पहली मीटिंग में ही अफसरों के पसीने छुड़ा दिए परिवहन मंत्री ने

  • लखीमपुर में जिला योजना समिति की समीक्षा बैठक में अफसरों की लगाई क्लास

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं लखीमपुर जिले के प्रभारी मंत्री अशोक कटारिया ने जिला योजना समिति की बैठक में अफसरों की जमकर क्लास लगाई। मंत्री ने अफसरों से कहा कि वे दो पन्नों में यह लिखकर दें कि उनकी भूमिका क्या है? अधिकारी सिर्फ कागज में दर्ज आंकड़ें न सुनाएं, काम करके दिखाएं।
प्रभारी मंत्री अशोक कटारिया को बैठक की शुरुआत में जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद की वार्षिक योजना का बजट पांच अरब 36 करोड़ 60 लाख रुपया तय किया गया है। शासन ने 2 अरब 13 करोड़ 98 लाख विभिन्न विभागों को बजट दिया है, जो कुल बजट का 40 प्रतिशत है। अब तक विभिन्न विभागों द्वारा प्राप्त धनराशि का 91.45 प्रतिशत व्यय कर लिया गया। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने बैठक में अवमुक्त धनराशि द्वारा किये जाने वाले विकास कार्यों की बिन्दुवार समीक्षा की। इसके बाद अपने संबोधन में कहा कि विकास की दौड़ में हमें अपने जनपद को आगे बढ़ाना है जिले के सभी अधिकारी पूरे उत्साह और मनोयोग से कार्य करें। प्रभारी मंत्री ने जब बिंदुवार विभाग के अफसरों से सवाल दागे तो अफसर कागज पढऩे लगे। इस पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि आंकड़ें न गिनाएं, काम बताएं? उन्होंने कहा कि अधिकारी दो पन्नों में लिखकर डीएम को दें कि जिले के विकास में उनकी भूमिका क्या है। प्रभारी मंत्री ने अफसरों को जिम्मेदारी का एहसास कराया। साथ ही चेताया भी कि बतौर प्रभारी मंत्री उनका लखीमपुर में पहला प्रवास है, इसलिए यह बैठक सचेतात्मक एवं संदेशात्मक है। अधिकारी अपने कार्यों में नवीनता लाएं और अपनी जवाबदेही सुनिश्चित करें। इस बैठक में जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि प्रभारी मंत्री ने अपना बहुमूल्य समय निकालकर जो सुझाव दिए हैं, उन पर सौ फीसदी अमल होगा।

गरीबों को परेशान किया तो जाएंगे जेल

लखीमपुर के प्रभारी मंत्री ने समीक्षा बैठक के दौरान दुधवा नेशनल पार्क के डिप्टी डायरेक्टर मनोज सोनकर की शिकायत मिलने पर जमकर फटकार लगाई। उन्होंने बैठक में डीडी की जगह मौजूद डीएफओ से कहा कि अपने डीडी को बता देना कि गरीबों का उत्पीडऩ न करें, अगर उन गरीबों ने उल्टा केस लिखा दिया तो उन्हें जेल जाना पड़ेगा। अफसरों के प्रति मंत्री का रुख देखकर पलिया के विधायक रोमी साहनी ने दुधवा के जंगल में कटरुआ और धरती के फूल बीनने वाले मजदूरों को डीडी मनोज सोनकर द्वारा जेल भेजे जाने, तमाम गरीबों पर हजारों का जुर्माना लगाने और भुगतान न करने पर जेल भेजने का मामला उठाया। जबकि इन गरीबों के घरों में खाने को दो वक्त की रोटी और पहनने को कपड़े तक नहीं हैं। गरीबों के उत्पीडऩ की बात सुनकर प्रभारी मंत्री अशोक कटारिया के तेवर सख्त हो गये। उन्होंने स्पष्ट कहा कि जो भी गरीबों का उत्पीडऩ करेगा, उसके खिलाफ शिकायत मिली तो जेल भेजा जायेगा। क्योंकि भाजपा सरकार गरीबों का उत्पीडऩ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेगी।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.