शहर में संचालित 1100 अवैध डेयरियों को हटाने की तैयारी

  • 20 जून से सभी जोनों में चलाया जायेगा अभियान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय की फटकार के बाद नगर निगम अवैध डेयरियों को लेकर सक्रिय हो गया है। नगर आयुक्त ने शहर में संचालित 1100 अवैध डेयरियों के खिलाफ बड़े स्तर पर अभियान चलाने का निर्णय लिया है। इस अभियान से संबंधित एक रिपोर्ट नगर निगम को शासन में प्रस्तुत करनी होगी। इसके बाद भी अगर शहर में अवैध डेयरियों की समस्या खत्म नहीं होती है तो नगर निगम के उन अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, जिनको अवैध डेयरियां हटाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पाण्डेय ने सोमवार को अवैध डेयरियों के खिलाफ अभियान चलाने की समय सीमा 30 जून तय कर दी। इसके साथ ही अवैध डेयरी हटाने को लेकर अधिकारियों के साथ सख्त रुख अख्तियार किया। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में तय समय में काम होना चाहिए। इसके बाद से ही नगर निगम ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। नगर निगम के अफसरों का कहना है कि भले ही 30 जून से अभियान चलाने के निर्देश मिले हों लेकिन निगम द्वारा यह अभियान 20 जून से ही शुरू कर दिया जाएगा। जिससे शहर में संचालित 1100 अवैध डेयरियों को जल्द से जल्द हटाया जा सके। क्योंकि मुख्य सचिव ने साफ कह दिया है कि अगर शहरी सीमा में डेयरियां मिलीं तो नगर निगम के अफसरों पर कार्रवाई होगी। इसके अलावा नगर निगम की ओर से प्रतिबंधित पॉलीथिन के खिलाफ अभियान चलाने की तैयारी है। हालांकि शासन की ओर से पहले भी ऐसे तमाम आदेश जारी किए जा चुकें है। लेकिन छिट-पुट कार्रवाई के बाद मामला ठण्डे बस्ते में चला जाता है। इस बार मुख्य सचिव ने भी नगर निगम के अफसरों को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सूची के मुताबिक होगा काम
लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) इस मामले में मुख्य पशुचिकित्साधिकारी अरविन्द राव का कहना है कि शहर में 1100 अवैध डेयरियों की सूची तैयार की गई है। उन सभी को हटवाने का काम प्रमुखता से करना है। अगर समय से पुलिस बल मिल जाता है तो कार्रवाई करने में कोई समस्या नहीं आएगी। बिना पुलिस बल के कोई भी अभियान संभव नहीं है। क्योंकि डेयरी संचालक मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।

Loading...
Pin It

Comments are closed.