गांधी की विरासत के बहाने अपनी सियासत चमकाने में जुटी भाजपा: अखिलेश यादव

  • कहा, चुनावी लाभ के लिए नैतिक मूल्यों को दे दी गई है तिलांजलि

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि महात्मा गांधी की विरासत के बहाने अपनी सियासत चमकाने में भाजपा ने सभी नैतिक मूल्यों को तिलांजलि दे दी है। गांधी जी का सम्पूर्ण जीवन सत्य-अहिंसा के लिए प्रतिबद्ध रहा। सादगी उनके जीवन का अंग थी।
अखिलेश के मुताबिक गांधी जी हिन्दू-मुस्लिम एकता के लिए जीवन भर प्रयासशील रहे। भाजपा सरकार दिल्ली से लखनऊ तक विपक्ष को अपमानित करने के लिए बदले की भावना से कार्रवाई करती है। अभी कल तक ही गांधी जी का नाम जपने वालों ने आज ही देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस को हरी झंडी दिखाकर साबित कर दिया है कि उनकी प्राथमिकता में गांव-गरीब नहीं लग्जरी जिंदगी जीने वाले पूंजी घरानों को खुशियां देना है। भाजपा निजीकरण को बढ़ावा देकर आरक्षण और सामाजिक न्याय के विरोध की राजनीति कर रही है।

विधायक अदिति सिंह को कारण बताओ नोटिस

  • पार्टी ने दो दिन के अंदर मांगा जवाब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कांग्रेस ने विधानसभा के विशेष सत्र में शामिल होने वाली अपनी विधायक अदिति सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे दो दिन के अन्दर स्पष्टीकरण देने को कहा है। वहीं दूसरी ओर रायबरेली में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अदिति सिंह के घर के सामने धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया।
पार्टी विधानमण्डल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कारण बताओ नोटिस जारी कर कहा है कि दो अक्टूबर को बुलाये गए विधानसभा के विशेष सत्र का कांग्रेस पार्टी ने बहिष्कार करने का निर्णय लिया था। सदन में कोई सदस्य उपस्थित न हो, इसके लिए व्हिप जारी किया गया था। इसके अलावा आपको व्यक्तिगत रूप से बताया गया था। लेकिन आपने पार्टी के निर्देशों का उल्लंघन किया। इसलिए अनुशासनहीनता के संदर्भ में दो दिन के अन्दर अपना जवाब पार्टी विधानमण्डल दल के कार्यालय में प्रस्तुत करें।

ओम प्रकाश राजभर के बेटे को मिल रही धमकी

  • सुभासपा प्रमुख ने एडीजी लॉ एंड ऑर्डर से की मुलाकात

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर को पिछले तीन दिनों से फोन पर जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। इस मामले में राजभर ने एडीजी कानून-व्यवस्था से मुलाकात कर अंजान नंबर से दी जा रही धमकियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। राजभर की बातें सुनने के बाद एडीजी ने एसएसपी लखनऊ को फोन कर इस मामले को देखने का आदेश दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

 

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.