लखनऊ से पाकिस्तानी दुश्मनों पर निगरानी रखने की तैयारी

  • एयरफोर्स मेमौरा वायुसेना स्टेशन से घुसपैठियों को करेगा बेनकाब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारतीय वायुसेना अब लखनऊ के मेमौरा वायुसेना स्टेशन से दुश्मन देशों के विमानों की घुसपैठ पर सीधी कार्रवाई कर सकेगी। पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के भारतीय क्षेत्र में घुसने, ड्रोन, माइक्रोलाइट विमान और गुब्बारे तक की सीधी तस्वीर अब वायुसेना अपने ऑपरेशनल रूम को दे सकेगी। मेमौरा वायुसेना स्टेशन के इंटीग्रेटेड एयर कमांड एंड कंट्रोल सिस्टम (आईएसीसीएस) को वायुसेना ने ऑपरेशनल कर दिया है। देश के सभी वायुसेना स्टेशन के रडारों से जुड़ा मेमौरा वायुसेना स्टेशन यह तय कर सकेगा कि देश में किस हिस्से से वायुसेना को जवाबी कार्रवाई करनी है। यह प्रणाली मल्टी ऑपरेशन करने में भी अहम भूमिका निभाएगी।
देश की महत्वपूर्ण मध्य वायुकमान ने मेमौरा वायुसेना स्टेशन को वायुसेना के आईएसीसीएस के लिए चुना था। पिछले साल इस प्रणाली को लगाकर इसका परीक्षण शुरू किया गया था। वायुसेना ने परीक्षण के बाद इसकी तकनीक को अपग्रेड करते हुए इसे ऑपरेशनल कर दिया। अब मेमौरा का यह सिस्टम देश में वायुसेना के सभी रडार से जुड़ गया है। यह सिस्टम मिसाइल हमलों के दौरान भी कार्रवाई करने में सक्षम है।
दरअसल, भारतीय वायुसेना में आईएसीसीएस को 2009 में शामिल किया गया था। मेमौरा वायुसेना स्टेशन में लगी इसकी उन्नत तकनीक को भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ने विकसित किया है।

पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के भारतीय क्षेत्र में घुसने, ड्रोन, माइक्रोलाइट विमान और गुब्बारे तक की सीधी तस्वीर अब वायुसेना अपने ऑपरेशनल रूम को दे सकेगी।

ऐसे काम करेगी प्रणाली

जानकारों के मुताबिक अब मेमौरा वायुसेना स्टेशन से यह तय किया जा सकेगा कि देश के भीतर आए दूसरे देश के विमानों को कहां से और कौन सा भारतीय विमान भगाने की कार्रवाई करेगा। यह सिस्टम मिसाइल को भी कारगर तरीके से संचालित करने में सक्षम है। इससे निर्धारित लक्ष्य को भेदने में मदद मिलेगी। वायुसेना के साथ देश के सभी एयरपोर्ट के राडार भी इस प्रणाली से नियंत्रित होंगे।

भाजपा विधायक पंकज सिंह ने दादी की रसोई में गरीबों को खिलाया खाना

  • समाज सेवी अनूप खन्ना समेत कई लोगों ने की शिरकत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नोएडा। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रिमंडल का जिस समय विस्तार किया जा रहा था। उस समय हाईटेक सिटी नोएडा विधानसभा में भाजपा विधायक पंकज सिंह गरीब लोगों को खाना खिला रहे थे। दादी की रसोई के चार साल पूरे होने पर बुधवार को विधायक पंकज सिंह ने समाजसेवी अनूप खन्ना के साथ गरीबों को खाना खिलाया। इस दौरान उन्होंने गरीबों को कपड़े भी भेंट किये।
सीएम योगी के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर लोगों को आस थी कि इस बार पंकज सिंह को भी कैबिनेट में जगह मिलेगी, लेकिन योगी के मंत्रिमंडल में शामिल विधायकों की लिस्ट बाहर आने पर समर्थकों के साथ ही विधानसभा क्षेत्र के लोग भी मायूस हो गये। आमतौर पर ऐसी स्थिति में विधायक दो चार दिन के लिये लोगों से नहीं मिलते क्योंकि निराशा होती है पर पंकज सिंह पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा और कैबिनेट विस्तार के समय वह गरीबों को खाना खिलाने में व्यस्त थे। पंकज सिंह का यही स्टाइल उनको नोएडा में एक खास पहचान दिलाता है, जिसके लोग मुरीद रहते हैं। वहीं कैबिनेट विस्तार की खबरों से दूर पंकज सिंह गरीबों को खाना खिला रहे थे। उन्होंने नोएडा में दादी की रसोई चलाने वाले अनूप खन्ना के साथ ही एक स्टॉल शुरू कराया था। इसका खर्च वह खुद वहन करते हैं। इसमें भी गरीबों को पांच रुपये में पेट भर खाना दिया जाता है।

