विषमताओं की उपज है व्यंग्य: सुधीर मिश्र

  • नवभारत टाइम्स के संपादक सुधीर मिश्र के व्यंग्य संग्रह हाइब्रिड नेता का विमोचन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठïान में आयोजित एक समारोह में नवभारत टाइम्स के संपादक सुधीर मिश्र के व्यंग्य संग्रह हाइब्रिड नेता का विमोचन हुआ। इस मौके पर साहित्यकारों ने पुस्तक पर चर्चा की। इसमें लेखक के साथ फिल्म अभिनेता अतुल तिवारी और दास्तानगो हिमांशु वाजपेयी ने भी चर्चा की।
सुधीर मिश्र ने कहा कि यह किताब उनके 25 वर्षों के पत्रकारीय जीवन के अनुभवों पर आधारित है। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि समाज के हर तबके में ऐसे लोगों की भरमार है जो अपना काम करने के सिवाय सब कुछ करते हैं। व्यंग्य को उन्होंने ऐसी ही विषमताओं की उपज बताया।
उन्होंने कहा कि आप आसानी से देख सकते हैं कि किस तरह नेता विचार और सिद्धांतों की धज्जियां उड़ाते हैं। इंजीनियर ठेकेदार ऐसे हैं जो ऐसी सडक़ें बनाते हैं जो सडक़ में गड्ढा है या गड्ढे में सडक़ इसका अनुमान नहीं होने देते। रचना की प्रशंसा करते हुए प्रसिद्ध व्यंग्यकार गोपाल चतुर्वेदी ने कहा कि व्यंग्य तात्कालिक विषय पर होने के बावजूद कालजयी बन जाए, इसके लिए एक खास तरह की मौलिक सोच, विचारधारा और सहजता की जरूरत होती है।
पुस्तक पर चर्चा करते हुए अतुल तिवारी ने कहा कि सुधीर मिश्र के लेखन में इतनी बेबाकी है कि उन्होंने किसी भी पेशे को नहीं बख्शा। इसमें मीडिया भी शामिल है। आम लोगों की भी खूब खिंचाई की गई है। उन्होंने इसके लिए नवभारत टाइम्स अखबार की भी तारीफ की कि जहां शरद जोशी से लेकर सुधीर मिश्र तक तीखे व्यंग्य लिखने वालों को प्रोत्साहन देने की परंपरा है। दूसरी ओर हिमांशु मिश्र से चर्चा के दौरान यह भी साफ हुआ कि सुधीर मिश्र की व्यंग्यात्मक भाषा के लिए चौक, चौपटिया और लखनऊ का परिवेश भी जिम्मेदार है।
पुस्तक विमोचन में प्रोफेसर सूर्यकांत, प्रोफेसर संदीप कुमार, रंगकर्मी सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ, लेखिका मधु चतुर्वेदी, दैनिक जागरण के स्थानीय संपादक सदगुरू शरण अवस्थी और वरिष्ठ अधिवक्ता जयदीप माथुर मौजूद रहे।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.