अमित शाह ने यूपी को एक ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनाने की रखी नींव

  • ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में जुटे दिग्गज उद्योगपतियों का यूपी पर भरोसा बढ़ा
  • राज्य का नया स्लोगन बना ‘यूपी में काम नहीं किया तो इंडिया में काम नहीं किया’

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केंद्र सरकार में गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन (10 खरब) डॉलर की इकॉनमी बनाने की नींव रख दी है। उन्होंने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में 290 कंपनियों की 65 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। दावा है कि इससे प्रदेश में तीन लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिलेगा। राज्य सरकार ने सभी परियोजनाओं को दो साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा है।
शाह ने निवेशकों से यूपी में अधिक निवेश की अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार यूपी के विकास में हरसंभव मदद करेगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि योगी सरकार निवेशकों के हर मानक पर खरी उतरेगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी उद्योगपतियों को दुनिया के सबसे बड़े बाजार में निवेश करने का निमंत्रण दिया। देशभर के शीर्ष उद्योगपतियों ने भी यूपी में निवेश के लिए बदलते माहौल पर मुहर लगाई और भविष्य में कई और बड़ी परियोजनाएं लगाने का ऐलान किया। सीएम योगी ने कहा कि जब सरकार संभाली थी तब हम लोगों के पास प्रशासन का अनुभव नहीं था, क्योंकि बीजेपी 20 साल बाद सत्ता में लौटी थी। इस दौरान जब कभी चुनौती आई तो हमने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बात की। उनमें हर कार्यक्रम को लक्ष्य तक पहुंचाने का भाव और संवेदना दिखती है। यूपी सरकार विकास की जिस राह पर आगे बढ़ रही है वह शाह की सोच का ही नतीजा है। योगी ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में यूपी की जो छवि बनी थी उसे हमारी सरकार ने पूरी तरह से बदला है। उद्योगपतियों को सुरक्षा और सुविधा देने के लिए सरकार वचनबद्ध है। यह भी कहा कि 2024 तक यूपी 1 ट्रिलियन डॉलर के साथ देश के विकास में अहम भूमिका निभाएगा। जल्द ही यूपी सरकार ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-3 भी करवाएगी।

चर्चा में टैगलाइन.

ेग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में विभिन्न क्षेत्रों के लिए लोगों ने यूपी को अलग-अलग टैगलाइन से नवाजा। इसमें यूपी पर्यटन की टैगलाइन है ‘यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा।‘ सेरेमनी में बदलाव से खुश दिखे निवेशकों, उद्योगपतियों ने नई टैगलाइन दे डाली। मेदांता ग्रुप के चेयरमैन नरेश त्रेहन ने कहा ‘यूपी में काम नहीं किया तो इंडिया में काम नहीं किया।’ यूपी पर्यटन की टैगलाइन लिखने वाले प्रसून जोशी ने कहा ‘यूपी में फिल्म नहीं बनाई तो इंडिया में फिल्म नहीं बनाई।’

मुख्यमंत्री ने 100 कंपनियों को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 के दौरान प्रदेश में निवेश करने वाली 100 कंपनियों को सम्मानित किया। इसमें वीगो मोबाइल, टोरंट गैस प्राइवेट लिमिटेड, लावा मोबाइल व सैमसंग जैसी कंपनियां शामिल रहीं। इसके अलावा अडानी एनर्जी लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड, पेप्सीको समेत प्रमुख कंपनियों को सम्मानित किया गया। सीएम ने आदित्य बिड़ला ग्रुप से वाइस प्रेसीडेंट उत्कर्ष रंघुवंशी को सम्मानित किया।

योगी को मजबूती दे गये शाह

अमित शाह ने ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में योगी की जमकर तारीफ की और एक बेहतर मुख्यमंत्री के रूप में उभरेे योगी को और अधिक मजबूती दे गये। उन्होंने कहा कि जब योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री बनाने का निर्णय लिया गया तो कई लोगों के फोन आए कि उनके पास प्रशासनिक अनुभव नहीं है, लेकिन हमें विश्वास था कि निष्ठा के साथ काम और परिश्रम करने वाला व्यक्ति बड़े से बड़ा लक्ष्य पा सकता है। योगी हमारे इस विश्वास पर खरे उतरे। शाह ने कहा, तीन साल पहले तक यूपी में कोई उद्योगपति आने को तैयार नहीं था, लेकिन सत्ता संभालते ही मुख्यमंत्री योगी ने सूबे की कानून-व्यवस्था को प्राथमिकता के आधार पर चुस्त-दुरुस्त किया। इसके लिए उनकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है। जिस तरह से पीएम बनने का रास्ता लखनऊ से होकर गुजरता है, उसी तरह भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर बनाने का रास्ता भी यहां से होकर जाएगा।

इन क्षेत्रों में होगा सर्वाधिक निवेश

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में जिन 65 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ उनमें सबसे ज्यादा निवेश इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में आया। इस सेक्टर में 33 कंपनियों की 18,981 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ। इसमें सबसे बड़ा निवेश वीवो मोबाइल्स ने किया। वीवो प्रदेश में 7,429 करोड़ रुपये के निवेश से यूनिट लगाएगी। वहीं रिन्यूबल एनर्जी सेक्टर में 31 कंपनियों की 10,600 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ। इंफ्रास्ट्रक्चर में 7,217 करोड़, जबकि हाउसिंग सेक्टर में 6,402 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की शुरुआत हुई।

यूपी में फिल्म निर्माण के लिए बेहतर माहौल: अवनीश अवस्थी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में टूरिज्म और फिल्म का सेशन भी आयोजित हुआ। इस सेशन को संबोधित करते हुए अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि प्रदेश में फिल्म निर्माताओं को फिल्म निर्माण के लिए बेहतर माहौल और सुविधाएं मिलेंगी। वाराणसी में फिल्म सिटी के लिए भूमि चिन्हित की जा चुकी है। उत्तर प्रदेश फिल्म निर्माण की दृष्टि से एक बड़े हब के रूप में अपनी पहचान बना रहा है।
अपर मुख्य सचिव ने कहा कि फिल्म बंधु उत्तर प्रदेश एक नोडल एजेन्सी के रूप में अपना योगदान दे रही है। ये एजेन्सी प्रदेश में फिल्म निर्माण संबंधी सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराती है। प्रदेश में फिल्म क्षेत्र के दीर्घकालिक और अर्थपूर्ण विकास के लिए एक फिल्म निर्माण परिषद् भी बनाया गया है। जो प्रदेश में शूटिंग करने वालों को प्रोत्साहन के लिए 50 लाख तक अनुदान देगा। इस दौरान सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन के चेयरमैन प्रसून जोशी, फिल्म विकास परिषद् के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव,फिल्म निर्माता-निर्देशक सुभाष घई, फिल्म निर्माता बोनी कपूर, अभिनेता दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ ने फिल्म निर्माण से जुड़े अपने सुझावों से लोगों को अवगत कराया। बोनी कपूर ने अजय देवगन को लेकर बनायी जा रही अपनी आगामी फिल्म की शूटिंग उत्तर प्रदेश में करने की घोषणा की। सेशन के अंत में निदेशक सूचना शिशिर ने सभी आगंतुकों को सेशन में प्रतिभाग करने और सुझावों से अवगत करने के लिए धन्यवाद दिया।

 

Loading...
Pin It

Comments are closed.