शिक्षा में तेजी से हो रहा सुधार: सीएम योगी

  • अच्छा काम करने वालों को सम्मान देने का काम कर रही सरकार
  • नकलविहीन परीक्षा कराना रही है सबसे बड़ी चुनौती
  • शिक्षक दिवस पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने शिक्षकों को किया सम्मानित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शिक्षक दिवस के मौके पर लोक भवन में आयोजित एक समारोह में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षकों को सम्मानित किया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि व्यक्ति जीवन भर कुछ न कुछ सीखता है। पिछले दो वर्षों में शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है। शिक्षा विभाग अच्छा काम कर रहा है।
शिक्षा के महत्व को समझाते हुए सीएम ने कहा कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे। नकलविहीन परीक्षा कराना सरकार की सबसे बड़ी चुनौती रही है। सरकार ने शिक्षकों के सम्मान के लिए काफी काम किया है। हमारा प्रयास अच्छे काम करने वालों को सम्मानित करना है। इस मौके पर शिक्षकों को राज्य अध्यापक पुरस्कार, सरस्वती सम्मान और शिक्षक श्री सम्मान से नवाजा गया। सम्मानित किए गए शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार राशि प्रदान की गई। इसके अलावा पहली बार वित्तविहीन विद्यालयों के 15 शिक्षकों को मुख्यमंत्री अध्यापक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। शिक्षक सम्मान समारोह में उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में जिन्होंने अथक परिश्रम किया है, उनका आज सम्मान किया जा रहा है। शिक्षक नए भारत के निर्माण में सबसे अहम भूमिका निभाता है। माध्यमिक राज्य मंत्री गुलाब देवी ने कहा कि शिक्षकों के ज्ञान का शब्दों से वर्णन नहीं किया जा सकता है। शिक्षा के क्षेत्र में जो प्रगति हुई है वह सिर्फ भाजपा की सरकार में हुई है। समारोह में बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ.
सतीश चंद्र द्विवेदी, नीलिमा कटियार समेत कई मंत्री मौजूद रहे।

ये हुए सम्मानित

1. राज्य अध्यापक पुरस्कार-ठ्ठ विजय कृष्ण सारस्वत ठ्ठ अनिल कुमार वशिष्ठ ठ्ठ डॉ. राजेश कुमार यादव ठ्ठ डॉ. भुवेश्वर पांडेय ठ्ठ सत्येंद्र सिंह ठ्ठ श्रवण कुमार श्रीवास्तव ठ्ठ ब्रजमोहन शर्मा ठ्ठ डॉ. ममता तिवारी ठ्ठ मैदान सिंह ठ्ठ अर्चना गुप्ता ठ्ठ सरला चौधरी ठ्ठ सुनीता सिंह ठ्ठ शुभा वाशिंगटन ठ्ठ राम धीरज शुक्ल ठ्ठ डॉ. दिवाकर मिश्र ठ्ठ चंद्र प्रकाश अग्रवाल ठ्ठ अनिल कुमार श्रीवास्तव ठ्ठ हेमलता शुक्ल ठ्ठ रामु प्रसाद वर्मा ठ्ठ चंद्रिका शर्मा ठ्ठ ओमप्रकाश शुक्ल ठ्ठ जेपी मिश्र ठ्ठ ब्रजेश कुमार शर्मा
2-सरस्वती सम्मान- ठ्ठ डॉ. अमित सरकार ठ्ठ दीपक श्रीवास्तव ठ्ठ डॉ. संत शरण मिश्र ठ्ठ डॉ. शिवराज सिंह ठ्ठ डॉ. हृदय शंकर सिंह ठ्ठ डॉ. कृष्ण कांत शर्मा
3-शिक्षक श्री सम्मान-ठ्ठ डॉ. पूनम टंडन ठ्ठ डॉ. सिकंदर लाल

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका, गिरफ्तार कर सकती है ईडी

  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा- जांच एजेंसी को दस्तावेज दिखाने की जरूरत नहीं, आईएनएक्स मीडिया केस में हुई सुनवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया है और उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया है। अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इस मामले में पूछताछ के लिए पी. चिदंबरम को हिरासत में ले सकती है। कोर्ट का कहना है कि एजेंसी पूर्व वित्त मंत्री को हिरासत में लेकर पूछताछ कर सकती है। चिदंबरम की सीबीआई हिरासत आज खत्म हो रही है।
सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में आदेश दिया है कि ईडी ने क्या दस्तावेज इकट्ठा किए हैं, उन्हें पी. चिदंबरम को दिखाने की जरूरत नहीं है और न ही एजेंसी ने पूर्व वित्त मंत्री से क्या सवाल पूछे हैं उसकी ट्रांसक्रिप्ट कोर्ट को देने की जरूरत है। सूत्रों के मुताबिक ईडी पूर्व वित्त मंत्री को हिरासत में ले सकती है और पूछताछ शुरू कर सकती है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि शुरुआत में ही अंतरिम जमानत दे देना जांच में बाधा पहुंच सकती है। ऐसे में ये मामला अंतरिम जमानत देने के लिए ठीक नहीं है।

उपचुनाव से पहले बसपा में बड़ा बदलाव, तीन नए कोऑर्डिनेटर नियुक्त

  • मुनकाद अली, आरएस कुशवाहा व भीमराव अंबेडकर को मिली नई जिम्मेदारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में आयोजित बैठक में बसपा प्रमुख मायावती ने आज पार्टी संगठन में बड़ा बदलाव किया है। नई व्यवस्था के अनुसार प्रदेश में तीन नए कोऑर्डिनेटर नियुक्त किए हैं। इनमें मुनकाद अली, आरएस कुशवाहा, भीमराव अंबेडकर को कोऑर्डिनेट नियुक्त किया गया है। मायावती के इस कदम को यूपी में 13 विधानसभा के लिए होने वाले उपचुनाव से पहले बसपा के सोशल इंजीनियरिंग से जोडक़र देखा जा रहा है।
ये तीनों कोऑर्डिनेटर पूरे प्रदेश का दौरा करेंगे और अपने-अपने समाज को पार्टी से जोडऩे का काम करेंगे। ये सीधे मायावती को रिपोर्ट करेंगे। महीने में एक बार ग्राउंड रिपोर्ट पर समीक्षा बैठक करेंगे। इसके साथ ही मायावती ने एक बार फिर से मंडलवार कोऑर्डिनेटर व्यवस्था लागू कर दी है। अब तीन मंडल में एक कोऑर्डिनेटर की जगह हर मंडल में एक कॉर्डिनेटर होगा। इस निर्णय के बाद बसपा की अब तक की सबसे बड़ी बैठक खत्म हो गई है। लखनऊ में आयोजित इस बैठक में सभी जिलों के जिला अध्यक्ष, विधानसभा अध्यक्ष, पूर्व सांसद, विधायक व सभी पदाधिकारी मौजूद रहे। पिछले हफ्ते ही बसपा ने उपचुनावों में अकेले लडऩे का ऐलान किया था।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.