रोगियों और चिकित्सकों पर मंडरा रहा खतरा अस्पतालों में पल रहे डेंगू के लार्वा

  • स्वास्थ्य विभाग के आदेश के बावजूद बरती जा रही लापरवाही
  • जांच से हुआ खुलासा, पिछले वर्ष कई डॉक्टर आ चुके हैं चपेट में

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक ओर स्वास्थ्य विभाग डेंगू की रोकथाम के लिए कवायदें कर रहा है वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य केंद्रों से लेकर नामचीन अस्पतालों तक में साफ-सफाई के नाम पर लापरवाही बरती जा रही है। जांच में स्वास्थ्य विभाग की टीम को कई अस्पतालों में डेंगू मच्छर के लार्वा मिले हैं। इससे मरीजों और चिकित्सकों के इस रोग की चपेट में आने की आशंका बढ़ गई है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग ने सभी अस्पतालों को चेतावनी जारी की है।
शहर के तमाम सरकारी अस्पताल खुद बीमार हंै। स्वास्थ्य विभाग के आदेश के बावजूद यहां साफ-सफाई नहीं की जा रही है। सफाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है। यह लापरवाही तब उजागर हुई जब स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन अस्पतालों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में राजधानी के आठ अस्पतालों में डेंगू मच्छर के लार्वा मिले हैं। इनकी चपेट मरीज, तीमारदार और चिकित्सक सभी आ सकते हैं। दरअसल, पिछले दिनों सीएमओ

यहां मिले लार्वा
राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान, लोहिया संयुक्त अस्पताल, वीरांगना अवंतीबाई महिला अस्पताल (डफरिन), टूडिय़ागंज स्थित राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय, नगरीय स्वास्थ्य केंद्र, नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अलीगंज, सीएमएसडी स्टोर अलीगंज व एमएमटीसी प्रशिक्षण केंद्र अलीगंज में डेंगू के लार्वा मिले हैं।

इनका रखें ध्यान

ड्ड डेंगू का मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपता है।
ड्ड घरों और आसपास के इलाके में पानी न जमा होने दें।
ड्डकूलर में भरा पानी 2 से 3 दिन बाद जरूर बदल दें।
ड्ड एंटी लार्वा का छिडक़ाव करवाएं।
ड्ड पानी में केरोसीन या फिनायल डालकर नियमित पोछा लगाएं।
ड्ड पूरे शरीर को ढंक कर रखे, शॉट्र्स से परहेज करें।
ड्ड मच्छर गाढ़े रंग की ओर आकर्षित होते हैं इसलिए हल्के रंग के कपड़े पहनें।
ड्ड तेज महक वाली परफ्यूम से बचें क्योंकि मच्छर तेज महक की तरफ आकर्षित
होते हैं।
ड्ड सोने से पहले हाथ-पैर और शरीर के खुले हिस्सों पर विक्स लगाएं।
ड्ड मच्छरों को भगाने और मारने के लिए गुग्गुल जलाएं।

 

Loading...
Pin It

Comments are closed.