गृहमंत्री अमित शाह चक्रवात ‘वायु’ से निपटने की तैयारियों में जुटे

  • 3 लाख लोगों को पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र के करीब से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है
  • 10 टुकड़ी सेना को गुजरात में राहत और बचाव कार्य के लिए तैनात किया गया
  • गुजरात महाराष्ट्र और गोवा के अधिकारियों के साथ बैठक कर बनाई रणनीति
  • महाराष्ट्र में आज सुबह से चल रहीं तेज हवाएं, तटीय क्षेत्रों में हुआ नुकसान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली। अरब सागर में पैदा हुआ चक्रवाती तूफान ‘वायु’ गुजरात के अब और करीब पहुंच गया है। मौसम विभाग के मुताबिक तूफान कल सुबह तक गुजरात से टकराएगा। तूफान को देखते हुए गुजरात सरकार ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। केंद्र सरकार के गृहमंत्री अमित शाह ने गुजरात, महाराष्ट्र और गोवा के अधिकारियों के साथ बैठक कर चक्रवात से निपटने और तूफान से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित निकालने की रणनीति तैयार कर ली है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज सुबह की बैठक में तूफान से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की और महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा के अधिकारियों को लोगों की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। गुजरात में राहत और बचाव कार्य के लिए सेना की 10 टुकडिय़ों को तैनात किया गया है। पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र के करीब 3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। ‘फानी’ तूफान के दौरान ओडिशा में अपनाई गई आपदा प्रबंधन तकनीक को सीखने और उन्हें लागू करने के लिए गुजरात के संबंधित अधिकारी ओडिशा सरकार के संपर्क में हैं। गुजरात में एनडीआरएफ ने 39 टीमों को पहले से तैनात किया हुआ है। हर टीम में करीब 45 कर्मचारी शामिल हैं। बचाव दल को नावों, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस किया गया है।

जवानों के अवकाश रद्द

मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने गांधीनगर में मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, सेना व आपदा प्रबंधन के अधिकारियों के साथ बैठक कर समु्द्र तटीय जिलों भावनगर, अमरेली, गीर सोमनाथ, जूनागढ,पोरबंदर व जामनगर के लिए राहत एवं आपदा प्रबंधन की तैयारियों का जायजा लिया। रुपाणी ने आगामी 48 घंटे के दौरान चक्रवात के खतरे को देखते हुए सभी जिला कलेक्टर, कर्मचारी व जवानों के अवकाश रद्द कर दिए हैं। वहीं स्कूल, कॉलेज व आंगनबाडी केंद्रों में छुट्टी रखने के आदेश दिए हैं। मछुआरों को भी वापस बुला लिया गया है। इसके अलावा जल,थल व वायू सेना के अधिकारियों के साथ भी संपर्क में हैं। जरूरत पडऩे पर उनकी भी मदद ली जाएगी।

सीएम योगी के तेवर से अफसरों में हडक़ंप

  • लोकभवन में समीक्षा बैठक से पूर्व जमा करवाए सभी अधिकारियों के मोबाइल
  • कानून व्यवस्था और विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए हो रही बैठक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में लगातार बिगड़ रही कानून व्यवस्था और अपराधों पर प्रभावी रोकथाम करने व विकास के कामों की रफ्तार बढ़ाने को लेकर काफी सख्त रुख अख्तियार कर चुके हैं। इसलिए आज सुबह लोक भवन में समीक्षा बैठक में पहुंचे सभी अफसरों के मोबाइल फोन जमा करा लिए गए। जो अधिकारियों में हडक़ंप की बड़ी वजह बना हुआ है। फिलहाल बंद कमरे में बैठक चल रही है। इसमें बिना इजाजत किसी के भी अंदर आने और बाहर जाने पर रोक है। मुख्यमंत्री योगी 12, 13 व 14 जून को लोकभवन के सभागार में लगातार तीन दिन तक इन विषयों पर बैठकें कर शासन व फील्ड के अफसरों को कसेंगे। इसी क्रम में आज मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था की समीक्षा के लिए संयुक्त बैठक कर रहे हैं। इस बैठक में महिला अपराध पर प्रभावी नियंत्रण, यातायात व्यवस्था, अपराधियों, भू-माफिया और अवैध खनन के खिलाफ की गई कार्रवाई की समीक्षा की जा रही है। बैठक में मुख्य सचिव के साथ प्रमुख सचिव व सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, सभी जिलाधिकारी व विशेष सचिव स्तर के आईएएस अधिकारी, सभी एसएसपी व एसपी और मुख्यालय पर तैनात एसएसपी व एसपी स्तर के आईपीएस अधिकारी शामिल हुए हैं।

कैबिनेट: मोदी सरकार तीन तलाक से लेकर कश्मीर मुद्दे परकरेगी चर्चा

  • सरकार कैबिनेट मंत्रियों से बोलकर जूनियर्स को अहम जिम्मेदारी दिलाने के मूड में

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने मंत्रियों के साथ महाबैठक करेंगे। इस बैठक में मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों और जम्मू-कश्मीर में आरक्षण से जुड़े अध्यादेशों पर मुहर लग सकती है। इसमें कैबिनेट मंत्रियों के साथ-साथ मंत्रिपरिषद (राज्यमंत्री/स्वतंत्र प्रभार) के सभी साथी भी मौजूद रहेंगे। वहीं सूत्रों के हवाले से खबर है कि आज इस मीटिंग में सभी कैबिनेट मंत्रियों से कहा जाएगा कि सभी जूनियर्स को अहम जिम्मेदारी दें। ताकि उन्हें भी परफॉर्म करने का अवसर मिल सके। प्रधानमंत्री ने कैबिनेट बैठक के लिए हर किसी को तैयारी के साथ आने के लिए कहा है। कैबिनेट में उन 10 बिलों को एक बार फिर मंजूरी मिल सकती है, जो पिछले कार्यकाल में लाया गया था। जिसमें मुस्लिम वुमेन प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज (तीन तलाक बिल) अध्यादेश, इंडियन मेडिकल काउंसिल (संशोधन), जम्मू एवं कश्मीर आरक्षण (संशोधन) अध्यादेश प्रमुख हैं। इन पर चर्चा की जाएगी।

सोनिया-प्रियंका पहुंचीं रायबरेली

  • पूर्वी यूपी में हार के कारणों की करेंगी समीक्षा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी बेटी व पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका वाड्रा के साथ आज सुबह अमेठी के फुरसतगंज एयरपोर्ट पहुंची। अमावां ब्लॉक क्षेत्र के दाऊद नगर में काफिले के पहुंचते ही कांग्रेसियों ने सोनिया गांधी व प्रियंका वाड्रा का भव्य स्वागत किया। फिर काफिला भुएमऊ गेस्ट हाउस में दाखिल हुआ। जहां उनके स्वागत को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं का मजमा लगा रहा। यहां सोनिया गांधी और प्रियंका वाड्रा का कार्यकर्ताओं व नेताओं से मिलने का कार्यक्रम है। वहीं पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं के साथ प्रदेश के जिम्मेदारों की बैठकों का दौर चलेगा। जिसमें हार के बारे में विधायकों से भी हिसाब लिया जायेगा। सोनिया-प्रियंका पूर्वी यूपी में हार के कारणों की समीक्षा, मंथन-चिंतन कई चक्रों में करेंगी। दोपहर बाद करीब तीन हजार कार्यकर्ताओं के सामने होंगी।

Loading...
Pin It

Comments are closed.