जिला पंचायत में गोलमाल, खुलासे से मचा हडक़ंप

  • बिना कार्ययोजना खर्च कर दिए 29.65 करोड़
  • चहेती फर्मों को लाभ पहुंचाने के लिए 33.78 लाख की फाइन भी छोड़ी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। वित्तीय वर्ष 2010- 15 के बीच जिला पंचायत समेत जिले की तीन क्षेत्र पंचायतों में तेरहवें वित्त आयोग के पैसे को खर्च करने में जमकर भ्रष्टाचार किया गया। इसके खुलासे से हडक़ंप मच गया है।
जिला पंचायत ने विकास कार्यों की कार्ययोजना तैयार किए बगैर ही 29.65 करोड़ की धनराशि वित्तीय नियमों का उल्लंघन करते हुए मनमाने तरीके से खर्च कर दी। इन ग्राम पंचायतों ने बगैर कोटेशन या निविदा के 1.69 करोड़ रुपये की सामग्री खुले बाजार से खरीद ली और उसका भुगतान कर दिया। इसी तरह क्षेत्र पंचायत कटरा बाजार, परसपुर व बेलसर की 19 ग्राम पंचायतों ने नियमों की अनदेखी कर 2.18 करोड़ रुपये खर्च कर दिए। इन तीनों क्षेत्र पंचायतों में बगैर कोटेशन या निविदा आमंत्रित किए 72.34 लाख रुपये की सामग्री खुले बाजार से खरीदकर उसका भुगतान ले लिया गया। इन खर्चों के अभिलेख नहीं प्रस्तुत किए जा सके। आडिट रिपोर्ट में इस घपले का खुलासा हुआ है।

जिला पंचायत ने 346 नई सडक़ों के निर्माण पर खपाई धनराशि, मरम्मत व अनुरक्षण को किया नजरअंदाज
महालेखाकार की आडिट रिपोर्ट के मुताबिक जिला पंचायत ने तेरहवें वित्त आयोग की तरफ से आवंटित की गई 29.65 करोड़ रुपये की धनराशि में से 29.24 करोड़ रुपये को 346 नई सडक़ों के निर्माण पर खर्च कर दिया जबकि पुराने कार्यों के अनुरक्षण व मरम्मत को नजरअंदाज कर दिया गया। मरम्मत के नाम पर महज 41 लाख रुपये खर्च दिखाया गया।

इन पर जांच का शिकंजा
आडिट रिपोर्ट के खुलासे के बाद कटरा बाजार की बरुई गोंदहा, चरेरा, गौरवाकला, कोटिया मदारा, नदवा, रायपुर फकीर, तिलका परसपुर की अभईपुर, भौरीगंज, कड़रू, मधईपुर खांडेराय, परसपुर, सरैया चौबे तथा बेलसर की ऐली परसौली, हरषापुर, मरगूबपुर, व सिधौटी समेत 19 ग्राम पंचायतों पर जांच का शिकंजा कस गया है। जिला विकास अधिकारी रजत यादव ने खंड विकास अधिकारियों को नोटिस देकर अभिलेख तलब किए हैं।

क्षेत्र पंचायतों ने भी किया खेल
कटरा बाजार, बेलसर व परसपुर की क्षेत्र पंचायतों ने भी खेल किया। तकनीकी स्वीकृति लिए बिना ही 37.39 लाख का काम पूरा दिखा दिया। पारदर्शिता व गुणवत्ता को दरकिनार कर बिना टेंडर या कोटेशन लिए 22.47 लाख का भुगतान दिखा दिया लेकिन आडिट के दौरान भुगतान से संबंधित अभिलेख नहीं मिला। बीडीओ आवास के मरम्मत के नाम पर कटरा बाजार में 11.11 लाख व बेलसर में 1.37 लाख रुपये निकाल लिए गए।

खपाया 2.18 करोड़
तेरह वित्त आयोग की धनराशि को खर्च करने में तीनों क्षेत्र पंचायतों खूब दरियादिली दिखाई। अपने क्षेत्र की ग्राम पंचायतों पर भी मनमाने तरीके से धनराशि लुटाई गई और चयनित 19 ग्राम पंचायतों में 2.18 करोड़ रुपये खपा दिए गए। बगैर वार्षिक कार्ययोजना के जल आपूर्ति, कचरा प्रबंधन, साफ सफाई व मार्ग प्रकाश की व्यवस्था के नाम पर 1.69 करोड़ रुपये साफ कर दिए गए।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.