हस्ताक्षर कर स्कूल से गायब शिक्षिका की जगह बेसिक शिक्षा मंत्री ने बच्चें को खुद पढ़ाया

  • चॉक लेकर ब्लैक बोर्ड पर हिन्दी लिखी और बच्चों को पढ़ाया ककहरा
  • मंत्री के पूछे गये सवालों का छात्रों ने दिया जवाब साथ में खाया मध्याह्न भोजन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने शुक्रवार को राजधानी के जियामऊ स्थित प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान स्कूल की शिक्षिका ज्योति अनुपस्थित मिलीं। शिक्षिका के गायब होने पर बेसिक शिक्षा मंत्री ने खुद चॉक उठाकर बच्चों को ब्लैक बोर्ड पर हिन्दी पढ़ाना शुरू कर दिया। मंत्री ने बच्चों को न सिर्फ ककहरा पढ़ाया बल्कि उनसे कई तरह के सवाल भी किए। जिसके उत्तर छात्रों ने बेबाकी से दिए।
मंत्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी शुक्रवार को बिना किसी पूर्व सूचना के जियामऊ स्थित प्राथमिक विद्यालय लामार्टिनियर पुरवा पहुंच गए। मंत्री के अचानक स्कूल पहुंचने पर हडक़ंप मच गया। विद्यालय में चार से अधिक शिक्षक तैनात हैं। लेकिन मौके पर सभी शिक्षक मौजूद नहीं थे। इसमें शिक्षिका ज्योति मौके से नदारद मिलीं। मंत्री ने अनुपस्थित शिक्षकों के बारे में जांच पड़ताल की तो मालूम हुआ कि छुट्टी के प्रार्थना पत्र के साथ उपस्थिति पंजिका पर ज्योति के हस्ताक्षर भी मौजूद हैं। इस पर बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमर कांत सिंह की ओर से शिक्षिका को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। बेसिक शिक्षा मंत्री ने विद्यालय से अनुपस्थित शिक्षिका के खिलाफ कार्रवाई के भी निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान बेसिक शिक्षा मंत्री ने बच्चों से पढ़ाई को लेकर कई सवाल किए। साथ ही बच्चों के पढ़ाई के स्तर को भी जांचा। उन्होंने मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता परखने के साथ ही बच्चों के साथ खाना भी खाया।

उत्साहित दिखे बच्चे

प्राथमिक विद्यालय में औचक निरीक्षण के कारण शिक्षकों की पोल भले ही खुल गई हो लेकिन बच्चे काफी खुश नजर आये। क्योंकि शिक्षा मंत्री ने खुद ब्लैक बोर्ड साफ करने के साथ ही बच्चों को हिन्दी पढ़ाई। इसके बाद बच्चों से कई तरह से सवाल भी पूछे, जिनका बच्चों ने बड़ी ही साफगोई से जवाब दिया। शिक्षा मंत्री ने जाते-जाते शिक्षकों को नसीहत दी कि सरकारी स्कूलों में बेहतर शिक्षा मिलेगी तो निश्चित तौर पर छात्रों की संख्या भी बढ़ेगी। लेकिन इसके लिए सबको मिलकर प्रयास करना होगा।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.