गांधी दर्शन पर चर्चा करेंगे सपा विधायक

  • पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव संग उनकी पार्टी के सभी विधायक व पदाधिकारी होंगे शामिल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी गांधी जयंती पर राजधानी में गांधी दर्शन पर चर्चा करेगी। यह कार्यक्रम लखनऊ में जीपीओ पार्क स्थित गांधी प्रतिमा पर होगा। इसमें पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव संग उनकी पार्टी के सभी विधायक व पदाधिकारी शामिल होंगे।
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने बताया है कि गांधी जी की प्रतिमा के समक्ष देश प्रेम के गीतों के अलावा राष्ट्रगान और बापू के प्रिय भजनों का गायन होगा। दो अक्टूबर को समाजवादी पार्टी की ओर से सभी जिला मुख्यालयों पर गांधी जयंती का आयोजन होगा। गांधी जी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमें ग्राम स्वराज की कल्पना थी, अंत्योदय पर बल था, सामाजिक सद्भाव था और श्रमशक्ति का सम्मान था। उनके इन सिद्धांतों पर चर्चा भी की जाएगी।

टावर जलाने की जांच अन्य जिले की पुलिस से कराने की मांग

  • भारती इंफ्राटेल कंपनी ने पुलिस महानिरीक्षक अपराध को सौंपा ज्ञापन

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मोबाइल टावर इंफ्रास्ट्रक्चर सुविधा प्रदान करने वाली कंपनी भारती इंफ्राटेल ने उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत वाजिदपुर गांव में लगा टावर जलाये जाने, गार्ड को जबरन पीटने व जान से मारने की कोशिश तथा लूट-पाट का आरोप लगाकर दबंग राधेश सिंह उर्फ राधे व अन्य के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। साथ ही करीब दो माह से आरोपियों का साथ देने और घटना के बाद से लगातार दबंगों को बचाने और तहरीर बदलवाने की कोशिश कर रहे प्रभारी निरीक्षक से विवेचना लेकर अन्य जिले की पुलिस से विवेचना करवाने की बात कही गई है।
कंपनी की तरफ से पुलिस महानिरीक्षक क्राइम को भेजे गये शिकायती पत्र में स्पष्ट लिखा है कि उन्नाव में लगे टावरों पर करीब दो माह से बिहार थाना क्षेत्र के कुछ गुंडे राधेश सिंह उर्फ राधे सिंह के साथ जबरन अवैध कब्जा करना चाहते हैं। ये लोग लगातार टावरों से डीजल लूटने और गार्ड को धमकाने का काम करते हैं। इस बात की जानकारी कंपनी ने पुलिस को लिखित और मौखिक दोनों तरह से दी थी लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करने की बजाय उल्टे आरोपी राधे सिंह का सहयोग किया। जिसके परिणामस्वरूप टावर में आग लगा दी गई। गार्ड को बुरी तरह पीट-पीट कर घायल कर दिया गया और लूटपाट की गई। वहीं इस मामले में कंपनी की तरफ से जो तहरीर दी गई उसके आधार पर एफआईआर तक नहीं लिखी गई। पुलिस ने तहरीर में बदलाव कर हल्की धाराओं में एफआईआर दर्ज की है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.