गोल्डरश कम्पनी के जीएम और एमडी समेत आठ पर मुकदमा

  • दुर्घटनाग्रस्त गाडिय़ों के पुर्जे बदल कर तैयार करते थे फर्जी बिल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विभूतिखंड थाने में गोल्डरश कम्पनी के जीएम और एमडी समेत आठ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ है। बर्खास्त मैनेजर ने आरोप लगाया है कि सर्विस सेंटर संचालकों के इशारे पर दुर्घटनाग्रस्त गाडिय़ों के पुर्जे बदल कर फर्जी बिल तैयार किये जाते हैं। जाली बिलों के सहारे इश्योरेंस कम्पनियों से करीब तीस लाख रुपये की धोखाधड़ी की गई। सीओ गोमतीनगर ने बर्खास्त मैनेजर की शिकायत पर मुकदमा लिखने के निर्देश दिये थे।
विनीतखंड एक निवासी संजय कुमार वशिष्ठ गोल्डरश सेल्स एंड सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड में वर्क मैनेजर थे। वह सुषमा हॉस्पिटल, एचएएल व विजयीपुर ब्रांच का काम देखते थे। संजय के अनुसार फर्म में सतीश राय जीएम और प्रदीप अग्रवाल एमडी हैं। उनके मुताबिक दुर्घटनाग्रस्त गाडिय़ों के इश्योरेंस का बिल बढ़ाने के लिये सर्विस सेन्टर में पुर्जे बदले जाते हैं। सर्वेयर की मिलीभगत से फर्जी बिल तैयार कर उनका भुगतान लिया जाता है। संजय के मुताबिक सर्विस सेन्टर में हो रहे खेल की बात उन्होंने जीएम और एमडी को बताई थी। इस पर उन्हें ही नौकरी से निकाल दिया गया। संजय का दावा है कि करीब 97 गाडिय़ों के फर्जी बिल तैयार कर 30 लाख रुपये का गबन किया गया है। धोखाधड़ी के खेल में एमडी और जीएम के साथ उमेश तनेजा, फ्लोर मैनेजर मनमोहन कपूर, कर्मचारी विकास सोनी, पार्ट्स मैनेजर ब्रजेश सिंह, ईडीपी नितिन पाण्डेय और एकाउंटेंट अहमद फरीदी शामिल हैं। नौकरी से निकाले जाने के बाद संजय ने धोखाधड़ी के खेल को उजागर करने की ठान ली। वह शिकायत दर्ज कराने के लिये थाने पहुंचे। पर, सुनवाई नहीं हुई। जिसके बाद संजय ने सीओ गोमतीनगर अवनीश्वर चन्द्र श्रीवास्तव से मुलाकात कर उन्हें पूरी बात बताई। इंस्पेक्टर राजीव द्विवेदी ने बताया कि गबन और धोखाधड़ी की धारा की एफआईआर दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

फ्रेंचाइजी के नाम पर 12 लाख की ठगी

  • गोमतीनगर थाने में एफआईआर दर्ज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अलबेक रेस्त्रां की फे्रंचाइजी दिलाने का लालच देकर ठगों ने दो व्यापारियों को बातों में फंसा लिया। शातिरों पर भरोसा कर व्यापारियों ने बारह लाख रुपये दे दिये। इसके बाद भी फ्रेंचाइजी नहीं मिली। पीडि़तों ने गोमतीनगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है।
बहराइच निवासी इमरान अहमद रेस्टोरेंट चलाते हैं। उन्हें विभूतिखण्ड नरेगा टॉवर स्थित अलबेक रेस्त्रां के बारे में जानकारी मिली। उन्होंने फ्रेंचाइजी लेने के लिये रोहित राय से सम्पर्क किया। उन्होंने अलबेक रेस्त्रां का मालिक बताने वाले रोहित राय को आठ लाख दे दिये। फ्रेंंचाइजी नहीं मिली। इस पर इमरान ने रोहित से बात की तो वह मुकर गया और रुपये लौटाने से इनकार कर दिया। इसी तरह रोहित ने फैजाबाद निवासी फरहान जाफर से भी चार लाख ऐंठ लिये। इंस्पेक्टर गोमतीनगर राम सूरत सोनकर ने बताया कि रोहित की तलाश की जा रही है।

पुलिस ने नहीं सुनी तो यूपी कॉप एप ने की मदद

  • स्कूटी लेकर भाग गया था ई-रिक्शा वाला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विकासनगर में एक युवती की फरियाद पुलिस वालों ने नहीं सुनी तो उसने यूपी कॉप एप की मदद ली। युवती की स्कूटी एक ई -रिक्शा चालक ने लूट ली थी जिसके बाद वह एफआईआर दर्ज करने के लिए विकासनगर थाने में भटकती रही, लेकिन पुलिस वालों ने उसकी एक न सुनी। थक-हारकर युवती ने यूपी एप पर शिकायत की जिसके बाद उसकी एफआईआर दर्ज हुई। जानकीपुरम निवासी दीपिका मल्होत्रा 17

Loading...
Pin It

Comments are closed.