रक्तदान से पहले व बाद में क्या करें और क्या नहीं

हर साल 14 जून को वल्र्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। इसे ऑस्ट्रियाई जीवविज्ञानी और भौतिकीविद कार्ल लेण्डस्टाइनर की याद में मनाया जाता है। दरअसल उन्होंने ही ब्लड में मौजूद ब्लड ग्रुप का वर्गीकरण किया था। आंकड़ों के मुताबिक, भारत में सालाना 1 करोड़ ब्लड यूनिट की जरूरत पड़ती है। इसलिए समय-समय पर ब्लड डोनेट यानी रक्तदान करते रहना चाहिए। रक्तदान करने से न सिर्फ हार्ट संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है बल्कि डोनेट किए जाने वाले ब्लड की भरपाई कुछ ही देर में हो जाती है।
लेकिन क्या आप जानते हैं कि ब्लड डोनेट करने से पहले और डोनेट करने के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं। आइए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं।

Loading...
Pin It