अंतिम परिणाम आशा के मुताबिक नहीं लेकिन शानदार रही चंद्रयान की यात्रा: पीएम मोदी

  • प्रधानमंत्री मोदी ने इसरो हेडक्वॉर्टर से वैज्ञानिकों और देश को किया संबोधित
  • कहा-हमारा ऑर्बिटर शान से लगा रहा है चांद के चक्कर, इसरो ने कई मौकों पर गर्व कराया, यह सिर्फ क्षणिक बाधा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
बेंगलुरू। चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का चांद की सतह पर लैंडिंग से महज 2.1 किलोमीटर पहले सम्पर्क टूट गया। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने इसरो हेडक्वॉर्टर से वैज्ञानिकों के साथ देश को संबोधित किया। पीएम ने भारत माता की जय के उद्घोष से अपनी बात की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि चंद्रयान के सफर का आखिरी पड़ाव भले ही आशा के अनुरूप न रहा हो लेकिन यह यात्रा शानदार रही है। इस पूरे मिशन के दौरान कई बार देश ने गर्व महसूस किया है। इस वक्त भी हमारा ऑर्बिटर शान से चांद के चक्कर लगा रहा है।
वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसरो दुनिया की बड़ी स्पेस एजेंसियों में से एक है तो उसके पीछे आपका परिश्रम है। आपने ही पहले प्रयास में मंगल ग्रह पर भारत का झंडा लहराया था। हमारे चंद्रयान ने ही दुनिया को चांद पर पानी होने जैसी अहम जानकारियां दीं। हमने 100 से ज्यादा सैटलाइट लॉन्च करके नया रेकॉर्ड बनाया। जब सफलता इतनी हो तो एक-दो रुकावट हमें पीछे नहीं कर सकती। हमें पीछे मुडक़र नहीं देखना है। मिशन के अगले प्रयास में और उससे आगे भी कामयाबी हमारे साथ होगी। कोई क्षणिक बाधा हमें नहीं रोक सकती।

आने वाला कल होगा सुनहरा

पीएम ने कहा कि हजारों साल के इतिहास में हम कई बार हारे, लेकिन हमने अपना साहस नहीं छोड़ा, इसलिए हमारी सभ्यता हमेशा आगे बढ़ी। मैं गर्व से कह सकता हूं कि यह यात्रा और कोशिश सफल थी। आने वाला कल सुनहरा होगा। परिणामों से निराश हुए बिना आगे बढऩा हमारी परंपरा और संस्कार भी रहा है। इसरो भी कभी हार न मानने वाली संस्कृति का जीता जागता उदाहरण है। अगर शुरुआती दिक्कतों से हम हार जाते तो इसरो यहां तक नहीं पहुंच पाता। आप लोग मक्खन पर नहीं पत्थर पर लकीर बनाने वाले लोग हैं। मैं स्पेस साइंटिस्ट के परिवारों को भी सलाम करता हूं। उनके मौन, लेकिन मजबूत समर्थन से हम यहां तक पहुंच पाए हैं।

और छलक आईं इसरो प्रमुख की आंखें

बेंगलुरु। प्रधानमंत्री मोदी को उनकी गाड़ी तक छोडऩे पहुंचे इसरो चीफ के. सिवन खुद को संभाल नहीं पाए। वह फफककर रोने लगे और पीएम ने गले लगाकर उनकी पीठ थपथपाई। हालांकि, इस बीच सिवन की डबडबाई आंखें और चेहरे पर निराशा साफ नजर आ रही थी। खुद पीएम भी इस मौके पर भावुक नजर आए और भावनाओं से जूझने का द्वंद्व पीएम के चेहरे पर साफ नजर आ रहा था।

चंद्रयान-2 को लेकर अभी तक की इसरो की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है। भारत प्रतिबद्ध और कठिन मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है। भविष्य की यात्रा के लिए शुभकामनाएं।
अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री

हमें इसरो के वैज्ञानिकों की टीम के जुनून और समर्पण पर गर्व है। आपका काम व्यर्थ नहीं जाएगा। यह कई लोगों को प्रेरित करेगा और चंद्रयान-2 मिशन कई और पथ-प्रदर्शक अंतरिक्ष परियोजनाओं की नींव रखेगा और भारत को अंतरिक्ष विज्ञान में अग्रणी बना देगा।
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, यूपी

हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने, इतिहास रचा है। निराश होने की जरूरत नहीं है। हमारे वैज्ञानिकों ने उम्दा काम किया है। जय हिंद।
अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री, दिल्ली

इसरो टीम में प्रत्येक पर गर्व है। असफलता यात्रा का एक हिस्सा है। उसके बिना कोई सफलता नहीं मिलती है। पूरा देश आपके साथ खड़ा है और आप पर विश्वास करता है।
प्रियंका गांधी, कांग्रेस महासचिव

इस मिशन ने समस्त जनमानस को रोमांचित किया है। इसरो के वैज्ञानिकों की सराहना की जानी चाहिए और आगे बढ़ते रहने के लिए यह जरूरी है कि निराशा, हताशा वह दुखी कतई न हों।
मायावती, बसपा प्रमुख

अखिलेश ने संभाली आजम को बचाने की कमान, नौ को जाएंगे रामपुर

  • रामपुर में लगेगा सपा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा
  • सपा प्रमुख करेंगे आजम खां व उनके परिवार से मुलाकात, सांसद आजम खां पर दर्ज हैं कई केस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के सांसद आजम खां को बचाने की कमान संभाल ली है। आजम खां के खिलाफ दर्ज हुए तमाम मुकदमों के खिलाफ सपा प्रमुख आगामी नौ सितंबर को रामपुर जाएंगे। वे आजम खां और उनके परिवार से मुलाकात करेंगे। सपा कार्यकर्ता इस दौरान धरना-प्रदर्शन करेंगे।
रामपुर से सपा सांसद आजम खां के खिलाफ जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन कब्जाने से लेकर कई अन्य मामलों पर मुकदमे दर्ज किए गए हैं। सरकार की इस कार्रवाई के खिलाफ सपा ने अब मोर्चा खोल दिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी अब आजम खां के बचाव में उतर आए हैं। वे खुद नौ सितंबर को रामपुर जाएंगे। वे यहां दो दिन रूकेंगे। इस दौरान उनके साथ पार्टी के बड़े नेता मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आजम का बचाव किया था। मुलायम सिंह यादव ने अफसरों पर आजम खां को परेशान करने का आरोप लगाते हुए कार्यकर्ताओं से इसका विरोध करने की अपील की थी।

हरियाणा विधान सभा चुनाव अकेले लड़ेगी बसपा, जेजेपी से तोड़ा गठबंधन

  • बसपा प्रमुख मायावती ने किया ऐलान, सीटों को लेकर नहीं बनी थी बात

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती ने ऐलान किया है कि उनकी पार्टी हरियाणा विधानसभा चुनाव अकेले दम पर लड़ेगी। बसपा ने दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) से गठबंधन तोड़ लिया है।
मायावती ने ट्वीट कर बताया है कि बसपा एक राष्ट्रीय पार्टी है जिसके हिसाब से हरियाणा में होने वाले विधानसभा आमचुनाव में दुष्यन्त चौटाला की पार्टी से जो समझौता किया था वह सीटों की संख्या व उसके आपसी बंटवारे के मामले में उनके अनुचित रवैये के कारण इसे बीएसपी हरियाणा यूनिट के सुझाव पर आज समाप्त कर दिया गया है। ऐसी स्थिति में पार्टी हाईकमान ने यह फैसला किया है कि हरियाणा प्रदेश में शीघ्र ही होने वाले विधान सभा चुनाव में अब बसपा अकेले ही अपनी पूरी तैयारी के साथ यहां सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इससे पहले बसपा का चौटाला परिवार की राजनीतिक पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल और फिर भाजपा के बागी राजकुमार सैनी द्वारा बनाई गई लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी (लोसुपा) के साथ गठबंधन था। लोकसभा चुनाव लोसुपा और बीएसपी ने मिलकर लड़ा, लेकिन कुछ हाथ नहीं आया। इसके बाद विधान सभा चुनावों को लेकर बसपा और जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) के बीच गठबंधन हुआ था।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.