ग्राम्य विकास की तबादला नीति लागू करें सभी विभाग: योगी

  • परफारर्मेंस इंडीकेटर के आधार पर तैयार होगी वार्षिक चरित्र पंजिका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम्य विकास विभाग की तबादला नीति की जमकर सराहना की है। उन्होंने मंगलवार को कैबिनेट बैठक में मौजूद मंत्रियों से कहा कि वे लोग भी अपने विभाग में इसी आधार पर कर्मचारियों व अधिकारियों के तबादलों की व्यवस्था लागू करें। ताकि विभागों में बेहतर काम करने वालों को प्रोत्साहित किया जा सके। जबकि कुछ विभागों में पहले से ही ऐसी व्यवस्था लागू होने को उन्होंने सकारात्मक संकेत के रूप में लिया।
मुख्यमंत्री के समक्ष ग्राम्य विकास विभाग की तबादला नीति का प्रस्तुतीकरण मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने रखा। केन्द्र सरकार की तर्ज पर पहली बार ग्राम्य विकास विभाग में यह व्यवस्था लागू कराई गई है। ग्राम्य विकास विभाग के मंत्री डॉ.महेंद्र सिंह और प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने परफार्मेंस इंडीकेटर तय किये थे। इसमें पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता से तबादले किए जाने की व्यवस्था बनाई गई है। जिसका कड़ाई से पालन किया जा रहा है। गौरतलब है कि ग्राम्य विकास विभाग ने प्रादेशिक विकास सेवा संवर्ग के अधिकारियों का तबादला, तैनाती, दंड और पुरस्कार अब उनके परफार्मेंस पर तय कर रखा है। इसमें पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता का ध्यान रखा गया है। विभाग ने परफार्मेंस इंडीकेटर तय किया है। इस इंडीकेटर के मूल्यांकन को अधिकारियों के वार्षिक चरित्र पंजिका में भी दर्ज किया जाता है। परफार्मेंस इंडीकेटर से योजनाओं के संचालन तथा संबंधित अधिकारियों को तय मानक के आधार पर कार्य में बने रहने या नहीं रहने का निर्धारण किया जाएगा। तत्कालीन ग्राम्य विकास आयुक्त व वर्तमान में आजमगढ़ के डीएम एनपी सिंह ने इसी आधार पर तबादले कराये।

स्पीड रडार रोकेगा ओवर स्पीडिंग

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को सडक़ सुरक्षा परिषद की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि ओवर स्पीडिंग रोकने के लिए हर जिले में स्पीड रडार लगाए जाएं। बिना हेलमेट दोपहिया वाहन चलाने वालों को पेट्रोल न देने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। स्टंट रोकने के अलावा प्रधानाचार्यों की बैठक बुलाकर स्टूडेंट को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि सडक़ों पर ब्लैक स्पॉट चिन्हित कर यह सुनिश्चित हो कि हादसों में घायल लोगों को तत्काल इलाज मिल सके। इसके लिए यूपीडा, उपशा, एनएचएआई और यीडा की एम्बुलेंस सेवाओं को 108 एम्बुलेंस से जोडऩे के भी निर्देश दिए हैं।

सीएम हेल्पलाइन की बाधाएं होंगी दूर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आईटी विभाग के अफसरों को सीएम हेल्पलाइन से जुड़ी तैयारियों को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं। सीएम अगले सप्ताह इसकी समीक्षा करेंगे। उन्होंने ई-टेंडरिंग में आने वाली बाधाओं को दूर करने को कहा है। योगी ने कहा कि राज्य में सभी स्तरों पर ई- गवर्नेंस को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए।

 

Loading...
Pin It