डीपीआरओ व अधीक्षण अभियंता ने डीएम को ही सौंप दी फर्जी रिपोर्ट

  • पिछले माह की रिपोर्ट से मिलान के बाद हुआ खुलासा
  • मीटिंग में ही अधिकारियों को डीएम ने लगाई फटकार
  • कारण बताओ नोटिस जारी कर मांगा जवाब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। जिले के अफसर विकास योजनाओं को धरातल पर लागू करने के बजाय कागजी रिपोर्ट तैयार करने में कितना माहिर है इसकी पोल शुक्रवार को उस समय खुल गई जब समीक्षा बैठक में जिले के दो आला अफसरों जिला पंचायत राज अधिकारी व बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता ने डीएम को ही फर्जी रिपोर्ट साौंप दी। डीएम ने जब पिछली माह की रिपोर्ट का इस रिपोर्ट से मिलान किया तो यह खेल सामने आ गया। इस पर डीएम ने दोनों अफसरों को मीटिंग में ही जमकर फटकारा। साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।
शुक्रवार को डीएम डॉ. नितिन बंसल ने कलेक्टेट सभागार में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की विभागवार समीक्षा की। इस समीक्षा के दौरान जब डीएम ने बिजली विभाग व पंचायत राज विभाग की पिछले माह की रिपोर्ट की तुलना की तो पता चला कि दोनों विभागों के अफसरों ने उन्हें फर्जी रिपोर्ट सौंपी है। इस पर डीएम ने दोनों अफसरों को मीटिंग में ही जमकर फटकारा। इसके अलावा बैंकों द्वारा केसीसी बनाने में रूचि न लेने की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए उन्होंने ऐसे बैंक प्रबन्धकों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश दिए। पेयजल योजनाओं की समीक्षा में पता चला कि जल निगम की ज्यादातर परियोजनाएं काम नहीं कर रही हैं। इस पर डीएम ने एक्सईन जल निगम से जवाब मांगा है। बैठक में सीडीओ आशीष कुमार, सीएमओ डॉ. मधु गैरोला, डीएफओ आरके त्रिपाठी, पीडी सेवाराम चाौधरी, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र प्रजापति, प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह, बीएसए मनिराम सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी मोतीलाल, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

पत्नी को विदा कराने गए युवक को ससुरालीजनों ने बनाया बंधक

  • पुलिस टीम ने दोनों पक्षों में कराई सुलह बिखरने से बच गई गृहस्थी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। धानेपुर थाना क्षेत्र के शिवबक्शपुरवा गांव स्थित अपनी ससुराल से पत्नी को विदा कराने गए युवक व उसके परिजनों को विवाद के बाद उसके ससुरालीजनों ने बंधक बना लिया। युवक ने किसी तरह से इसकी सूचना डायल 100 पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे पीआरवी की 0867 टीम के सीपी दयानंद सिंह ने न सिर्फ बंधक बनाए गए युवक व उसके परिवारवालों को मुक्त कराया बल्कि समझा-बुझाकर दोनों पक्षों में समझौता भी कराया। पुलिस की तत्परता व सूझबूझ से एक बसी बसाई गृहस्थी टूटने से बच गई और युवक अपनी पत्नी को विदा कराकर अपने घर ले गया। लोगों ने पुलिस टीम की सूझबूझ की जमकर सराहना की।
धानेपुर थाना क्षेत्र में कार्यरत डायल 100 की पीआरवी 0867 टीम के सीपी दयानंद सिंह ने बताया कि शुक्रवार को इटियाथोक थाना क्षेत्र के बसालतपुर करियापुरवा गांव के रहने वाले युवक सुनील कुमार शुक्ला ने सूचना दी कि वह अपने पिता व चाचा का साथ अपनी पत्नी को विदा कराने के लिए अपनी ससुराल शिवबक्शपुरवा गया था जहां विवाद के बाद ससुरालीजनों ने सभी को बंधक बना लिया है। सूचना पर वह प्रभारी एसीपी जयराम यादव व चालक एचजी राम लल्लन तिवारी को साथ लेकर मौके पर पहुंचे। उन्होंने युवक के ससुराल पक्ष के लोगों को बुलाकर समझाया-बुझाया। इस पर युवक के ससुराल के लोग पुलिस की बात मान गए। सुलह समझौते के बाद युवक अपनी पत्नी को लेकर अपने घर को रवाना हुआ। सूझबूझ व संयम से एक टूटता हुआ रिश्ता बिखरने से बच गया।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.