आम लोगों के लिए दो दिन खुला रहेगा राजभवन: आनंदी बेन पटेल

  • राज्यपाल ने राजभवन के अधिकारियों के साथ की बैठक

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की नई राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने पहले दिन राजभवन के सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी विभागों की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने आम जनता के लिए राजभवन के दरवाजे सप्ताह में दो दिन मंगलवार और गुरुवार को शाम 4 से 6 बजे तक खुले रखने के निर्देश दिए। ताकि आम नागरिक अपने परिवार के साथ राजभवन का भ्रमण कर सकें। साथ ही राजभवन में कार्यरत पांच लाख से कम आय वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मी, संविदा कर्मी तथा दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को आयुष्मान योजना के कार्ड बनवाने के निर्देश दिए हैं।
राज्यपाल ने अधिकारियों के साथ बैठक कर अपना कार्य और अधिक अच्छे से करने के लिए कुछ सुझाव भी दिए। इसके साथ ही छोटी-छोटी बातों पर ध्यान आकर्षित करते हुए अपने अनुभव भी साझा किए। उन्होंने शिक्षा एवं उच्च शिक्षा से संबंधित मामले, चिकित्सा, उद्यान, गोशाला, राजभवन को प्राप्त होने वाले पत्रों आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। यह सलाह दी कि चिकित्सक राजभवन के कर्मचारियों के बच्चों के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। वहीं राजभवन का भ्रमण करने आने वाले आगंतुकों के लिए अपना फोटोयुक्त पहचान पत्र लाना अनिवार्य कर दिया गया है।

बच्चों को किया पुरस्कृत

राज्यपाल आनंदी बेन से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजभवन पहुंचकर मुलाकात की। उन्हें राज्य के वर्तमान राजनीतिक हालातों एवं शासन से जुड़ी घटनाओं से अवगत कराया। इसके बाद राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने राजकीय बालगृह (शिशु) से राजभवन आमंत्रित किए गए बच्चों को चित्रकला की पुस्तक, रंगीन पेंसिल, ट्राइसाइकिल, बच्चों की साइकिल, छोटे बच्चों के लिए वाकर, गेंद व खाने की वस्तुएं भेंट स्वरूप प्रदान कीं।

बिजली चोरों पर कार्रवाई में बाधक बना इंटरनेट

  • एफआईआर दर्ज कराने का काम भी ठप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बिजली चोरी पकडऩे के लिए बनीं मध्यांचल की विजिलेंस टीमें एक महीने से इंटरनेट सेवा ठप होने से परेशान हैं। ये टीमें बिजली चोरी के मामले तो लगातार पकड़ रही हैं, लेकिन इंटरनेट बंद होने से कार्रवाई का ब्योरा आला अफसरों तक नहीं पहुंच पा रहा और न ही इन मामलों में एफआईआर दर्ज हो पा रही है।
राजधानी में बिजली चोरी पकडऩे लिए पांच सदस्यीय तीन विजिलेंस टीमें तैनात हैं। इनकी कार्रवाई का ब्योरा दर्ज करने के लिए बाकायदा रेड मैनेजमेंट पोर्टल (आरएमएस) बना है। जून में इन टीमों ने लेसा के इलाके में 89 जगह छापा मारा। इस दौरान 31 जगह बिजली चोरी पकड़ी और एफआईआर के लिए तहरीर दी, लेकिन इंटरनेट ठप होने के कारण एक महीने से पोर्टल पर इसका ब्योरा अपडेट नहीं हो सका है। ऐसे में टीमों की तहरीर के बाद भी लेसा प्रशासन की ओर से अब एफआईआर दर्ज नहीं करवाई जा सकी है।

Loading...
Pin It

Comments are closed.