गोमतीनगर विस्तार: करोड़ों की लागत से बने ओवर ब्रिज की हालत खस्ता, हिचकोले खा रहे राहगीर

  • ब्रिज की सडक़ पर बने हुए हैं गहरे गड्ढे, हो चुके हैं कई हादसे
  • सेतु निगम ने बनाया था ओवर ब्रिज, रखरखाव भूले जिम्मेदार
  • बारिश से जगह-जगह उखड़़ चुकी है सडक़

विनय शंकर अवस्थी

लखनऊ। गोमतीनगर विस्तार स्थित जनेश्वर मिश्र पार्क के पास रेलवे लाइन पर बने ओवर ब्रिज की सडक़ खस्ताहाल हो गयी है। करीब आठ साल पहले इस पुल को उत्तर प्रदेश सेतु निगम द्वारा करोड़ों रुपये की लागत से बनाया गया था। सेतु निगम के अफसरों का दावा है कि रख-रखाव के लिए ओवर ब्रिज लखनऊ विकास प्राधिकरण को हैंडओवर कर दिया गया है, लेकिन मौजूदा समय में रख-रखाव के अभाव में ब्रिज की सडक़ में गहरे गड्ढे हो गए हैं। जिसके चलते पुल से होकर गुजरने वाले वाहन चालकों को हादसे का डर सता रहा है।

गोमतीनगर विस्तार में बने इस ओवर ब्रिज से रोजाना हजारों लोग विभिन्न इलाकों से गोमतीनगर विस्तार आते-जाते हैं। जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण से पहले सेतु निगम को ब्रिज के निर्माण को मंजूरी मिली थी। ओवर ब्रिज का निर्माण पूरा कर एलडीए को रख-रखाव का जिम्मा सौंपा दिया गया लेकिन पिछले दो साल से पुल की सडक़ पूरी तरह जर्जर हो गयी है। बारिश ने ओवर ब्रिज की सडक़ को और भी जर्जर बना दिया है। आलम यह है कि सडक़ की गिट्टी उखडऩे और डामर निकल जाने के कारण यहां से निकलने वाले वाहन हिचकोले खा रहे हैं। गोमतीनगर विस्तार के लोगों ने बताया कि पुल से होकर गुजरने वाले वाहन चालकों को हादसे का भय सताता रहता है। पुल में कई जगह गड्ढे हो गए हैं। पुल से होकर हर दिन सैकड़ों की तादाद में कार, मोटर साइकिल और अन्य भारी वाहन गुजरते हैं। इस ओवर ब्रिज पर कई हादसे भी हो चुके हैं। वहीं एलडीए के अफसर ओवर ब्रिज के रखरखाव को लेकर सजग नहीं दिख रहे हैं। लोगों का आरोप है कि अफसर किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं।

धूमिल हो रही जनेश्वर पार्क की छवि
गोमतीनगर के इस ओवर ब्रिज से देश-विदेश के पर्यटक विश्वस्तरीय पार्क जनेश्वर मिश्र पार्क में घूमने आते हैं। ऐसे में इस ओवर ब्रिज की जर्जर स्थिति पार्क की छवि पर गलत प्रभाव डाल रही है। वहीं ओवर ब्रिज के गड्ढों से हादसों का खतरा बना हुआ है।

 

Loading...
Pin It