मायावती आईं उपचुनाव जीतने के मोड में

  • संगठन को मजबूत करने के लिए बनाई हर मंडल की टीम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को देखते हुए मंगलवार को नौ मंडलो के नेताओं के साथ बैठक की। मायावती ने संगठन को और मजबूत करने के लिए हर मंडल की टीम बनाई है, साथ ही हर टीम में चार से पांच लोगों को रखा गया है। इसके साथ ही विधान सभा उप चुनाव के लिए जिलाध्यक्ष व प्रभारियो से उम्मीदवारों के नाम भी मांगे गए है।
गौरतलब है की 2019 का लोकसभा चुनाव बसपा और सपा ने साथ मिलकर लड़ा था। इस चुनाव में बीएसपी ने 10 सीटों पर जीत हासिल की थी। जबकि सपा को 5 सीटों पर जीत मिली थी। चुनाव नतीजों के बाद बसपा ने सपा से रिश्ते खत्म कर लिए थे। मायावती ने आरोप लगाया था कि यूपी के यादव वोटों का ट्रांसफर उनकी पार्टी को नहीं हो पाया था। मायावती ने कहा था कि अब बसपा अपने दम पर दलित मूवमेंट को उत्तर प्रदेश में खड़ा करेगी।

सरकार पर साधा निशाना

मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार में आमजनता परेशान है। उसका जीवन काफी त्रस्त है। बदतर कानून-व्यवस्था की शिकार केवल गरीब जनता ही नहीं बल्कि सर्वसमाज के लोग भी हैं। राज्य में कोई वर्ग सुरक्षित नहीं है। सरकारी कर्मचारी व पुलिस तक भी सुरक्षित नहीं हैं। महिला अत्याचार, दलित उत्पीडऩ, राजनीतिक हत्यायें व मुस्लिम समाज पर अन्याय-अत्याचार व हत्या आदि तो अब आम बात हो गई है। अपराधियों के दिल से कानून का डर निकल चुका है। उन्हें हर प्रकार का सरकारी संरक्षण प्राप्त है।

अनुप्रिया पटेल बनीं अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष

  • सोनेलाल पटेल की जयंती पर संभाली नई जिम्मेदारी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अपना दल के संस्थापक सोनेलाल पटेल की जयंती के अवसर पर मंगलवार को इंदिरागांधी प्रतिष्ठान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री व मीरजापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल को अपना दल (एस) का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। इससे पहले उनके पति एमएलसी आशीष पटेल इस जिम्मेदारी को संभाल रहे थे।
अपना दल ने सोनेलाल पटेल की जयंती को जन स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाया। इस दौरान अनुप्रिया पटेल ने संघ लोक सेवा आयोग की तर्ज पर अखिल भारतीय न्यायिक सेवा के गठन की मांग रखी। उन्होंने कहा कि आजादी के 72 साल बाद भी न्यायपालिका में आरक्षित वर्ग के न्यायाधीशों की संख्या काफी कम है। वहीं, पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति व जनजाति से जुड़े मामले कोर्ट में सबसे ज्यादा हैं। अनुप्रिया पटेल ने दलितों व अन्य पिछड़ी जातियों के एकजुट होने का आह्वान किया। आशीष पटेल ने भी सभा में उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।
इस मौके पर राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष ओपी कटियार, कारागार राज्य मंत्री जय कुमार सिंह जैकी, विधानमंडल दल के नेता नीलरतन पटेल, दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री रेखा वर्मा व अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। आशीष पटेल ने सोनेलाल पटेल की जयंती के मौके पर छह अनाथ बच्चियों को सोनेलाल फाउंडेशन की तरफ से स्कॉलरशिप देने की घोषणा की। इसमें तीन बच्चियां अनुसूचित जाति की और तीन अन्य पिछड़ा वर्ग की होंगी।

Loading...
Pin It

Comments are closed.