जलने के लिए तैयार रावण, दशहरा कल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक दशहरा की रौनक अभी से घरों, बाजारों और पाण्डालों में नजर आने लगी है। शहर की कई रामलीला समितियों की ओर से रावण का पुतला दहन किया जाएगा। ऐशबाग में 121 फीट का रावण जलाया जाएगा। इस वार रावण के माध्यम से लोगों को प्लास्टिक मुक्ति का संदेश दिया जायेगा। साथ ही दशहरा का मेला भी लगेगा। इसके अलावा अलीगंज में दशहरा के मेला में जवाबी आतिशबाजी होगी। शहर में ऐशबाग रामलीला मैदान, खदरा, मौसमगंज ,सदर, राजाजीपुरम, मानकनगर, महानगर, अलीगंज, चिनहट, महोना, निगोहा समेत कई अन्य स्थानों पर चल रही रामलीला और मेलों में रावण वध का मंचन और पुतला दहन किया जाएगा।

सडक़ हादसे में भाजपा विधायक के चचेरे भाई-बहन समेत 4 की मौत

  • आगरा एक्सप्रेस वे पर उन्नाव के हसनगंज थाना क्षेत्र में हुई दुर्घटना
  • मृतकों में दो भांजियां भी शामिल, दिल्ली से गोंडा लौट रहा था परिवार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। मेहनौन से भाजपा विधायक विनय कुमार द्विवेदी उर्फ मुन्ना भइया के चचेरे भाई बृजेश द्विवेदी समेत चार लोगों की आज तडक़े एक भयानक सडक़ हादसे में मौत हो गई। मृतकों में विधायक की चचेरी बहन व दो भांजियां भी शामिल हैं। गंभीर रूप से घायल एक अन्य को इलाज के लिए लखनऊ के ट्रामासेंटर में भर्ती कराया कराया गया है। हादसा आगरा एक्सप्रेस वे पर लखनऊ-उन्नाव के बीच हसनगंज थाना क्षेत्र में हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही विधायक मौके पर पहुंच गए। इस घटना से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है।  
मेहनौन विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक विनय कुमार द्विवेदी के चचेरे भाई बृजेश द्विवेदी (38)रविवार की देर रात अपनी बहन सुनीता पांडेय व दो भांजियों साक्षी पांडेय व निष्ठा पांडेय के साथ दिल्ली से वापस लौट रहे थे। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वह उन्नाव जिले के हसनगंज के करीब पहुंचे तभी उनकी एसयूवी कार हाइवे के किनारे खड़े ट्रक में जा घुसी। हादसा इतना भयानक था कि एसयूवी के परखच्चे उड़ गए। हादसे में बृजेश द्विवेदी, सुनीता पांडेय, साक्षी व निष्ठïा की मौके पर ही मौत हो गयी। हादसे की सूचना मिलते ही विधायक के परिवार में कोहराम मच गया। विधायक के आवास पर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा हुआ है। बृजेश द्विवेदी काफी मिलनसार स्वभाव के थे और कार्यकर्ताओं के बीच काफी लोकप्रिय थे। विधायक की गैरमौजूदगी में वही जनता के बीच उपलब्ध रहते थे।

एलईडी लाइटों की मरम्मत का काम ठप, सडक़ों पर छाया अंधेरा

  • इस्माइलगंज द्वितीय वार्ड के पार्षद अव्यवस्थाओं के कारण नाराज
  • वार्ड के कई प्रमुख मोहल्लों से लगातार आ रही शिकायत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के इस्माइलगंज द्वितीय वार्ड में खराब हो चुकी सैकड़ों स्ट्रीट एलईडी लाइटों की मरम्मत का कार्य पिछले 15 दिनों से ठप है। त्यौहारों के मौके पर वार्ड के गली मोहल्लों में छाए अंधेरे को लेकर जनता परेशान है। इसलिए लोग लगातार पार्षद समीर पाल और पूर्व पार्षद रूद्र प्रताप सिंह के पास अपनी शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं।
पार्षद समीर पाल का कहना है कि एलईडी लाइटों की रिपेयरिंग का काम पिछले 15 दिनों से बंद है। इस समस्या के बारे में ईएसएल कंपनी के अफसरों को कई बार अवगत कराया जा चुका है लेकिन एलईडी लाइटों की मरम्मत का काम अब तक शुरू नहीं हुआ है।
कंपनी के अफसर बहानेबाजी और कोरा आश्वासन दे रहे हैं। इसकी शिकायत नगर निगम के अफसरों से भी की जा चुकी है। बावजूद इसके ईएसएल कम्पनी की हीलाहवाली जारी है। पार्षद का यह भी कहना है कि अगर जल्द ही मरम्मत का काम शुरू नहीं किया गया तो इसकी शिकायत नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन से की जाएगी।

