राज्यमंत्री उपेन्द्र तिवारी के बयान से गरमाई सियासत

  • दुष्कर्म पीडि़ताओं को लेकर विवादित बयान देने का मामला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री उपेन्द्र तिवारी ने दुष्कर्म पीडि़ताओं को लेकर विवादित बयान दिया है। जिसमें उन्होंने दुष्कर्म के नेचर की अपने तरीके से व्याख्या की है। इसको लेकर सियासत गरमा गई है। सोशल मीडिया पर लोगों ने उपेंद्र के बयान की निन्दा करने के साथ ही योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।
गोण्डा में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करने पहुंचे उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि दुष्कर्म का नेचर होता है। नाबालिग के साथ दुष्कर्म तो होता है, लेकिन बालिग या शादी शुदा महिलाओं के साथ हुआ दुष्कर्म शक के घेरे में रहता है। उन्होंने कहा कि कोई बालिग है और सात-आठ साल के प्रेम संबंध चल रहा है। इसी बीच अचानक से दुष्कर्म का मामला सामने आता है। तो ऐसे में सवाल उठता है कि ये मामला तो सात-आठ साल पहले उठाया जाना चाहिए था। इस तरह की तमाम घटनाएं होती रही हैं, उनका अलग-अलग नेचर है। यह भी कहा कि प्रदेश में जहां कहीं भी ऐसी घटनाएं होती हैं मुख्यमंत्री जी संज्ञान लेते हैं और उस पर कार्रवाई होती है। प्रशासन को ऐसे मामलों में कड़ाई से निपटने के निर्देश भी दिए गए हैं।

 

कहा : दुष्कर्म का नेचर होता है। नाबालिग के साथ दुष्कर्म तो होता है, लेकिन बालिग या शादीशुदा महिलाओं के साथ हुआ दुष्कर्म शक के घेरे में रहता है।

 

Loading...
Pin It