अपराध प्रदेश बनता जा रहा उत्तर प्रदेश: अखिलेश

  • कहा, माफिया और अफसरशाही का गठजोड़ बड़ी वजह

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा राज में उत्तर प्रदेश अपराध प्रदेश बनता जा रहा है। भाजपा ने देश ही नहीं दुनिया में इसकी बदनामी करा दी है। राज्य सरकार अपराधों पर नियंत्रण करने में पूरी तरह विफल हुए हैं। प्रदेश से न ही अपराधी बाहर गए हैं और न ही जेल जाने का उनमें कोई भय है। माफिया और अफसरशाही के गठजोड़ से अपराधियों की हर तरफ उनके धंधे बेरोकटोक फलफूल रहे हैं। रेप जैसे जघन्य अपराध पर राज्य सरकार के मंत्री भी शर्मनाक व विवादास्पद बयान दे रहे हैं।
उत्तर प्रदेश में जघन्य अपराधों में इस बार जो बाढ़ आई है वह सबके लिए चिंताजनक है। अलीगढ़ के टप्पल गांव में ढाई वर्ष की मासूम के साथ दरिंदगी की दिल दहलाने वाली घटना अभी भूली भी नहीं थी कि जनपद हमीरपुर के थाना कुरारा क्षेत्र में कक्षा 5 की छात्रा का 7 जून को अपहरण करके उसके

साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या की खबर ने झकझोर दिया। बरेली के थाना भोजीपुरा क्षेत्र में एक 8 साल की बच्ची हैवानियत की शिकार हुई तो वाराणसी में मध्यमेश्वर इलाके में एक 10 साल की बच्ची बलात्कार की शिकार बनी। जालौन में 7 वर्षीय बच्ची का शव मिला। दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की गई। कुशीनगर में अहिरौली बाजार क्षेत्र में एक नाबालिग से गैंगरेप हुआ। मेरठ में 9 साल की बच्ची का शव मिला जो 4 जून से लापता थी। उसकी दुष्कर्म के प्रयास में गला दबाकर हत्या की गई। इससे जनता में गहरा आक्रोश है। लखनऊ से दिल्ली तक एक ही पार्टी का राज होने के बावजूद कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर होना चिंताजनक है। यह सरकार पूरी तरह से संवेदनशून्य है।

शराब कांड पीडि़तों को मिले 20 लाख रुपये का मुआवजा

सपा मुखिया ने 28 मई को बाराबंकी के रानीगंज में जहरीली शराब कांड के पीडि़तों से मिले। इस घटना में 26 लोगों की जान गई थी। जबकि 10 लोगों की आंखों की रौशनी चली गई। अखिलेश यादव के साथ सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी और अरविंद सिंह गोप सबसे पहले छोटेलाल के घर पहुंचे। जहरीली शराब से छोटेलाल व उसके तीन बेटों मुकेश, रमेश, सोनू की मौत हुई थी। अखिलेश ने रमेश की पत्नी रामावती का हालचाल लिया। उन्होंने बच्चों की पढ़ाई के बारे में भी जानकारी ली। इसके बाद सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि योगी सरकार मौतों के आंकड़े छिपाने लगी है। इस घटना के पीडि़तों को महज दो लाख रूपए मुआवजा दिया गया, वह भी अभी खाते में नहीं पहुंचा है। पीडि़त महिलाओं और उनके बच्चों के भविष्य का क्या होगा…? सरकार को कम से कम 20-20 लाख रूपए मुआवजा पीड़ित परिवारों को देना चाहिए और पीडि़त परिजनों को पेंशन दी जानी चाहिए। अखिलेश ने महादेवा स्थित लोधेस्वर महादेव में विधि विधान से पूजा अर्चना की और गंगा जल व पुष्प चढ़ाकर आशीर्वाद भी प्राप्त किया।

 

Loading...
Pin It