रेप पीडि़ता की मौत के बाद अखिलेश बैठे विधान सभा के बाहर धरने पर तो मचा हडक़ंप, प्रियंका पहुंचीं उन्नाव

  • उन्नाव की बेटी की मौत पर गम और गुस्से का माहौल, विपक्ष ने योगी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा
  • सपा प्रमुख ने रखा दो मिनट का मौन, बोले सरकार है दोषी
  • पीडि़ता की मौत से परिवार सदमे में
  • कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय के बाहर किया प्रदर्शन, लाठीचार्ज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। उन्नाव रेप पीडि़ता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत के बाद पूरे देश में गम और गुस्से का माहौल है। महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को लेकर विपक्ष ने योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पीडि़ता की मौत के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव आज विधान सभा के बाहर धरने पर बैठ गए और दो मिनट का मौन रखा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा परिजनों से मिलने पहुंची है। कांग्रेसियों ने भाजपा कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया है।
धरने पर बैठे अखिलेश यादव ने कहा कि उन्नाव की घटना बहुत दुखद है। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। इस सरकार में न बेटियां सुरक्षित हैं न उनका सम्मान सुरक्षित है। क्या यही भाजपा का नारा था। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री, डीजीपी और होम सेक्रेटरी के हटे बिना कानून व्यवस्था स्थापित नहीं हो सकती है। इतनी दुखद निंदनीय घटना कहीं नहीं हुई होगी। पहले पूरा देश हैदराबाद की घटना को लेकर गुस्से में था, उसके बाद उन्नाव की घटना उसी तरीके से हुई। ऐसी घटना भाजपा सरकार में पहली नहीं है। इसके पहले भी सरकार से न्याय मांगने वाले लोगों की हत्या की गई है। इस घटना के लिए सरकार दोषी है। वहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने पीडि़ता के परिजनों से मुलाकात की। इसके पहले उन्होंने ट्वीट कर पूछा, उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार ने पीडि़ता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका एफआइआर दर्ज करने से मना किया उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज-रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है? उन्होंने ट्रवीट किया, मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीडि़ता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे। यह हम सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं लेकिन ये उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था को भी दिखाता है। परिजनों से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसी घटनाओं को गंभीरता से लेना होगा। बता दें कि पीडि़त युवती जिंदगी की जंग हार गई और शुक्रवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया था।

फास्ट ट्रैक कोर्ट से दिलाएंगे सजा: योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीडि़ता की मौत पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यह घटना बहुत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मामले में सभी आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हंै। सरकार इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर आरोपियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने का प्रयास करेगी।

न्याय दिलाए यूपी सरकार: मायावती
बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया, जिस उन्नाव दुष्कर्म पीडि़ता को जलाकर मारने की कोशिश की गई, उसकी मौत अति कष्टदायक है। इस दुख की घड़ी में बसपा पीडि़त परिवार के साथ है। यूपी सरकार पीडि़त परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे, यही इंसाफ का तकाजा व जनता की मांग है।

जलाने के लिए कुछ बचा नहीं: पीडि़ता का भाई
जिंदगी की जंग हार गई पीडि़ता के भाई ने अपनी बहन को लेकर दिल को झकझोर देने वाली बात कही। पीडि़ता के भाई ने अपनी बहन के लिए न्याय की मांग करते हुए कहा कि आरोपियों का भी वही हश्र होना चाहिए जो उसकी बहन ने झेला। अंतिम संस्कार को लेकर उन्होंने कहा कि अब उसमें जलाने लायक कुछ भी बचा नहीं है, हम शव को दफनाएंगे।

दौड़ाकर मारो आरोपियों को: पीडि़ता के पिता
पीडि़ता के पिता ने सरकार से इंसाफ की गुहार लगाते हुए कहा कि जिस तरह हैदराबाद कांड के आरोपियों को मारा गया ऐसे ही हमारी बेटी के दरिंदों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा जाना चाहिए या फांसी दी जानी चाहिए। आरोपियों को सजा मिलने के बाद बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।रेप की घटना के बाद से प्रधान के घर से परिवार को जान से
मारने की धमकी मिलती रही।

’मुझे जलाने वालों को छोडऩा मत‘
90 प्रतिशत से भी ज्यादा जल चुकी उन्नाव की पीडि़ता ने आखिरी वक्त तक भी हार नहीं मानी थी। अस्पताल में जब तक वो होश में रही, कहती रही- मैं बच तो जाऊंगी, मुझे जलाने वालों को छोडऩा मत। फिर वह बेहोश हो गई, डॉक्टरों ने उसे होश में लाने की पूरी कोशिश की, उसे वेंटिलेटर पर रखा लेकिन वो बच न सकी। न्याय की जंग लड़ते-लड़ते एक और निर्भया जिंदगी की जंग हार गई।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.