अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के बाद हत्त्या SSP की लापरवाही के कारण लोगों में भारी गुस्सा

  • प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा कैसा समाज बना रहे हैं हम
  • बालीवुड सेलेब्स बोले आरोपी को मिले फांसी की सजा
  • SSP ने इंस्पेक्टर समेत पांच आरोपियों को किया निलंबित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम को हैवानों ने जिस तरह तड़पा-तड़पा कर मारा उससे पूरा देश उबल गया है। राजनेताओं, फिल्मी कलाकारों से लेकर समाज के हर वर्ग ने इसकी निंदा की है। कुछ छोटे पुलिस अफसरों को निलंबित कर दिया गया है। जबकि एसएसपी को बचाने के लिए लॉबिंग की जा रही है। इस घटना ने यूपी पर जो कलंकका टीका लगाया है। उसकी भरपायी होना मुश्किल है। बताया जाता है कि जब पीडि़त माता-पिता अपनी बच्ची की तलाश मे भटक रहे थे तब पुलिस कप्तान अपनी पार्टी करने में व्यस्त थे। बड़ा सवाल यह है कि क्या हर बार की तरह कार्रवाई छोटे लोगों पर ही होगी या मासूम बच्ची की हत्या में वे बड़े लोग भी नपेंगे जो इस लापरवाही के लिये दोषी हैं।
प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा है कि ढाई साल की बच्ची के साथ जो अपराध हुआ है वह बहुत ही अमानवीय है। उन्होंने कहा कि मैं नि:शब्द हूं। मैं इस बच्ची के माता-पिता के दर्द की कल्पना भी नहीं कर सकती, बस उसे महसूस कर सकती हूं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि हमारा समाज क्या बन गया है। हम किस तरह का समाज बना रहे हैं। वहीं इस मामले में एसएसपी ने इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। घटना से जुड़े दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

सीओ खैर व जिले के बेहतरीन जांच अधिकारी लगाये गये हैं। बच्ची की हत्या में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। लापरवाही बरतने वाले एसओ टप्पल को सस्पेंड कर दिया गया है। मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। मैं विश्वास दिलाता हूं कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा। पाक्सो एक्ट में भी कार्रवाई होगी। अब तक की पूछताछ में स्पष्ट हुआ है कि पैसों के लेन-देने के मामूली विवाद में बच्ची की हत्या की गई।
-आनंद कुमार, एडीजी,लॉ एंड ऑर्डर

अलीगढ़ में दो साल की मासूम बच्ची के साथ नृशंस व्यवहार व हत्या अति-शर्मनाक व दु:खद। यूपी सरकार तुरन्त कानून का राज स्थापित करने के लिए सख्त कार्रवाई करके दोषियों को सलाखों के पीछे भेजे।
-मायावती, बसपा सुप्रीमो

यूपी के अलीगढ़ में एक छोटी बच्ची की भयानक हत्या ने मुझे झकझोर कर रख दिया है। कोई भी इंसान इतनी बर्बरता के साथ बच्ची की हत्या कैसे कर सकता है? यह भयानक अपराध नहीं होना चाहिए। हत्यारों को सजा और पीडि़त को न्याय दिलाने के लिए यूपी पुलिस को तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए।
-राहुल गांधी, अध्यक्ष, कांग्रेस

अलीगढ़ की मासूम बच्ची के साथ हुई अमानवीय और जघन्य घटना ने हिलाकर रख दिया है। हम ये कैसा समाज बना रहे हैं? बच्ची के माता-पिता पर क्या गुजर रही है ये सोचकर दिल दहल जाता है। अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।
-प्रियंका गांधी , महासचिव, कांग्रेस

इन जानी-मानी हस्तियों ने किए ट्वीट

तीन साल की बच्ची के साथ हुई घटना बहुत ही डरावनी, शर्मिंदा करने वाली और शब्दों से परे दुखद है। आरोपी को सार्वजनिक रूप से फांसी दी जानी चाहिए। इस जघन्य अपराध के लिए कोई अन्य सजा नहीं है। मैं बच्ची के लिए न्याय की मांग करता हूं।
-अनुपम खेर, अभिनेता

अलीगढ़ में तीन साल की बच्ची की हत्या कर उसके शरीर को विकृत कर दिया गया। यह बुराई, अमानवीय और बर्बरता का नमूना है। दोषी को फांसी मिलनी चाहिए। कानून को तेजी से काम करना चाहिए!़
-रवीना टंडन, अभिनेत्री

बहुत घृणादायी और गुस्सेवाली घटना है। कोई भी शख्स ऐसा कैसे कर सकता है। नि:शब्द हूं।

-अभिषेक बच्चन, अभिनेता

माफ करना, बच्ची तुमको एक ऐसी दुनिया में रहना पड़ा जहां इंसान अब इंसानियत को नहीं समझता !!!! मुझे माफ कर दो।
-सनी लियोनी, अभिनेत्री

देश में महिलाओं और बच्चियों के साथ होने वाली घटनाओं से मैं काफी नाराज हूं। ऐसे अपराधों के लिए जिम्मेदार लोगों को सार्वजनिक तौर पर फांसी दी जानी चाहिए।

-जेनेलिया देशमुख, अभिनेत्री

मासूम बच्ची के बारे में जानकर बहुत परेशान हूं। अलीगढ़ के टप्पल इलाके में मासूम बच्ची के साथ रेप और उसके बाद क्रूर तरीके से हत्या कर दी गई। वह न्याय की हकदार है।
-वीरेंद्र सहवाग, पूर्व क्रिकेटर

अमानवीय, घटिया और क्रूर.. न्याय निश्चित रूप से दिया जाना चाहिए। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो। मैं तो यह सोच भी नहीं पा रही हूं कि परिवार किस परिस्थिति से गुजर रहा होगा।
-सानिया मिर्जा, टेनिस खिलाड़ी

SSP की लापरवाही उजागर

अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि कानून व्यवस्था पर नियंत्रण स्थापित करने में पूरी तरह फेल नजर आ रहे हैं। बच्ची की गुमशुदगी के बाद पुलिस ने जिस तरह से मामले को हल्के में लिया और उसको ढूंढने की पर्याप्त कोशिश नहीं की। वह हरकत कहीं न कहीं अपहरण करने वालों के हौसले बढ़ाने वाली साबित होती है। इसी वजह से गुमशुदगी के पांच दिन बाद बच्ची की डेडबॉडी मिली। आकाश कुलहरि इससे पूर्व इलाहाबाद में भी रहे हैं, वहां भी इनके कार्यकाल में अपराध चरम पर था।

कृषि मंत्री का संवेदनहीन बयान
अलीगढ़ जिले में तीन साल की मासूम बच्ची की हत्या के मामले में प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बहुत ही संवेदनहीन बयान दिया है। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान सवाल पूछे जाने पर हंसते हुए कहा कि इस तरह की घटनाएं हो जाती हैं। इसको बहुत ज्यादा तूल देेने की जरूरत नहीं है।

 

Loading...
Pin It