जनसंख्या नियंत्रण को लेकर बाबा रामदेव से मिले केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान व मनु

  • कहा, अगले पांच साल में जनसंख्या नियंत्रण पर फोकस करेगी सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारत की सबसे बड़ी समस्या अधिक जनसंख्या है। इसको नियंत्रित करने को लेकर योग गुरू बाबा रामदेव लगातार प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने और सख्त प्रावधान किए जाने की मांग की है। इस समस्या पर सार्थक चर्चा के लिए बाबा रामदेव से केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और भारत सरकार और टैक्सेब के अध्यक्ष मनु गौड़ के बीच पतंजलि योग पीठ में मुलाकात हुई। जिसमें समस्या के समाधान से जुड़े हर मुद्दे पर मंथन किया गया।
बाबा रामदेव ने जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दे पर कुछ समय पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए, सरकार को एक कानून बनाना चाहिए, जिससे तीसरे बच्चे को मतदान करने और सरकार द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं का आनंद लेने की अनुमति न हो। इसी सिलसिले में केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने हाल ही में 125 सांसदों द्वारा समर्थित प्रस्ताव तैयार किया है। जिसे लोकसभा के शीतकालीन सत्र में पेश किए जाने की योजना है। संजीव बालियान ने लोक सभा के शीतकालीन सत्र में एक निजी सदस्य विधेयक -उत्तरदायी पितृत्व अधिनियम प्रस्तुत किया था और जिसे लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने स्वीकार किया था, लेकिन फिर से चर्चा के लिए समय आवंटित नहीं किया गया था। हाल ही में उन्होंने फिर से कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून संसद के मौजूदा कार्यकाल में सबसे बड़ा फोकस होगा। वहीं टैक्सेब के अध्यक्ष मनुगौड़ ने कहा कि हमारा संगठन राष्ट्रीय स्तर पर जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दे पर काम कर रहा है। संजीव बालियान के साथ पहली बार उत्तरदायी पितृत्व अधिनियम की प्रारूपण और सारणी में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। वह मुख्य विश्वविद्यालयों और संस्थानों में युवाओं के साथ ‘मेन भारत बोल रहा हूं’ शीर्षक से लाइव इंटरेक्शन के माध्यम से जुडक़र अतिभोग के दुष्प्रभावों के बारे में बोल रहा है और जागरूकता पैदा कर रहा है। फिलहाल तो इस मुलाकात को जनसंख्या नियंत्रण की दिशा में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

 

Loading...
Pin It