देश के कई राज्यों का कुल बजट भी नहीं है। मार्च, 2017 में यूपी में भाजपा सरकार बनने से पहले गन्ना किसानों का लगातार गन्ने की खेती के प्रति रुझान घट रहा था। लेकिन अब किसानों की रुचि गन्ना की खेती में बढ़ रही है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.