बुजुर्ग की चाकुओं से गोदकर हत्या

  • गोंडा के सालपुर धौताल गांव में हुई सनसनीखेज वारदात पड़ताल में जुटी पुलिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। कोतवाली देहात क्षेत्र के सालपुर धौताल गांव में शुक्रवार की आधी रात गांव के बाहर बनी अपनी आटा चक्की की दुकान पर सो रहे एक 70 वर्षीय बुजुर्ग की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। आज सुबह जब बुजुर्ग का नाती आटा चक्की पर पहुंचा तो खून से लथपथ शव को देखकर चीख उठा। हत्या की सूचना पर पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर, अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार, क्षेत्राधिकारी करनैलगंज जितेंद्र दूबे व क्षेत्राधिकारी सदर समेत बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स गांव में पहुंची और घटना की पड़ताल की। इस सनसनीखेज वारदात से पूरे गांव में दहशत का माहौल है।
कोतवाली देहात क्षेत्र के सालपुर धौताल गांव के रहने वाले वासुदेव सिंह(70) गांव के बाहर करीब सौ मीटर की दूरी पर बनी अपनी आटा चक्की की दुकान में रहते थे। वासुदेव के बेटे संतोष के मुताबिक शुक्रवार की रात खाना खाने के बाद वह रोज की तरह चक्की पर सोने चले गए थे। रात में हत्यारों ने वासुदेव सिंह को चाकुओं से गोद डाला।
वासुदेव के गले पर चार तथा पेट व पैर में चाकुओं एक-एक निशान मिले हैं। आज सुबह जब संतोष का बेटा सत्येंद्र मार्निंग वाक के लिए निकलकर आटा चक्की पर पहुंचा तो वह अपने बाबा के खून से लथपथ शव को देखकर चीख उठा। हत्या की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। लूटपाट या अन्य किसी तरह का कोई नुकसान किए जाने के कोई निशान नहीं मिले हैं। इस घटना को लेकर एसपी ने भी गांव के लोगों से भी पूछताछ की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मृतक के बेटे संतोष ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। अभी तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है।.

छह माह पहले बड़े बेटे की हुई थी मौत
सालपुर धौताल गांव के रहने वाले वासुदेव सिंह के दो बेटे दद्दन सिंह व संतोष सिंह हैं। इसमें से बड़े बेटे दद्दन का छह माह पहले ट्राली पर गन्ना लादते समय एक्सीडेंट हो गया था। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। वर्तमान में छोटा बेटा संतोष व उसका परिवार तथा बड़े बेटे की पत्नी घर पर रहते हैं। वासुदेव घर से सौ मीटर की दूरी पर बालपुर परसपुर मार्ग पर बनी अपनी आटा चक्की की दुकान में रहते थे।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.