संक्षिप्त खबरें

भाजपा नेता सूर्य नरायण बने गोंडा के नए जिलाध्यक्ष
गोंडा (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)। भाजपा ने अपने 59 जिलों के जिलाध्यक्षों के चयन की घोषणा बुधवार को की। गोंडा से वरिष्ठ नेता व अवध क्षेत्र के क्षेत्रीय महामंत्री सूर्य नरायण तिवारी को पार्टी का नया जिलाध्यक्ष बनाया गया है। श्री तिवारी इसके पहले पार्टी के कार्यवाहक जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। वरिष्ठ नेता को जिलाध्यक्ष बनाए जाने पर भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने प्रसन्नता जताई है। जिलाध्यक्ष के तौर पर घोषणा होते ही उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया है।

शव मिलने से सनसनी, जांच में जुटी पुलिस
गोंडा (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)। करनैलगंज कस्बे में बुधवार को एक युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने बताया कि बुधवार को करनैलगंज कस्बा स्थित ग्रामीण बैंक के बगल एक युवक का शव पड़ा मिला। मौके पर मौजूद लोगों ने युवक की पहचान चिनकन वारसी निवासी सकरौर थाना कोतवाली करनैलगंज के रूप में की है।

नकलविहीन परीक्षा कराने के निर्देश
गोंडा (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)। जिलाधिकारी डा. नितिन बंसल ने दिसम्बर माह में सम्भावित टीईटी परीक्षा व बोर्ड परीक्षा को निष्पक्ष,पारदर्शी एवं नकलविहीन कराने के लिए केन्द्र निर्धारण को लेकर बुधवार को अधिकारियों के साथ बैठक की। जिलाधिकारी ने डीआईओएस को निर्देश दिया कि प्रस्तावित परीक्षा केन्द्रों का पहले ही निरीक्षण कर लें। बोर्ड परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण में मानक का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने चारोंं तहसीलों के उपजिलाधिकारियों से दो दिन के अन्दर परीक्षा केन्द्रों के प्रत्यावेेदनों पर जांच रिपोर्ट मांगी है। गौरतलब है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा इस वर्ष यूपी बोर्ड परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए जिले में 114 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। बैठक में अपर जिलाधिकारी रत्नाकर मिश्र, सिटी मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, एसडीएम सदर वीर बहादुर यादव, करनैलगंज ज्ञानचन्द्र गुप्ता, मनकापुर आरके वर्मा तथा तरबगंज राजेश कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

डॉ. एके त्रिपाठी ने ग्रहण किया पीजीआई के निदेशक पद का कार्यभार
लखनऊ (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क।)। लोहिया संस्थान के निदेशक डॉ. एके त्रिपाठी को पीजीआई का निदेशक बनाया गया है। उन्होंने कार्यभार ग्रहण कर लिया है। निदेशक डॉ. राकेश कपूर से उन्हें पद की जिम्मेदारी सौपी। डॉ. एके त्रिपाठी ने पहली मार्च 2019 को लोहिया संस्थान के निदेशक पद की जिम्मेदारी ग्रहण की थी। इससे पहले वह केजीएमयू हीमेटोलॉजी विभाग के अध्यक्ष पद पर तैनात थे। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की तरफ से बुधवार को आदेश जारी किया गया था। वह तीन माह, नियमित निदेशक की नियुक्ति या फिर अग्रिम आदेशों तक निदेशक के दायित्वों का निर्वहन करेंगे। वही पूर्व निदेशक डॉ. राकेश कपूर का कार्यकाल 19 नवम्बर 2019 को खत्म हो गया था। इससे पहले 18 नवम्बर को डॉ. कपूर का कार्यकाल तीन माह या फिर नए निदेशक की तैनाती तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.