न तार न खंभा, पेड़ों पर लगा दिए मीटर कागजों में हो रही बिजली आपूर्ति

  • सौभाग्य योजना के तहत विद्युतीकरण करने में कार्यदायी संस्था ने किया खेल
  • ग्रामीणों का आरोप मीटर लगाने के नाम पर पांच -पांच सौ रुपये भी वसूल ले गए कार्यदायी संस्था के कर्मचारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोंडा। प्रधानमंत्री हर घर सहज बिजली योजना (सौभाग्य योजना) के तहत गांवों में विद्युतीकरण कराए जाने के नाम पर बिजली विभाग के अफसरों व कार्यदायी संस्था के गठजोड़ का एक बड़ा कारनामा सामने आया है। उमरीबेगमगंज थाना क्षेत्र के ऐली परसौली गांव में सौभाग्य योजना के तहत किए गए विद्युतीकरण के कार्य में कार्यदायी संस्था ने न तो खंभे लगाए और न ही तार खींचा। अफसरों से मिलीभगत कर गांव में पेड़ों पर मीटर टांग दिया और कागजों में विद्युतीकरण का काम पूरा दिखा दिया। यही नहीं पेड़ों पर लगाए गए बिजली मीटर के एवज में ग्रामीणों से पांच-पांच सौ रुपये भी वसूल लिए गए। ग्रामीणों ने इसकी जांच कराए जाने की मांग की है।
बिजली की सुविधा के वंचित गांवों में बिजली पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से प्रधानमंत्री हर घर सहज बिजली योजना (सौभाग्य योजना) संचालित है। इसके तहत गांव में न सिर्फ बिजली की रोशनी पहुंचाई जानी है बल्कि यहां रहने वाले परिवारों के घरों में मीटर लगाकर उन्हें बिजली का कनेक्शन भी उपलब्ध कराया जाना है। योजना के तहत उमरीबेगमगंज थाना क्षेत्र के ऐली परसौली गांव को कुछ माह पहले बिजली से रोशन किए जाने की कवायद शुरू हुई थी। विद्युतीकरण के लिए गांव में न तो खंभे लगाए गए और न ही तार खींचा गया। कनेक्शन देने के नाम पर गांव के लोगों के घरों के बाहर पेड़ों पर बिजली के मीटर टांग दिए गए और कागजों में इस काम को पूरा दिखा दिया गया। मीटर लगाए जाने के एवज में गांव के गरीब परिवारों से कर्मचारियों ने रुपये भी वसूल लिए। गांव की माया देवी, सोतहा, दूधनाथ, पुल्लू, रूपा व रेखा ने इसे गांव के लोगों के साथ विश्वासघात बताते हुए इसका जांच कराए जाने और लापरवाह अफसरों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

बाढ़ प्रभावित है गांव

उमरीबेगमगंज थाना क्षेत्र का ऐली परसौली गांव घाघरा नदी के किनारे बसा है और यह बाढ़ प्रभावित गांवों में से एक है। यहां के अधिकतर ग्रामीणों के पास छप्पर का ही आशियाना है। गांव के लोगों का कहना है कि गांव में बिजली पहुंच जाती तो उनकी मुश्किलें कुछ आसान हो जाती लेकिन बिजली लगाने के नाम पर उनके साथ धोखा किया गया।

पेड़ों पर बिजली के मीटर लगाना गंभीर मामला है। ऐली परसौली गांव में किस कार्यदायी संस्था ने काम किया है और कितना कार्य कराया गया है इसकी पूरी जानकारी मांगी जा रही है। इसकी जांच अधिशाषी अभियंता से कराई जाएगी और जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-रामस्वरूप, अधीक्षण अभियंता, विद्युत वितरण खंड, गोंडा

 

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.