दलितों की भावनाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे: प्रियंका

  • कहा, दिल्ली में संत रविदास मंदिर के पुनर्निर्माण की मांग हो पूरी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। दिल्ली में संत रविदास मंदिर के पुनर्निर्माण की मांग को लेकर दलित संगठनों के प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज कहा कि इस वर्ग की भावनाओं का आदर किया जाना चाहिए।
प्रियंका के मुताबिक भाजपा सरकार पहले करोड़ों दलित बहनों-भाइयों की सांस्कृतिक विरासत के प्रतीक रविदास मंदिर स्थल से खिलवाड़ करती है और जब दिल्ली में हजारों दलित भाई-बहन अपनी आवाज उठाते हैं तो भाजपा उन पर लाठी बरसाती है, आंसू गैस चलवाती है, गिरफ्तार करती है। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि दलितों का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भाजपा सरकार पहले करोड़ों दलित बहनों-भाइयों की सांस्कृतिक विरासत के प्रतीक रविदास मंदिर स्थल से खिलवाड़ करती है और जब इसके विरोध में देश की राजधानी में हजारों दलित भाई-बहन अपनी आवाज उठाते हैं तो भाजपा उन पर लाठी बरसाती है, उन पर आंसू गैस के छोड़े जाते हैं, उन्हें गिरफ्तार किया जाता है। प्रियंका गांधी ने कहा,दलितों की आवाज का यह अपमान बर्दाश्त से बाहर है। यह एक जज्बाती मामला है और उनकी आवाज का आदर होना चाहिए।

सीबीआई ने जेल प्रशासन से मांगे अतीक अहमद से जुड़े कागजात

  • देवरिया जेल के बंदियों से भी अतीक के बारे में ली जानकारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गोरखपुर। बाहुबली अतीक अहमद द्वारा देवरिया जिला जेल में लखनऊ के रियल एस्टेट कारोबारी की हुई पिटाई के मामले की जांच कर रही सीबीआई की टीम आज सुबह ही जेल पहुंच गई। इस दौरान टीम ने अतीक से जुड़े कुछ कागजात जेल प्रशासन से मांगे और बंदी रक्षकों व कुछ बंदियों से भी बातचीत की। सीबीआई की टीम लगभग दो घंटे तक जेल में जमी रही। सीबीआई के जेल से जाने के बाद जेल प्रशासन ने राहत की सांस ली।
अतीक के मामले की गहराई से जांच कर रही सीबीआई किसी भी बिंदु को छोडऩा नहीं चाह रही है। इसीलिए सीबीआई की टीम सुबह ही जेल पहुंच गई। जेल प्रशासन से अतीक के बारे में कुछ कागजात मांगे। इसके बाद कुछ कैदियों से बातचीत की । जेल में अतीक के समय होने वाली घटनाओं के बारे में भी जानकारी ली। सूत्रों का कहना है कि कुछ कैदियों ने तो जेल के अंदर होने वाले अनेकों खेलों के राज भी उगल दिए हैं। हालांकि इसकी पुष्टि जेल प्रशासन अभी नहीं कर रहा है। लेकिन सिर्फ जेल प्रशासन की बातों पर सीबीआई को यकीन नहीं है। इसलिए अतीक के साथ बैरक में रहने वाले कुछ बंदियों के बारे में भी सीबीआई ने डिटेल ली है, जो अब अपने घर चले गए हैं।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.