प्रदूषण और कुपोषण से मिलकर लड़ेंगे कानपुर-सिंगापुर

  • जल्द होगा एमओयू, छात्र मिलकर करेंगे शोध

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
कानपुर। प्रदूषण व कुपोषण के खिलाफ सीएसजेएमयू और सिंगापुर मिलकर लडेंग़े। सिंगापुर की एनयूएस और सीएसजेएमयू के छात्र मिलकर शोध करेंगे और टेक्नोलॉजी के जरिए इससे निपटने का हल निकालेंगे। यह बात सीएसजेएमयू की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने कही।
उन्होंने कहा कि इसके लिए जल्द एनयूएस के साथ एमओयू किया जाएगा और नए शोध शुरू होंगे। नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर (एनयूएस) के स्कूल ऑफ मेडिसिन संकाय के सदस्य डॉ. रूपेश अग्रवाल, मेडिकल ऑफिसर डॉ. रेबेको ने एमबीबीएस के आधा दर्जन छात्रों के साथ छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) का भ्रमण किया। सिंगापुर से आए मेडिकल छात्र हेल्थ साइंसेस विभाग पहुंचे और यहां की सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने हेल्थ साइंसेस के छात्रों के साथ शिक्षकों से भी विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की। विभाग के कोआर्डिनेटर डॉ. प्रवीण कटियार ने बताया कि सिंगापुर से शिक्षक व छात्रों की टीम कम्युनिटी प्रोजेक्ट के संबंध में कानपुर आए हैं। उन्होंने विवि की कुलपति से भेंट कर मेडिकल क्षेत्र में चल रहे कार्यों के बारे में जानकारी ली। कुलपति ने बताया कि विवि प्रदूषण (जल व वायु) और नेत्र रोग को लेकर काम कर रहा है। लंबी वार्ता के बाद सिंगापुर की टीम ने विवि के साथ प्रदूषण, कुपोषण, हाईजीन और टीकाकरण को लेकर साथ में काम करने की इच्छा जाहिर की। जल्द दोनों संस्थानों के बीच एमओयू होने के बाद भविष्य में समाज की इन बड़ी समस्याओं को लेकर शोध शुरू होगा। इस मौके पर डॉ. अवध दुबे, डॉ. गौरव दुबे, डॉ. वर्षा प्रसाद, डॉ. भारती दीक्षित के अलावा सिंगापुर के टिंग यू चुंग, हेंग हुई, यिलांग जेंग, शरेन, शहाना, ब्रायन वेंग आदि मौजूद रहे।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.