करतारपुर कॉरिडोर और पाकिस्तान के मंसूबे

सवाल यह है कि उद्घाटन से ठीक पहले जारी इस वीडियो के संकेत क्या हैं? क्या पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर के जरिए आतंकियों की घुसपैठ कराकर भारत को अशांत करना चाहता है? क्या करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं के भीतर वह अभी से अलगाववाद की भावना भरने की कोशिश कर रहा है? क्या वह खालिस्तानी आतंकियों के जरिए पंजाब में खूनी खेल खेलना चाहता है?

Sanjay Sharma

पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। कश्मीर मामले में मुंह की खाने के बाद अब उसके हुक्मरान करतारपुर कॉरिडोर के जरिए भारत में अलगाववाद को हवा देने की साजिश रच रहे हैं। इसकी पुष्टिï कॉरिडोर के उद्घाटन से ठीक पहले पाकिस्तान द्वारा जारी एक वीडियो सॉन्ग भी कर रहा है। इसमें ऑपरेशन ब्लू स्टार में मारे गये जरनैल सिंह भिंडरावाले व शाहबेग समेत तीन खालिस्तानी आतंकियों की तस्वीरें लगाई गई हैं। वीडियो में प्रतिबंधित खालिस्तानी समर्थक समूह ‘सिख फॉर जस्टिस का एक पोस्टर भी है। सवाल यह है कि उद्घाटन से ठीक पहले जारी इस वीडियो के संकेत क्या हैं? क्या पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर के जरिए आतंकियों की घुसपैठ कराकर भारत को अशांत करना चाहता है? क्या करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं के भीतर वह अभी से अलगाववाद की भावना भरने की कोशिश कर रहा है? क्या वह खालिस्तानी आतंकियों के जरिए पंजाब में खूनी खेल खेलना चाहता है? पाकिस्तान स्थित पंजाब में आतंकी कैंप की मौजूदगी का क्या मतलब है? क्या भारत को सतर्क रहने की जरूरत है?
कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंध बेहद खराब हो चुके हैं। सीमा पर रोज गोलीबारी हो रही है। इसी बीच करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को पीएम मोदी करेंगे। इसके साथ ही श्रद्धालुओं का एक जत्था करतारपुर गुरुद्वारे के दर्शन के लिए रवाना होगा। यहां गुरु नानक देव ने अपनी जीवन के अंतिम वर्ष बिताए थे। ऐसी स्थिति में पाकिस्तान द्वारा जारी वीडियो किसी बड़ी साजिश की ओर इशारा कर रहा है। दरअसल, भारत सरकार बीस साल से करतारपुर कॉरिडोर खोलने की मांग करता आ रहा है लेकिन एक साल पहले इसे लेकर पाकिस्तानी सेना ने जिस तरह की दिलचस्पी दिखायी उससे भी शक गहराया है। पाकिस्तानी सेना इसके जरिए धार्मिक भावनाओं को भडक़ाना चाह रहा है। पाकिस्तानी पंजाब के नारोवाल जिले में आतंकी सक्रिय हैं। यह कॉरिडोर भारतीय पंजाब के गुरुदासपुर जिले में स्थित डेरा नानक साहिब को करतारपुर गुरुद्वारे से जोड़ेगा। हकीकत यह है कि करतारपुर कॉरिडोर के रास्ते खालिस्तानी आतंक को हवा देने की योजना पाकिस्तानी सेना ने काफी पहले बना ली थी। साथ ही इस कॉरिडोर के जरिए वह भारत में आतंकियों की घुसपैठ कराना चाहती है। दूसरी ओर इसके जरिए पाकिस्तान खुद को शांति पसंद देश के तौर पर भी विश्व को दिखाना चाहता है। ऐसे में बेहद सतर्क और सुरक्षा को मुश्तैद रखने की जरूरत है। इतिहास गवाह है कि पाकिस्तान पर भरोसा करना बेहद खतरनाक साबित हुआ है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.