भारतीय राजनीति के शिखर पुरुष अटल के नाम पर खोलेंगे मेडिकल यूनिवर्सिटी: योगी

  • स्वर्णिम चतुर्भुज योजना व सर्वशिक्षा अभियान की रखी थी आधारशिला
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि
  • जयंती पर लोकभवन में वाजपेयी की 25 फीट ऊंची प्रतिमा का होगा लोकार्पण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर आज देश उनको नमन कर रहा है। लोकभवन में यूपी सरकार ने श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने छह दशक तक मूल्यों की राजनीति की। देशहित में कठोर फैसले लेने वाले अटल जी संवेदनशील कवि भी थे। वे भारतीय राजनीति के शिखर पुरुष थे। उनका व्यक्तित्व बहुआयामी और प्रेरक है। उनके नाम पर सरकार लखनऊ में मेडिकल यूनिवर्सिटी खोलेगी।
उन्होंने कहा कि अटल जी ने अपनी कविताओं के माध्यम से हम सब को बहुत कुछ सिखाया है। आदमी न बड़ा होता है, न छोटा है, आदमी सिर्फ आदमी होता है। जिस जम्मू-कश्मीर के बारे में अटल जी ने अपने कविताओं के माध्यम से बताया था वहां से अनुच्छेद 370 का खत्म होना उनको सबसे बड़ी श्रद्धांजलि है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जब एक देश, एक निशान, एक विधान की बात कही थी तो अटल जी भी उस बात पर अटल रहे। पीएम मोदी ने एक साल के अंदर अनुच्छेद 370 हटाकर अटल जी को सच्ची श्रद्धांजलि दी। 25 दिसंबर को उनकी जयंती पर 25 फुट ऊंची प्रतिमा का लोकार्पण लोकभवन में होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिकों के बच्चों के लिए प्रदेश सरकार 18 आवासीय विद्यालय खोलने जा रही है। अटल जी ने विकास की अलग पटकथा लिखी थी। आज जो गांव-गांव तक सडक़ें हैं वे अटल जी की सोच का नतीजा हैं। अटल जी की सोच से पीएम मोदी प्रेरणा लेकर चल रहे हैं। उन्होंने स्वर्णिम चतुर्भुज योजना, सर्वशिक्षा अभियान आदि की आधारशिला रखी। इनके साथ ही मेट्रो रेल के संचालन में उनके कार्यकाल में नए कीर्तिमान स्थापित किए गए। उन्होंने कहा कि अटल जी के लिए राष्टï्रहित सर्वोपरि था। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि अटल जी ने जो सपना देखा था वह पीएम मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री शाह के नेतृत्व में साकार हो रहा है। डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कहा कि अटल जी सशरीर भले न हों, पर वे अपने विचारों से हमारे बीच हैं। इस मौके पर विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में संस्मरण सुनाए।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा के तमाम बड़े नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि पर जाकर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह आज सुबह वाजपेयी के स्मारक स्थल सदैव अटल गये और श्रद्धा सुमन अर्पित कर प्रार्थना सभा में शामिल हुए।

आजम के रिजॉर्ट पर चला बुलडोजर, ढहाई गई दीवार

  • बडक़ुसिया नाले की जमीन पर किया गया था कब्जा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। रामपुर से सांसद और सपा के कद्दावर नेता आजम खान पर जिला प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है। आज आजम खान के हमसफर रिजॉर्ट की दीवार तोड़ दी गई क्योंकि सिंचाई विभाग के नाले पर होटल की दीवार बनी हुई थी। कई बार इस संबंध में नोटिस देने के बावजूद भी आजम चुप थे। मौके पर भारी सुरक्षाबल की मौजूदगी में कार्रवाई की गई। रामपुर के जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिह ने बताया कि हमसफर रिजॉर्ट में 1000 गज जमीन पर कब्जा किया गया है। यह जमीन पसियापुरा शुमाली से बडक़ुसिया नाले की है। नाले पर कब्जे से पानी निकासी में दिक्कत हो रही है। सिचाई विभाग की ओर से पूर्व में अवैध कब्जा हटाने के लिए नोटिस दिया गया था, जिसमें कहा गया था कि यदि इसे नहीं हटाया गया तो बुलडोजर से तोड़ दिया जाएगा।

पाकिस्तान में खूब सुना गया पीएम मोदी का भाषण

  • इंटरनेट पर पाकिस्तानियों ने सर्च किया प्रधानमंत्री का संबोधन
  • स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में पीएम ने नहीं लिया पाक का नाम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। अनुच्छेद 370 की समाप्ति और जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश घोषित किए जाने के बाद स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से होने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर दुनियाभर की नजरें टिकीं थीं। खासतौर पर पाकिस्तान के लोगों की निगाहें पीएम के संबोधन पर थीं। पीएम मोदी ने अपने भाषण में पाकिस्तान का नाम नहीं किया, इसके बावजूद पाकिस्तानियों ने पीएम मोदी के भाषण को यूट्यूब पर खूब देखा और सुना। गुरुवार की रात साढ़े आठ बजे गूगल ट्रेंड से पता चला कि खैबर पख्तूनख्वा, इस्लामाबाद, सिंध, पंजाब, बलूचिस्तान में नरेंद्र मोदी, मोदी, मोदी स्पीच टुडे कीवर्ड से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को यूट्यूब पर खूब सर्च किया गया। इस्लामाबाद और खैबर पख्तूनख्वा के लोगों में पीएम मोदी के भाषण को लेकर 100 फीसद उत्सुकता दिखी। पीएम मोदी ने अपने 92 मिनट लंबे भाषण में एक बार भी पाकिस्तान का नाम नहीं लिया था।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.