चिन्मयानंद मामले में जेपीएस राठौर के भाई का नाम सामने आने से भाजपा में भूचाल

  • तो क्या चिन्मयानंद को निपटाने की योजना तैयार की थी भाजपा के कुछ बड़े नेताओं ने
  • जेपीएस राठौर और वित्त मंत्री सुरेश खन्ना के चिन्मयानंद से अनबन के किस्से शाहजहांपुर में बने चर्चा का विषय
  • जेपीएस राठौर के भाई डीपीएस राठौर का लैपटॉप किया एसआईटी ने जब्त
  • दो बड़े नेताओं का नाम जांच में सामने आने के बाद चर्चा गर्म कि साजिश में कुछ और बड़े नेता भी शामिल
  • चिन्मयानंद के बहाने कहीं और निशाना लगाने की कोशिश

 मुजाहिद जैदी
लखनऊ। चिन्मयानंद मामले में आए नए मोड़ ने भाजपा में सनसनी फैला दी है। एसआईटी ने भाजपा उपाध्यक्ष के छोटे भाई डीपीएस राठौर के पास से वह पेन ड्राइव बरामद कर ली है जिसमें कुछ अश्लील क्लिप मौजूद हैं। इस कांड में जेपीएस राठौर का नाम सामने आने के बाद भाजपा में सत्ता के शिखर पर चल रहे संघर्षों को नई हवा मिल गई है। शाहजहांपुर में चिन्मयानंद और वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अनबन जगजाहिर है। अब जब यह बात सामने आई कि चिन्मयानंद के बढ़ते कद को रोकने के लिए इन बड़े नेताओं ने इस पेन ड्राइव को पीडि़त छात्रा से हासिल किया तो यह बात शीशे की तरह साफ हो गई कि चिन्मयानंद के बहाने कहीं और निशाना लगाने की कोशिशें की जा रही थीं।
शुरूआती दौर में ही जब यह मामला सामने आया था तो लोगों को इस बात की हैरानी हुई थी कि चिन्मयानंद जैसे बड़े रसूख के नेता के खिलाफ एक मामूली सी छात्रा इस तरह बगावत कैसे कर सकती है। सुप्रीम कोर्ट में इस छात्रा के पक्ष में दर्जन भर बड़े अधिवक्ताओं के खड़े होने से तब भी यह बात चर्चा हुई कि आखिर वह ताकतवर शख्स कौन है जो इन वकीलों का पेमेंट कर रहा है।
छात्रा के लगातार होटल में रहने और घूमने पर भी यह सवाल सामने आए कि क्या छात्रा को इस तरह मुखर होने के लिए कुछ ताकतवर लोग उकसा रहे हैं। बाद में जब छात्रा को पुलिस ने बरामद कर लिया और पूछताछ की तो उसने स्वीकार किया कि उसकी पेन ड्राइव भाजपा के एक नेता ने छीन ली थी। अब जब यह पेन ड्राइव जेपीएस राठौर के भाई के पास से बरामद हो गई है तो यह बात साफ हो गई कि इस पूरे मामले में भाजपा के बड़े नेता शामिल थे जो इस मामले को तूल देना चाह रहे थे। जाहिर है कि अगर इस साजिश का पर्दाफाश हो गया तो पार्टी में बहुत बड़ा भूचाल आ जायेगा।

थमा नहीं भाजपा का संघर्ष
लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) सरकार बनने के बाद से ही यह बात कई मौकों पर सामने आती रही है कि भाजपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। सीएम योगी और डिप्टी सीएम केशव मौर्या के बीच अनबन की खबरें आम हैं। इसी बीच सीएम के शाहजहांपुर दौरे और उस पर भी चिन्मयानंद के आश्रम में जाना शायद भाजपा के एक खेमे को पसंद नहीं आया। भाजपा के कार्यकर्ता के बीच में आपसी बातचीत में यह चर्चा तेज हो गई है कि चिन्मयानंद के बहाने सीएम योगी को बदनाम करने के लिए जानबूझकर यह रणनीति बनाई गई थी। एसआईटी की जांच में भी कडिय़ा इसी प्रकार जुड़ती नजर आ रही हैं।

रेरा ने सुरक्षित किया खरीदारों का हित: योगी

कहा, रेरा ने होम बायर्स के भरोसे को रखा कायम, रोजगार सृजन का बड़ा माध्यम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रेरा (रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी अथारिटी) के राष्ट्रीय अधिवेशन का दीप जलाकर शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय अधिवेशन में रेरा को लेकर बहुत सारी बातें की जा चुकी हैं। इसको घर क्रय करने वालों खरीदारों व रियल एस्टेट कारोबारी के हितों का ध्यान रखने के लिए लागू किया गया। यह रोजगार सृजन के लिए बड़ा एरिया है। रेरा ने होम बायर्स के हितों के भरोसे के लिए बड़ा काम किया है। इस अवसर पर मुख्य सचिव आरके तिवारी तथा सचिव आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार दुर्गा शंकर मिश्र भी मौजूद रहे।
योगी ने कहा कि मैंने नोएडा और ग्रेटर नोएडा का दौरा किया। हमने होम बायर्स और कारोबारी दोनों को सुना। हम किसी के प्रति पूर्वाग्रही न बनें। होम बायर्स के लिए बहुत शीघ्र बड़ी घोषणा करेंगे। सभी को इस नई व्यवस्था से जुडऩा होगा। नई छवि को हम सामने रखेंगे।

25 शहरों में ऑन लाइन बिल्डिंग अप्रूवल की व्यवस्था: हरदीप सिंह

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) केंद्रीय मंत्री आवास शहरी नियोजन हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि हम मॉडर्न ट्रंडेंसी एक्ट लाएंगे। यह हाउसिंग सेक्टर को मदद करेगा। एनसीआर में तीन बड़े प्रोजेक्ट हैं जो कोर्ट से फैसला आएगा उसका हम पालन करेंगे। जो कोर्ट में नहीं हैं उनके लिए रोडमैप है। हम रियल एस्टेट का ई-कॉमर्स पोर्टल लाएंगे। मकर संक्रांति तक इसको ले आएंगे। देश के 25 शहरों में ऑन लाइन बिल्डिंग अप्रूवल शुरू हुआ है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.