भाजपा के पास बताने के लिए कोई उपलब्धि नहीं: अखिलेश

  • कहा, प्रदेश में बिगड़ते हालात पर ध्यान नहीं दे रही सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा के पास गिनाने को न तो विकास कार्य हैं और न ही बताने के लिए कोई उपलब्धि है। इसीलिए वे बहकी-बहकी बातें करने लगे हैं। भाजपा के लोग अपनी सरकार में बिगड़ते हालात पर ध्यान देने के बजाय समाजवाद और समाजवादियों को लेकर अधिक चिंतित रहते हैं।
सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा का राजनीतिक एजेण्डा संविधान से इतर समाजवादी व्यवस्था के विरूद्ध है। समाज में नफरत और दूरी पैदा करने की भाजपा की लगातार कोशिश रहती है। भाजपा का मातृ संगठन आरएसएस की विचारधारा असहिष्णुता का पाठ पढ़ाती है। भाजपा का गांधीजी, सरदार पटेल, आचार्य नरेन्द्र देव, लोकनायक जयप्रकाश नारायण और डॉ. लोहिया की विचारधारा से कभी कोई सम्बंध नहीं रहा है। ये सभी स्वतंत्रता सेनानी थे जबकि आरएसएस स्वतंत्रता आंदोलन का कभी हिस्सा नहीं बना था। जबकि भारत के संविधान में जहां पंथनिरपेक्षता और लोकतंत्र है वहीं समाजवाद का भी उल्लेख है। इस समाजवादी विचारधारा को आगे बढ़ाने का काम समाजवादी पार्टी कर रही है। जो समाज के सबसे गरीब, शोषित और वंचित वर्ग की आवाज बन गई है। विशेषाधिकार प्राप्त लोग ही इसमें जातिवाद ढूंढते हैं। यह पूरी तरह से योजनाबद्ध ढंग से प्रचारित झूठ है। इसका फायदा खास वर्ग को मिलता रहे इसलिए भाजपा यह भ्रांति फैलाती है। यह भी कहा कि अब जनता भाजपा की सच्चाई जान गई है। जनभावना के विपरीत भाजपा की साजिश लोकतंत्र के विरूद्ध है। गरीबी, बेकारी, किसानों की दुर्दशा, नौजवानों की बेकारी इनके समाधान की कहीं कोई चर्चा नहीं है। यह जनता की आशाओं पर कुठाराघात है। भाजपा दीवारों पर लिखे को मिटाने की जो कोशिश कर रही है, अंततोगत्वा वह उसके लिए ही घातक साबित होगी।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में होगा 225 प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास: सतीश महाना

  • कहा, प्रदेश में 60 हजार करोड़ का निवेश होने की उम्मीद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 के आयोजन की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने 28 और 29 जुलाई को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में 60,000 करोड़ रुपये के 215 प्रॉजेक्ट का शिलान्यास होने की उम्मीद जताई है। इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने स्टीयरिंग कमेटी के साथ बैठक कर तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
सतीश महाना ने बताया कि सेरेमनी के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत 10 उद्योगपतियों का संबोधन होगा। इनमें आदित्य बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला, अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के आनंद महिन्द्रा, पेप्सिको इंडिया के सीईओ अहमद ईएल शेख, आईटीसी के चीफ एक्जिक्यूटिव राजीव पुरी, टाटा संस के एन चन्द्रशेखरन, सैमसंग इंडिया के प्रेसिडेंट एससी हांग समेत कई बड़े उद्योगपति शामिल होंगे। इस सेरेमनी में 11 सत्र होंगे। इनमें फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्री, पावर एंड रिन्युएबल एनर्जी, टूरिज्म एंड फिल्म, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, आईटी, स्मार्ट सिटी, डिफेंस एंड एयरोस्पेस, फार्मा से जुड़े सत्र आयोजित किए जाएंगे।

Loading...
Pin It