समाज कल्याण मंत्री के जिले में ’कल्याण‘ के लिए भटक रहे आवेदक

  • बजट के अभाव में लंबित पड़े हैं शादी अनुदान के 1200 आवेदन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। प्रदेश सरकार में समाज कल्याण विभाग का दायित्व संभाल रहे समाज कल्याण मंत्री के गृह जिले में ही आवेदक विभाग की योजनाओं का लाभ पाने के लिए भटक रहे हैं। हालात यह है कि सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक शादी अनुदान योजना जिले में ठप पड़ी है। बजट के अभाव में शादी अनुदान के 1200 आवेदन विभाग के दफ्तर में लंबित हैं और चयनित लाभार्थी योजना का लाभ पाने के लिए दफ्तर के चक्कर लगा रहे हैं।
प्रदेश सरकार गरीब परिवारों की बेटियों के विवाह में आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए शादी अनुदान योजना का संचालन कर रही है। इसके तहत सरकार बेटी के विवाह पर 20 हजार की आर्थिक सहायता देती है। इस योजना का संचालन समाज कल्याण विभाग के जिम्मे है। जिले के मनकापुर विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित रमापति शास्त्री प्रदेश सरकार में समाज कल्याण मंत्री हैं। मंत्री का गृह जिला होने के बावजूद योजनाएं बदहाल हैं। शादी अनुदान योजना के तहत 800 आवेदन ब्लाकों व 400 आवेदन जिले स्तर पर लंबित पड़े हैं। हालांकि आवेदकों का चयन हो चुका है लेकिन बजट के अभाव में उन्हें सहायता नहीं मिल रही है।

शादी अनुदान योजना के तहत शासन से 96 लाख रुपये मिले थे। इस धनराशि के सापेक्ष 479 लाभार्थियों की सहायता स्वीकृत हो गई है। 180 लाभार्थियों के बैंक खाते में धनराशि भी भेजी जा चुकी है। शेष करीब 1200 आवेदन बजट के अभाव में लंबित हैं। इसके लिए धनराशि की मांग की गई है।
मोतीलाल, जिला समाज कल्याण अधिकारी, गोंडा

राजधानी में डेंगू का प्रकोप बढ़ा, सिविल अस्पताल के वार्ड फुल

  • निरीक्षण में कई घरों में मिले लार्वा नोटिस जारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

shyam prasad mukharji

लखनऊ। राजधानी में डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। डेंगू के मरीजों से सिविल अस्पताल में बने वार्ड फुल हो चुके हैं। वहीं निरीक्षण के दौरान कई घरों में डेंगू के लार्वा मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने गृह स्वामियों को नोटिस जारी किए हैं।
सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी का कहना है कि 20 बेड का डेंगू वार्ड फुल हो गया है। हालांकि जिन मरीजों की हालत में सुधार हो रहा है, उन्हें दूसरे वॉर्ड में भेजने की प्रक्रिया जारी है। वहीं फाइट द बाइट अभियान के तहत रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गीतापल्ली, नरही, शारदा नगर, रूचि खंड और राजाजीपुरम में निरीक्षण किया। इस दौरान 16 घरों में डेंगू के लार्वा पाए गए। सीएमओ की टीम ने जिम्मेदारों को नोटिस जारी की है। साथ ही हिदायत दी है कि दोबारा लार्वा मिलने पर जुर्माना वसूला जाएगा। बता दें कि अभी तक राजधानी में कुल 338 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। जिन इलाकों में ज्यादा डेंगू के मरीज मिल रहे हैं उन इलाकों को सीएमओ ने संवेदशनशील घोषित कर वहां दो मोबाइल मेडिकल यूनिट भेजने का निर्देश दिया है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.