जालसाजी कर भागी कंपनी के तीन कर्मचारी दबोचे, मुख्य आरोपी फरार

  • प्लॉट का झांसा देकर आर संस कंपनी ने लगाई थी करोड़ों की चपत
  • गोमतीनगर पुलिस ने की कार्रवाई, लग्जरी कार बरामद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमतीनगर पुलिस ने सस्ता और किस्तों पर प्लॉट का झांसा देकर सैकड़ों लोगों को करोड़ों की चपत लगाकर भागी कंपनी के कर्मचरियों को भंडारे का प्रसाद बांटते हुए गिरफ्तार किया। जालसाजी का शिकार हो चुके लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीन कर्मचारियों को दबोच लिया। हालांकि, प्रबंध निदेशक मौके से बच निकला। आरोपितों ने विभवखंड में देवग्रीन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड के बैनर तले भंडारा लगाया था।
आर संस कंपनी की जालसाजी के शिकार पीडि़तों के संगठन भूमि कल्याण समिति के अध्यक्ष रितेश गुप्ता के अनुसार आरोपितों द्वारा विभवखंड में भंडारा आयोजित करने की जानकारी मिली थी। मौके पर पहुंचकर छानबीन के दौरान आर संस के प्रबंध निदेशक आशीष कुमार श्रीवास्तव की एसयूवी और ड्राइवर समेत कंपनी के कुछ और लोग नजर आए। हालांकि भंडारे का आयोजन किसी और कंपनी के नाम से किया गया था। आरोपितों को देखते ही गोमतीनगर पुलिस को फोन किया गया। पुलिस के पहुंचने से पहले मुख्य आरोपित भाग निकला। मौके से एक लग्जरी कार बरामद करने के साथ ही मुख्य आरोपित के चालक समेत तीन लोगों को दबोचा गया। आरोपितों की गिरफ्तारी का पता चलते ही कई पीडि़त गोमतीनगर थाने पहुंच गए। पीडि़तों ने आरोप लगाया कि मुख्य आरोपित आशीष ने आरसंस के खिलाफ सैकड़ों केस दर्ज होने के बाद देवग्रीन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड नाम से दूसरी कंपनी शुरू कर दी है। ऐसे में मुख्य आरोपित की जल्द गिरफ्तारी न होने पर थाने का घेराव करने की चेतावनी दी है।

Loading...
Pin It