गुरेज सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकी ढेर

  • जैश आतंकियों ने हमले की रची साजिश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
श्रीनगर। जम्मू- कश्मीर में आतंकवादियों को भेजने के लिए पाकिस्तान ने पूरी ताकत लगा दी है, लेकिन सुरक्षा बलों की चौकस निगरानी के कारण उसे हर बार मुंह की खानी पड़ रही है। पाकिस्तान अब घुसपैठ के लिए नए-नए रास्ते तलाश रहा है। सेना ने अब राज्य के सिंध घाटी के गुरेज सेक्टर में दो आतंकियों को मार गिराया है। इस इलाके में करीब 6 साल बाद घुसपैठ की घटना सामने आई है।
सेना के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान नियंत्रण रेखा के हर तरफ से आतंकवादियों की घुसपैठ कराकर आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। इससे घाटी के स्थानीय लोग दहशत में हैं और उन्हें यह डर सता रहा है कि पाकिस्तानी आतंकियों के हाथों उनकी जान जा सकती है। वहीं मारे गये आतंकवादियों के पास से वायरलेस वीएचएफ सेट बरामद हुआ है जो यह दर्शाता है कि वे लोग पाकिस्तान में बैठे अपने आका के साथ संपर्क में थे। सुरक्षा एजेंसियां इस बात से सकते में हैं कि एक परिवार ने एक आतंकी के शव का दावा किया था। हम नमूनों की डीएनए जांच कर रहे हैं। हमें यह भी बताया गया है कि इस परिवार को सऊदी अरब से किसी ने अलर्ट किया था। हम उस व्यक्ति का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

कन्या भोज में गई लडक़ी की जिंदा जलकर मौत

  • मुख्यमंत्री ने घटना पर जताया दुख, मृतक आश्रितों को देंगे दो लाख रुपये

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी के उन्नाव में आज एक किराना की दुकान में आयोजित कन्या भोज कार्यक्रम में अचानक आग लगने से सात साल की मासूम बच्ची की मौत हो गई। जबकि तीन अन्य बच्चियां बुरी तरह आग में झुलस गईं। यह घटना दुकान में रखे पेट्रोल में आग पकडऩे की वजह से हुई, जिसकी वजह से वहां पर काफी अफरा-तफरी मच गई। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक के आश्रितों को दो लाख रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। साथ ही डीएम और एसपी को मौके पर भेजकर पीडि़तों का हाल जानने के आदेश दिए हैं। वहीं 8 अक्टूबर तक घटना की विस्तृत रिपोर्ट भी तलब की है।
पुलिस के मुताबिक घटना माखी थाना क्षेत्र के पूरा निस्पंसरी गांव की है। जहां लाला की सात वर्षीय पुत्री पूजा सुबह गांव के ही सुनील कुशवाहा की किराने की दुकान में आयोजित कन्या भोज में शामिल होने गई थी। प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार भोज शुरू होने से पहले पूजन के दौरान दुकान में रखे पेट्रोल ने आग पकड़ ली। आग की लपटें निकलते ही अन्य बच्चियां तो निकल गईं, लेकिन पूजा उनके बीच फंस गई जिससे उसकी झुलसने से मौके पर ही मौत हो गई। वहीं 3 बच्चियां और बुरी तरह से झुलस गई हैं। इन बच्चियों को इलाज के लिए सीएचसी माखी में भर्ती कराया गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर जांच शुरू कर दी है। इस दौरान बच्ची के घर का माहौल बेहद गमगीन है। मां उस क्षण को कोस रही है जब सुबह बेटी को तैयार कर भोज पर भेजा था। घटना के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।

पेड़ों की कटाई पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, लगाई रोक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। मुंबई के आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। साथ ही गिरफ्तार किए गये लोगों को रिहा करने के आदेश दिए हैं। इस मामले पर 21 अक्टूबर को अगली सुनवाई होगी। कोर्ट के आदेश के बाद महाराष्ट्र सरकार का पक्ष रख रहे तुषार मेहता ने कहा कि अब सरकार कोई पेड़ नहीं काटेगी। कोर्ट ने अब तक काटे गये पेड़ों की जानकारी मांगी है।
जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस अशोक भूषण की स्पेशल बेंच मामले की सुनवाई कर रही थी। कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से पूछा कि क्या आपके पास सबूत है कि आरे पहले जंगल या इको सेंसिटिव जोन में आता था और अगर ऐसा था तो क्या सरकार ने इसे कब बदला? कोर्ट ने कार्यकर्ताओं से कहा कि इसके लिए आप हमें प्रॉपर डॉक्यूमेंट दिखाएं, मीडिया रिपोर्ट नहीं।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.