अवकाश स्वीकृत कराए बिना गैरहाजिर शिक्षक होंगे सस्पेंड: डीएम नितिन बंसल

  • ऑनलाइन आवेदन पर ही मिलेगा अवकाश
  • शिक्षकों की अनुपस्थिति पर डीएम सख्त, जारी किए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों का रजिस्टर में प्रार्थना पत्र रखकर स्कूल से गायब रहना अब संभव नहीं हो सकेगा। अब अवकाश के लिए शिक्षकों को आनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन की स्वीकृति के बाद ही वह अवकाश ले सकेंगे। अवकाश के बिना स्कूल से गैरहाजिर मिले शिक्षकों को सस्पेंड किया जाएगा।
डीएम डा. नितिन बंसल ने इस संबंध में बीएसए को निर्देश जारी किया है और कहा है कि ऑनलाइन आवेदन के बगैर किसी भी शिक्षक का अवकाश स्वीकृत न किया जाए अगर कोई शिक्षक बगैर अवकाश स्वीकृत कराए गैरहाजिर मिलता है तो उसे तत्काल सस्पेंड किया जाएगा। बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूलों के निरीक्षण के दौरान अक्सर यह देखने में आता है कि शिक्षक स्कूल न आने पर अवकाश से संबंधित एक प्रार्थना पत्र स्कूल में पहुंचा देते हैं। इन प्रार्थना पत्रों पर न तो किसी सक्षम अधिकारी द्वारा अवकाश स्वीकृत कराया जाता है और न ही इसे उपस्थिति रजिस्टर या पत्र व्यवहार रजिस्टर पर दर्ज किया जाता है। अवकाश के दिन यदि कोई अफसर निरीक्षण के लिए पहुंच जाता है तो मौजूद अध्यापक उन्हें गैरहाजिर अध्यापक का अवकाश से संबंधित प्रार्थना पत्र दिखा देते हैं अन्यथा दूसरे दिन स्कूल पहुंचने पर इस तरह के प्रार्थना पत्रों को फाडक़र रद्दी की टोकरी में फेंक दिया जाता है। ग्रामीण क्षेत्र के दूरदराज स्कूलों में यह खेल आम है और इसी खेल की बदौलत शिक्षक कई दिनों तक स्कूल से गायब रहते हैं। इस खेल में स्थानीय स्तर के अफसरों की मिलीभगत भी होती है। अब यह खेल नहीं चल सकेगा। बेसिक शिक्षा विभाग के मासिक अनुश्रवण बैठक में एडीएम रत्नाकर मिश्र, एडी बेसिक विनय मोहन वन, बीएसए मनिराम सिंह, डीएसओ वीके महान, जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप श्रीवास्तव, जिला समन्वय सर्व शिक्षा अभियान राजेश सिंह, मिड-डे-मील प्रभारी गणेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

15 तक ज्वाइनिंग नहीं की तो होंगे निलंबित
परिषदीय स्कूलों में समायोजित किए शिक्षकों के नई तैनाती वाले स्कूलों में योगदान न करने पर भी डीएम ने सख्त रुख अपनाया है। डीएम डॉ. नितिन बंसल ने समायोजित किए गए सभी शिक्षकों को 15 सितंबर तक हरहाल में अपनी नई तैनाती वाले स्कूल में ज्वाइनिंग किए जाने के आदेश दिए हैं। डीएम ने बीएसए को निर्देशित किया है कि अगर 15 सितंबर तक समायोजित किए गए शिक्षक अपना योगदान नहीं देते हैं तो उन्हें तत्काल निलंबित कर 16 सितंबर को सूची उन्हें उपलब्ध करा दी जाए।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.