मेदांता खुलने से चिकित्सा सुविधा के क्षेत्र में बढ़ेगी प्रतिस्पर्धा: मुख्यमंत्री योगी

  • कहा, हम स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर करने की दिशा में कर रहे काम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को शहीद पथ स्थित मेदांता अस्पताल का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मेदांता के आने से शहर में चिकित्सा सुविधा के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, जो अच्छा संकेत है। सीएम ने कहा कि लखनऊ में पहले से ही केजीएमयू, एसजीपीजीआई और राम मनोहर लोहिया जैसे बेहतर चिकित्सा संस्थान हैं। मेदांता के आने से स्वास्थ्य सेवाएं और बेहतर होंगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी में यूपी ही नहीं, नेपाल और बिहार तक के लोग इलाज करवाने आते हैं। पहले से मौजूद चिकित्सा संस्थानों पर दबाव काफी ज्यादा है। ऐसे में अब इस अस्पताल के आने से उनपर भी दबाव कुछ कम होगा। सीएम ने कहा कि हम स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की दिशा में काम कर रहे हैं। 2016 तक यूपी में केवल 12 मेडिकल कॉलेज संचालित थे। जबकि हमने महज ढाई साल में सात मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई शुरू करवाई है और बाकी बन रहे हैं। योगी ने कहा कि मैं तो बीमार नहीं हुआ, लेकिन जब मेरे गुरुजी बीमार हुए तो उनका इलाज मेदांता के प्रवीन चंद्रा ने किया। व्यावसायिकता के युग में मरीजों की सेवा से ही डॉक्टर अपना विश्वास बनाए रख सकते हैं। वहीं, डॉ. नरेश त्रेहन ने कहा कि मैंने यहां आकर अपना खुद से किया हुआ वादा पूरा किया है, जो मैंने केजीएमयू में पढ़ाई के दौरान किया था। इस अस्पताल के खुलने से करीब छह हजार लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलेगा। उम्मीद है कि हम जनता की सेवा के अपने प्रयासों को आगे बढ़ाएंगे।

आयुष्मान योजना से जोडऩे की योजना

मेदांता के संस्थापक डॉ. नरेश त्रेहान ने कहा कि इस अस्पताल में 1000 बेड, 34 ऑपरेशन कक्ष, 250 से अधिक क्रिटिकल केयर बेड समेत कई आधुनिक मशीनों की सुविधा होगी। जहां मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज किया जाएगा। मेदांता को आयुष्मान भारत योजना से भी जोड़ा जाएगा , ताकि गरीब तबके के लोगों को भी इलाज मिल सके। पीजीआई, केजीएमयू और लोहिया संस्थान छोडक़र डॉक्टरों के मेदांता आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार के अनुमति के बिना किसी सरकारी अस्पताल या संस्थान के डॉक्टर की भर्ती नहीं की जाएगी।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.