इतिहास बन गया विधानसभा का सत्र

  • यूपी में 36 घंटे तक लगातार चली सदन की कार्यवाही

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी विधानमंडल के इतिहास में पहली बार 36 घंटे तक लगातार इतना लंबा सत्र चला। विपक्षी दलों के यू-टर्न के बाद इतने लंबे वक्त तक कार्यवाही सुचारू रखने की भी चुनौती थी। चूंकि सभी मंत्री और विधायकों को विषय पहले ही दे दिए थे, इसलिए बुधवार सुबह 11 से देर शाम तक तो सदन पूरी ऊर्जा से चला। फिर रात काटने की चुनौती नजर आने लगी। वक्ताओं को बोलने के लिए भरपूर समय दिया गया। इसका लाभ सदस्यों ने भी बखूबी उठाया। कई नेताओं ने शेरो-शायरी के साथ अपनी बात कही तो माहौल खुशनुमा हो गया। गाजीपुर सदर सीट से विधायक डॉ. संगीता बलवंत ने अपने विषय के साथ माहौल को मुशायरे वाली भावना से जोड़ दिया।
सत्र के दौरान सुबह से ही कुर्सियों पर जमे विधायक और मंत्री थकान के कारण ऊंघने लगे थे। बहुत से विधायक और मंत्री झपकी लेने लगे। मगर, बार-बार कुछ न कुछ ऐसा हो जाता था, जिसकी वजह से सदन तरोताजा हो जाता। सदन में कभी ठहाके गूंजने लगते हैं तो कभी तालियां। सतत विकास के 16 बिंदुओं पर चर्चा और मोदी-योगी के गुणगान और सियासी सूझबूझ के साथ 36 घंटे का विधानसभा का विशेष सत्र समाप्त हो गया।

 

Loading...
Pin It