भारी पड़ गया गोडसे को देशभक्त कहना, प्रज्ञा ठाकुर हटाई गईं रक्षा मंत्रालय की कमेटी से

  • संसदीय समिति ने की कार्रवाई लोकसभा में प्रज्ञा ने दिया था विवादित बयान
  • भाजपा संसदीय दल की बैठकों में भी नहीं आने का सुनाया गया फरमान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। राष्टï्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताना भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को भारी पड़ गया। प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी से हटा दिया गया है। उन्हें कुछ दिन पहले इस कमेटी में जगह दी गई थी। इसके अलावा भाजपा ने प्रज्ञा के बयान की निंदा की है। संसद में चल रही कार्यवाही के दौरान प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था।
नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने के बाद भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर मुश्किल में फंस गई हैं। संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने उनको रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटा दिया है। इसके अलावा उन्हें भाजपा संसदीय दल की बैठकों में नहीं आने का फरमान भी सुनाया गया है। लोकसभा में भाजपा सदस्य प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को तब एक टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया जब डीएमके सांसद ए राजा अदालत के समक्ष नाथूराम गोडसे द्वारा दिए गए उस बयान को उद्धृत कर रहे थे कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा। इस पर प्रज्ञा ने एतराज जताते हुए गोडसे को एक बार फिर देशभक्त बताया। राजा ने कहा था कि गोडसे ने स्वीकार किया था कि गांधी की हत्या का फैसला करने से पहले 32 सालों तक उसके मन में गांधी के प्रति द्वेष पनप रहा था। राजा ने कहा था कि गोडसे ने गांधी को मारा, क्योंकि वह एक खास विचारधारा में विश्वास रखता था। बाद में विधेयक पर चर्चा के दौरान कांग्रेस के गौरव गोगोई ने भी ठाकुर की टिप्पणी पर कड़ा ऐतराज जताते हुए मांग की थी कि उन्हें इसके लिये माफी मांगनी चाहिए। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान भी ठाकुर ने गोडसे को देशभक्त करार दिया था, जिसकी वजह से विवाद हुआ था। बाद में उन्होंने अपने बयान के लिये माफी मांग ली थी। उस समय पीएम मोदी को कहना पड़ा था कि वह प्रज्ञा को कभी दिल से माफ नहीं कर पाएंगे।

प्रज्ञा ने दी सफाई
प्रज्ञा ठाकुर ने सफाई देते हुए ट्वीट किया, कभी-कभी झूठ का बवंडर इतना गहरा होता है कि दिन में भी रात लगने लगती है किन्तु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता। पलभर के बवंडर में लोग भ्रमित न हों। सूर्य का प्रकाश स्थाई है। सत्य यही है कि कल मैंने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस।

लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, वॉकआउट
नई दिल्ली। आज लोकसभा में जैसे ही प्रश्न काल शुरू हुआ, कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल प्रज्ञा के बयान पर हंगामा करने लगे। विपक्षी दलों की मांग थी कि प्रज्ञा के बयान पर चर्चा हो लेकिन स्पीकर ने इसे ठुकरा दिया। इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गोडसे को देशभक्त कहे जाने की उनकी पार्टी निंदा करती है लेकिन असंतुष्ट विपक्षी दल सदन से वॉकआउट कर गए। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि महात्मा गांधी की हत्या करने वालों को देशभक्त बताया जा रहा है। यह सरकार नाथूराम गोडसेपंथी है। वहीं संसद भवन के बाहर कांग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने प्रदर्शन किया तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

सांसद प्रज्ञा ठाकुर का बयान निंदनीय है। भाजपा ऐसी विचारधारा का समर्थन नहीं करती। हमने उनको रक्षा मामलों की संसदीय समिति से हटाने का फैसला किया है। इस सत्र के दौरान संसदीय दल की बैठक में वे हिस्सा नहीं ले सकेंगी।
जेपी नड्ड, कार्यकारी अध्यक्ष भाजपा

आतंकी प्रज्ञा ने आतंकी गोडसे को बताया देशभक्त। यह भारतीय संसद के इतिहास का सबसे दुखद दिन है।
राहुल गांधी, पूर्व अध्यक्ष, कांग्रेस

 

अखिलेश से मिले मुख्तार के बड़े भाई, सियासत गर्म

  • अंसारी बंधुओं का है पूर्वांचल में दबदबा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी की राजनीति में एक बड़ा बदलाव जल्द देखने को मिल सकता है। मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सिबाकतुल्लाह अंसारी ने आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव से पार्टी कार्यालय में मुलाकात की। हालांकि दोनों नेताओं के बीच क्या बात हुई, इसकी जानकारी नहीं हुई लेकिन इस मुलाकात से सियासत गर्म हो गई है।
सिबाकतुल्लाह अंसारी आज अपने पुत्र मन्नू अंसारी के साथ सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई। सिबाकतुल्लाह अंसारी को अंसारी परिवार का चाणक्य कहा जाता है। जो भी राजनैतिक फैसला होता है वह सिबाकतुल्लाह ही लेते हैं। ये मुलाकात चर्चा का विषय इसलिए भी बन गई है क्योंकि खुद मुख्तार अंसारी बसपा से विधायक और उनके भाई अफजाल अंसारी सांसद हैं। गौरतलब है कि अंसारी बंधुओं का पूर्वांचल में खासा दबदबा है। यदि किसी पार्टी को यूपी की सत्ता पानी है तो उसको पूर्वांचल पर मजबूत पकड़ बनानी पड़ती है।

बीट पुलिसिंग के बिना अपराध रोकना संभव नहीं: किरण बेदी

  • पुदुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर ने ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस का किया शुभारंभ
  • कुंभ के आयोजन और अयोध्या फैसले पर पुलिस की मुश्तैदी को सराहा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पुदुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर किरण बेदी ने पुलिस विकास व अनुसंधान ब्यूरो की ओर से आयोजित 47वीं ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस का शुभारंभ करते हुए पुलिस के आलाधिकारियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि देश में बीट पुलिसिंग की सख्त जरूरत है। यह पुलिसिंग की रीढ़ है। बीट पुलिसिंग से हमको हर व्यक्ति की जानकारी होती है। हर इलाके में बीट बॉक्स या बूथ होना चाहिये। जहां बीट पुलिसमैन बैठता हो। जनता की मदद से हम बीट बॉक्स या बूथ बनाएं। बीट पुलिसिंग का कोई विकल्प नहीं है। बीट पुलिसिंग के बगैर अपराध रोकना संभव नहीं है।
उन्होंने कहा कि बीट पुलिसिंग में मार्निंग रोल कॉल में अफसरों को जाना चाहिए। वीआईपी मूवमेंट के दौरान भी बीट पुलिसिंग को नहीं छेडऩा चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ भी शाम की फुट पेट्रोलिंग पर जोर देते हैं, जो बहुत जरूरी है। हर पुलिसकर्मी को अपनी वर्दी को मंदिर मानना चाहिए। यूपी पुलिस सराहनीय कार्य करती है। कुम्भ आयोजन और अयोध्या मामले में शानदार काम और उपलब्धि के लिए यूपी पुलिस को बधाई देती हूं।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.