कश्मीर मुद्दे पर एक्शन में शाह, घाटी में हडक़ंप

  • गृहमंत्री बनने के बाद पांच दिन में की चार बैठकें
  • राज्यपाल से मुलाकात कर स्थिति का लिया जायजा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद से लगातार अपनी चाणक्य नीति से पार्टी को सफलता के शिखर पर पहुंचाने और एक के बाद एक कीर्तिमान हासिल करने वाले अमित शाह आजकल सबसे अधिक चर्चा में हैं। अमित शाह मोदी सरकार में गृहमंत्री बनने के बाद से ही कश्मीर समस्या को लेकर एक्शन में दिख रहे हैं। उन्होंने पांच दिन के अंदर कश्मीर को लेकर चार महत्वपूर्ण बैठकें की। इस दौरान उन्होंने आतंकवाद, अलगाववाद और विधानसभाओं के परिसीमन समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर सुरक्षा एजेंसियों और अधिकारियों से वार्ता की। शाह ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक से मुलाकात कर वर्तमान स्थिति जानने का प्रयास किया है। ऐसा करके उन्होंने अपनी मंशा जता दी है कि जम्मू कश्मीर को लेकर भाजपा सरकार बहुत जल्द कुछ बड़ा करने वाली है। इसमें आर्टिकल 370 और 35ए को लेकर अटकलों का दौर तेज हो गया है। अमित शाह सख्त प्रशासक माने जाते हैं। उनकी सोच किसी से छिपी नहीं है। उन्होंने पश्चिम बंगाल मेें भी जय श्री राम के नारे लगाए। अब अगर कश्मीर के राजनीतिक नक्शे में बदलाव की बात आती है तो ये मामला भी पूरी तरह से साफ है। हालांकि, राज्य सरकार ने ऐसा करने पर 2026 तक रोक लगाई है लेकिन केंद्र सरकार फैसला पलटती है तो बढिय़ा होगा। आपको बता दें कि बीते दिनों ऐसी खबरें आई थीं कि गृह मंत्रालय की ओर से परिसीमन को लेकर चर्चाएं की जा रही हैं। अमित शाह ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक के अलावा कई सुरक्षा एजेंसियों से बात की थी। फिलहाल तो गृह मंत्रालय की तरफ से इस बात का खंडन किया गया है। साथ ही बताया गया कि परिसीमन पर बैठक में कोई भी चर्चा नहीं हुई है।

आकाश में लीन हो गये प्रकाश

  • उत्तराखंड के काबीना मंत्री प्रकाश पंत का अमेरिका में इलाज के दौरान हुआ निधन
  • प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री व मुख्मयंत्री ने जताया दुख
  • उत्तराखंड सरकार ने घोषित किया तीन दिन का शोक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन पर राज्य सरकार ने तीन दिन के राजकीय शोक की घोषण की है। इस दौरान उत्तराखंड में सरकारी और अर्ध सरकारी संस्थानों में एक दिन के अवकाश का ऐलान किया गया है। वहीं भाजपा ने भी तीन दिन तक अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। प्रकाश पंत के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दुख प्रकट किया है। पीएम ने ट्वीट में कहा कि वित्त मंत्री प्रकाश पंत के संगठनात्मक कौशल ने भाजपा को मजबूत बनाने में मदद की और उनके प्रशासनिक कौशल ने उत्तराखंड की प्रगति में योगदान दिया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तराखंड में मेरे वरिष्ठ सहयोगी एवं प्रदेश के वित्तमंत्री प्रकाश पंत का अमेरिका में इलाज के दौरान स्वर्गवास होने का समाचार पा कर स्तब्ध भी हूं और व्यथित भी। उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत एवं अपूर्णीय क्षति है, उनके निधन से हमारा तीन दशक पुराना साथ यादों में रह गया। वहीं केंद्र सरकार के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यानाथ ने प्रकाश पंत के निधन कर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि प्रकाश पंत का जाना एक अपूर्णीय क्षति है, देश और उत्तराखंड ने एक अच्छा नेता खो दिया। प्रकाश पंत का पार्थिव शरीर शनिवार तक उत्तराखंड आने की उम्मीद है।

पीएम मोदी का जनता को तोहफा सस्ती हुई ईएमआई

  • रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में की 0.25 फीसदी की कटौती

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने जनता को पहला बड़ा तोहफा दिया है। आरबीआई की ओर से एक बार फिर रेपो रेट में कटौती की गई है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक समीक्षा बैठक में 0.25 फीसदी की कटौती का निर्णय लिया है। इसी के साथ अब नई रेपो रेट 5.75 प्रतिशत हो गई है। पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार के दूसरे कार्यकाल में आज रिजर्व बैंक की पहली मौद्रिक समीक्षा बैठक थी। आरबीआई पिछली दो बैठकों में एमपीसी रेपो रेट में क्रमश: 0.25 फीसदी की कटौती कर चुकी है। यानी जून में लगातार तीसरी बार केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट घटाई है। वहीं रिजर्व बैंक के इतिहास में पहली बार है जब आरबीआई गवर्नर की नियुक्ति के बाद लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कमी आई है। फिलहाल तो आरबीआई के इस फैसले के बाद बैंकों पर ब्याज दर कम करने का दबाव बनेगा। ब्याज दर कम होने का लाभ उन लोगों को मिलेगा जिनकी होम या ऑटो लोन की ईएमआई चल रही है।

 

Loading...
Pin It

Comments are closed.